scriptBusiness news how JRD Tata’s Lakshmi turn in to lakme know the history | वो जेआरडी टाटा की ‘लक्ष्मी’ थी जिसे दुनिया ‘Lakme’ के नाम से जानती है | Patrika News

वो जेआरडी टाटा की ‘लक्ष्मी’ थी जिसे दुनिया ‘Lakme’ के नाम से जानती है

क्या आप जानते हैं कि लैक्मे पहले लक्ष्मी थी जिसका नाम 1966 में लैक्मे कर दिया गया। चलिए आपको वो रोचक किस्सा बताते हैं जिसने लैक्मे को लैक्मे बनाने का कमाल दिखाया। पंडित जवाहर लाल नेहरू का वो आइडिया जो आज दुनिया का नामी ब्राण्ड बन चुका है।

लखनऊ

Published: November 18, 2021 11:38:43 am

उत्तर प्रदेश का शायद ही कोई ऐसा बड़ा शहर हो जहाँ लैक्मे के सैलून न हों। लखनऊ, कानपुर, वाराणसी, नोएडा, गाजियाबाद जैसे शहरों में तो तकरीबन हर बड़ी कॉलोनी में आपको लैक्मे कंपनी का सैलून मिल जाएगा। लेकिन क्या आप जानते हैं कि लैक्मे पहले लक्ष्मी थी जिसका नाम 1966 में लैक्मे कर दिया गया। चलिए आपको वो रोचक किस्सा बताते हैं जिसने लैक्मे को लैक्मे बनाने का कमाल दिखाया। पंडित जवाहर लाल नेहरू का वो आइडिया जो आज दुनिया का नामी ब्राण्ड बन चुका है।
lakme_india.jpg
1952 में लॉन्च

सन् 1952 में लैक्मे को लॉच किया गया था। जिसका श्रेय जाता है जेआरडी टाटा को। साल 1950 तक मध्यम वर्ग की महिलाएं खुद को संवारने के लिए होम ब्यूटी प्रोडेक्ट बनाती थीं और उन्हीं से काम चलता था। जो महिलाएं सम्पन्न थीं वे अपने लिए विदेशों से ब्यूटी प्रोडेक्ट मंगवाया करती थीं। उस वक्त भारतीय पैसों का विदेश जाने का एक मुख्य कारण ये भी था।
पंडित नेहरू का आइडिया

lakme_old_pic.jpgदेश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू उन दिनों देश के औद्योगिक विकास पर लगातार नयी-नयी सोच पर काम कर रहे थे। तभी उन्हें भारतीय ब्यूटी ब्रांड शुरू करने का आइडिया आया। आइडिया ऐसा जो आज करीब 2000 करोड़ रुपये का ब्राण्ड बन चुका है। चूंकि भारत का अपना कोई ब्यूटी ब्रांड नहीं था इसलिए उम्मीद थी कि अगर यह बजट फ्रेंडली हुआ तो लोग हाथों हाथ इसे खरीदेंगे और कोई काम्पटीशन भी नहीं होगा।
आखिरकार उन्होंने अपना आइडिया जेआरडी टाटा के साथ साझा किया। उद्योगों की चेन तैयार करने में टाटा माहिर थे। ये आइडिया उन्हें जम गया और ऐसे शुरूआत हुई लैक्मे की। लेकिन ब्रांड के नाम पर तब भी काफी मंथन हुआ. आज हम जिस लैक्मे की बात कर रहे हैं असल में उसका शुरूआती नाम लक्ष्मी था।
बॉलीवुड की टॉप अभिनेत्रियों ने किया विज्ञापन

लक्ष्मी के विज्ञापन उस समय के हिन्दी फिल्मों की सुपर स्टार अभिनेत्रियाँ जैसे रेखा, हेमा मालिनी, जया प्रदा करती थीं। लक्ष्मी के लॉन्च होने के बाद से भारत में विदेशी ब्यूटी प्रोडेक्ट की माँग बेहद कम होने लगी और फिर धीरे-धीरे बन्द हो गयी। फिल्मों की शूटिंग में भी मेकअप के लिए लक्ष्मी के ब्यूटी प्रोडेक्ट का इस्तेमाल किया जाने लगा। धीरे-धीरे इस ब्रांड ने आम जनता के मन में अपना विश्वास जमा लिया।
कीमत ज्यादा नहीं

खास बात ये थे कि ब्रांड की कीमत बहुत ज्यादा नहीं रखी गई। ताकि इसका इस्तेमाल आम महिलाएं भी कर सकें। टाटा की सोच का नतीजा ही था कि लक्ष्मी को केवल 5 सालों के भीतर ही वो मुकाम मिल गया, जहां पर यह आज भी काबिज है।
जब हिन्दी की ‘लक्ष्मी’ हुई फ्रेन्च में ‘Lakme’

किन्हीं वजहों से 1966 तक जेआरडी टाटा ने ‘लक्ष्मी’ को बेचने का फैसला किया। कई नामचीन कंपनियों ने इस ब्रांड को अपने खाते में करने के लिए बोली लगायी। लेकिन बाजी मारी हिन्दुस्तान लीवर ने। इसके बाद 1966 में लक्ष्मी हिन्दुस्तान लीवर की हो गई और यहां से ब्रांड का नाम भी बदल दिया गया। नया नाम था- लैक्मे। असल में लैक्मे फ्रेंच शब्द है। जिसका अर्थ होता है लक्ष्मी। यानि लक्ष्मी वही रही बस उनका नाम बदलकर फ्रेंच भाषा में पुकारा जाने लगा।
फिर रचा इतिहास...

लैक्मे ने ब्रांड के तौर पर खुद को स्थापित किया। इसके ब्यूटी प्रोडेक्ट तो पसंद किए ही गए लेकिन आगे चलकर युवाओं को ब्यूटी के बारे में और ज्यादा जानकारी मिल सके इसलिए लैक्मे ने फैशन कोर्स की शुरूआत की। इसके साथ ही पूरे देश में लैक्मे पार्लर की शुरूआत भी हुई। लैक्मे के ब्यूटी प्रोडेक्ट की डिमांड विदेशों में भी है। लैक्मे आज 1900 करोड़ का सफलतापूर्वक व्यवसाय करने वाली भारत की सबसे बड़ी और सबसे ज्यादा प्रभावशाली कंपनी बन चुकी है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ससुराल में इस अक्षर के नाम की लडकियां बरसाती हैं खूब धन-दौलत, किस्मत की धनी इन्हें मिलते हैं सारे सुखGod Power- इन तारीखों में जन्मे लोग पहचानें अपनी छिपी हुई ताकत“बेड पर भी ज्यादा टाइम लगाते हैं” दीपिका पादुकोण ने खोला रणवीर सिंह का बेडरूम सीक्रेटइन 4 राशियों की लड़कियां जिस घर में करती हैं शादी वहां धन-धान्य की नहीं रहती कमीकरोड़पति बनना है तो यहां करे रोजाना 10 रुपये का निवेशSharp Brain- दिमाग से बहुत तेज होते हैं इन राशियों की लड़कियां और लड़के, जीवन भर रहता है इस चीज का प्रभावमौसम विभाग का बड़ा अलर्ट जारी, शीतलहर छुड़ाएगी कंपकंपी, पारा सामान्य से 5 डिग्री नीचेइन 4 नाम वाले लोगों को लाइफ में एक बार ही होता है सच्चा प्यार, अपने पार्टनर के दिल पर करते हैं राज

बड़ी खबरें

Corona cases in india: पिछले 24 घंटे में कोरोना के 2.35 लाख केस, 871 की मौत, संक्रमण दर हुई 13.39%UP Assembly Elections 2022: भाजपा ने किसानों से झूठा वादा किया, उन्हें धोखा दिया, प्रेस कांफ्रेंस में बोले अखिलेशदिल्ली में वीकेंड कर्फ्यू खत्म, आज से नई गाइडलाइंस के साथ मेट्रो सेवाएं शुरूउत्तर प्रदेश विधान परिषद चुनाव 2022 की डेट का ऐलान, जानें कितने सीटों के लिए और कब आएगा रिजल्टमुस्लिम वोटों को लुभाने के लिए बसपा ने किया बड़ा खेल, बाकी हैराननहीं बदला जाएगा नौकरशाही का मुखिया, एक्सटेंशन के लिए फाइल सरकार ने केंद्र को भेजीCISF Recruitment 2022: सीआईएसएफ में फायरमैन कांस्टेबल के लिए बंपर भर्ती, 12वीं पास आज से करें आवेदनखतरनाक साइड इफैक्ट : इलाज के बाद ठीक हुए मरीजों पर आइआइटी का शोध, खराब हो रहे ये अंग
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.