उन्नाव गैंगरेप केस : बीजेपी विधायक सेंगर की और बढ़ीं मुश्किलें, सीबीआई से आया सबसे बड़ा अपडेट

किशोरी से गैंगरेप के आरोपी भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं...

By: Hariom Dwivedi

Published: 12 May 2018, 01:56 PM IST

लखनऊ. किशोरी से गैंगरेप के आरोपी भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर की मुश्किलें और बढ़ती जा रही हैं। सूत्रों की मानें तो उन्नाव गैंगरेप मामले की जांच में सीबीआई को उनके खिलाफ उनकी संलिप्तता के सुबूत मिले हैं, वहीं उनके शस्त्र लाइसेंस निरस्त करने की भी प्रक्रिया शुरू हो गई है। इससे पहले सरकार ने आरोपी विधायक से वाई श्रेणी की सुरक्षा वापस ले ली थी। गौरतलब है कि आरोपी भाजपा विधायक को पाक्सो एक्ट के तहत गिरफ्तार किया गया है। इन दिनों वह सीतापुर जेल में बंद है।

शुक्रवार को पुलिस ने दुष्कर्म के आरोपी भाजपा विधायक के रिवॉल्वर, रायफल और बंदूक का लाइसेंस निरस्त करने के लिए रिपोर्ट तैयार कर संस्तुति के लिए फाइल को कलेक्ट्रेट भेजी। हालांकि, प्रभारी अधिकारी आयुध ने रिपोर्ट में कुछ कमियों को इंगित करते हुए सोमवार को पुलिस से फिर से रिपोर्ट की फाइल मांगी है।

विधायक के भाई और करीबियों के भी जब्त होंगे शस्त्र लाइसेंस
सुत्रों की मानें तो दुष्कर्म के आरोपी भाजपा विधायक ही नहीं, उनके भाई अतुल सिंह सेंगर के भी शस्त्र लाइसेंस निरस्त करने की कार्रवाई शुरू हो गई है। इसके अलावा सीबीआई जिन चार मामलों की जांच कर रही है, उनमें शामिल विधायक के करीबियों के भी शस्त्र लाइसेंस निरस्त किये जाएंगे।

सीबीआई को भाजपा विधायक के खिलाफ मिले अहम सुबूत
सूत्रों की मानें तो उन्नाव गैंगरेप में आरोपी भाजपा विधायक के खिलाफ सीबीआई को जांच में कुछ ऐसे सुबूत मिले हैं, जिनमें आरोपी विधायक की संलिप्तता साबित होती है। सीबीआई इस निष्कर्ष पर पहुंची है कि पीड़िता द्वारा भाजपा विधायक पर लगाये गये गैंगरेप के आरोप सही हैं। भाजपा विधायक ने साथियों संग मिलकर चार जून को पीड़िता से गैंगरेप किया था। जांच में यह भी सामने आया है कि वारदात के वक्त महिला सहयोगी शशि सिंह कमरे के बाहर मौजूद थी। गौरतलब है कि शशि सिंह भी जेल में बंद है।

सीबीआई ने किया खंडन
रेप के आरोपी भाजपा विधायक के खिलाफ सीबीआई के सुबूतों की खबर मीडिया में वायरल होते ही 11 मई को सीबीआई की ओर से इसका खंडन आ गया। केंद्रीय जांच ब्यूरो द्वारा भेजी गई रिपोर्ट में कहा गया है कि उन्नाव मामले में सीबीआई की जांच अभी जारी है। इस मामले में सीबीआई ने अभी तक किसी भी मीडिया पर्सन या किसी को कोई अपडेट नहीं दिया है। इस तरह की खबरें पूरी तरह से काल्पनिक हैं।

 

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned