scriptChaitra Navratri 2022 Kalash Sthapana Muhurat Time and Vidhi | Chaitra Navratri 2022: इन विधियों से करिए कलश स्थापना, जानिए मुहूर्त और तैयारियां | Patrika News

Chaitra Navratri 2022: इन विधियों से करिए कलश स्थापना, जानिए मुहूर्त और तैयारियां

चैत्र शुक्ल प्रतिपदा के नवरात्रि 2 अप्रैल यानि शनिवार के शुरू हो रहे हैं। पहले दिन मैं शैलपुत्री की पूजा होगी। खबर में पढ़िए किस विधि से होगी कलश स्थापना और क्या होंगे शुभ मुहूर्त –

लखनऊ

Updated: March 26, 2022 11:52:02 am

हिंदू पंचांग के अनुसार नए साल की शुरुआत चैत्र से होती है। इसकी शुरुआत नवरात्रि की पूजा पाठ और उल्लास के साथ होती है। बता दें कि हिंदू धर्म में 4 बार नवरात्रि मनाई जाती है। जिसमें दो गुप्त नवरात्रि होती है। चैत्र और शारदीय नवरात्रि अधिकतर लोग मनाते हैं। इस साल चैत्र नवरात्रि 2 अप्रैल 2022 से शुरू हो रहे और 11 अप्रैल 2022 तक चलेंगे।
maa durga 108 name - navratri
chaitra navratri 2019 maa durga comes sarvartha siddhi yoga happiness,chaitra navratri 2019 maa durga comes sarvartha siddhi yoga happiness,maa durga 108 name for Shardiya Navratri
दुर्गा की आराधना के लिए चैत्र नवरात्रि का प्रारंभ 02 अप्रैल दिन शनिवार से हो रहा है। चैत्र नवरात्रि के प्रथम दिन शुभ मुहूर्त में घटस्थापना या कलश स्थापना करते हैं। पहले दिन मां दुर्गा के प्रथम स्वरुप मां शैत्रपुत्री की पूजा करते हैं। इस साल चैत्र नवरात्रि में कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त सुबह के अलर और दोपहर का अलग है। मां दुर्गा की अराधना के लिए भी अलग अलग दिनों में अलग मुहूर्त है।
ये भी पढ़ें : Chaitra Navratri 2022: इस नवरात्रि किस सवारी में आएंगी मां दुर्गा, जानिए क्या है सवारी का महत्व


कलश स्थापना विधि

चैत्र नवरात्रि के पहले दिन सबसे पहले लाल कपड़ा बिछाकर उस पर थोड़े चावल रखें। मिट्टी के एक पात्र में जौ बो दें और इस पात्र पर जल से भरा हुआ कलश स्थापित करें। कलश में चारों ओर अशोक के पत्ते लगाएं और स्वास्तिक बनाएं। फिर इसमें साबुत सुपारी, सिक्का और अक्षत डालें। इसके बाद एक नारियल पर चुनरी लपेटकर कलावा से बांध दें। इस नारियल को कलश के ऊपर पर रखते हुए देवी दुर्गा का आहवाहन करें। दीप जलाकर कलश की पूजा करें। कलश के लिए सोना, चांदी, तांबा, पीतल के धातु के अलावा मिट्टी का घड़ा काफी शुभ माना गया है।

चैत्र नवरात्रि 2022 कलशस्थापना का शुभ मुहूर्त
चैत्र शुक्ल प्रतिपदा तिथि: 01 अप्रैल, दिन में 11:53 बजे से 02 अप्रैल, दिन में 11:58 बजे तक
सुबह में कलश स्थापना का मुहूर्त: प्रात: 06:10 बजे से प्रात: 08:31 बजे तक
दोपहर में कलश स्थापना का मुहूर्त: 12 बजे से 12:50 बजे तक
चैत्र नवरात्रि का पहला दिन: 02 अप्रैल, कलश स्थापना व मां शैत्रपुत्री की पूजा
सर्वार्थ सिद्धि योग: 01 अप्रैल, सुबह 10:40 बजे से 02 अप्रैल प्रात: 06:10 बजे तक

चैत्र नवरात्रि का दूसरा दिन: 03 अप्रैल, मां ब्रह्मचारिणी पूजा
सर्वार्थ सिद्धि योग: सुबह 06:09 बजे से दोपहर 12:37 बजे तक
शुभ समय: 12:00 पी एम से 12:50 पी एम
ये भी पढ़ें : Chaitra Navratri 2022: इस नवरात्रि किस सवारी में आएंगी मां दुर्गा, जानिए क्या है सवारी का महत्व

चैत्र नवरात्रि का तीसरा दिन: 04 अप्रैल, मां चंद्रघंटा पूजा
प्रीति योग: सुबह 07:43 बजे से
रवि योग: दोपहर 02:29 बजे से अगले दिन सुबह 06:07 बजे तक
शुभ समय: 11:59 ए एम से 12:49 पी एम
चैत्र नवरात्रि का चौथा दिन: 05 अप्रैल, मां कुष्मांडा पूजा
प्रीति योग: सुबह 08 बजे तक, फिर आयुष्मान योग
सर्वार्थ सिद्धि योग: सुबह 06:07 बजे से शाम 04:52 बजे तक
रवि योग: सुबह 06:07 बजे से शाम 04:52 बजे तक
शुभ समय: 11:59 ए एम से 12:49 पी एम
चैत्र नवरात्रि का पांचवा दिन: 06 अप्रैल, स्कन्दमाता पूजा
आयुष्मान योग: सुबह 08:38 बजे तक, फिर सौभाग्य योग
सर्वार्थ सिद्धि योग: पूरे दिन
रवि योग: रात 07:40 बजे से अगले दिन प्रात: 06:05 बजे तक
चैत्र नवरात्रि का छठा दिन: 07 अप्रैल, मां कात्यायनी पूजा
सौभाग्य योग: सुबह 09:32 बजे तक, फिर शोभन योग
रवि योग: सुबह 06:05 बजे से रात 10:42 बजे तक
शुभ समय: 11:58 ए एम से 12:49 पी एम
चैत्र नवरात्रि का सातवां दिन: 08 अप्रैल, मां कालरात्रि पूजा
शोभन योग: सुबह 10:31 बजे तक
सर्वार्थ सिद्धि योग: देर रात 01:43 बजे से अगले दिन प्रात: 06:02 बजे तक
शुभ समय: 11:58 ए एम से 12:48 पी एम
चैत्र नवरात्रि का आठवां दिन: 09 अप्रैल, दूर्गाष्टमी, महागौरी पूजा
सुकर्मा योग: दिन में 11:25 से
रवि योग: 10 अप्रैल को प्रात: 04:31 बजे से सुबह 06:01 बजे तक
शुभ समय: 11:58 ए एम से 12:48 पी एम
चैत्र नवरात्रि का नौवां दिन: 10 अप्रैल, मां सिद्धिदात्री पूजा, राम नवमी
सुकर्मा योग: दोपहर 12:04 बजे तक
सर्वार्थ सिद्धि योग: पूरे दिन
रवि पुष्य योग: पूरे दिन, रवि योग: पूरे दिन
शुभ समय: 11:57 ए एम से 12:48 पी एम
चैत्र नवरात्रि का दसवां दिन: 11 अप्रैल, नवरात्रि पारण एवं हवन
सर्वार्थ सिद्धि योग: प्रात: 06:00 बजे से प्रात: 06:51 बजे तक
रवि योग: पूरे दिन
शुभ समय: 11:57 ए एम से 12:48 पी एम

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Veer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनName Astrology: इन नाम वाले लोगों के जीवन में अचानक से धनवान बनने का होता है योगफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटबुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामबेहद शार्प माइंड होते हैं इन 4 राशियों के लोग, बुध और शनि देव की रहती है इन पर कृपाज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

टेरर फंडिंग केस में यासीन मलिक को उम्र कैद की सजा, 10 लाख का जुर्मानायासीन मलिक की सजा से तिलमिलाया पाकिस्तान, PM शहबाज शरीफ, इमरान खान, शाहिद आफरीदी को आई मानवाधिकार की यादAir Force के 4 अधिकारियों की हत्या, पूर्व गृहमंत्री की बेटी का अपहरण सहित इन मामलों में था यासीन मलिक का हाथअमरनाथ यात्रियों को तीन लेयर में मिलेगी सिक्योरिटी, ड्रोन व CCTV कैमरों के जरिए भी रखी जाएगी नजरमहबूबा मुफ्ती ने बीजेपी पर हमला करते हुए कहा- आप बता दो कि मुसलमानों के साथ क्या करना चाहते होकपिल सिब्बल समाजवादी पार्टी के टिकट से जाएंगे राज्यसभा, बताई कांग्रेस छोड़ने की वजह16 वर्षीय ग्रैंडमास्टर आर प्रज्ञानानंद ने रचा इतिहास, चेसेबल मास्टर्स के फाइनल में पहुँचने वाले पहले भारतीयलोकसभा चुनाव वाला Yogi का बजट, धर्म के साथ रोजगार, युवा, किसान, महिलाओं को जोड़ेगी सरकार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.