सचिव सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग चन्द्र प्रकाष त्रिपाठी ने संभाला अध्यक्ष, पैक्ट का कार्यभार

बेहतर जल प्रबन्धन कर बढ़ाये किसानों की उपज

By: Anil Ankur

Published: 10 Feb 2018, 11:10 AM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेष षासन ने UP वाटर सेक्टर रीस्ट्रक्चरिंग परियोजना की संचालन समिति प्रोजेक्ट एक्टिविटी टीम के अध्यक्ष पद का अतिरिक्त प्रभार श्री चन्द्र प्रकाष त्रिपाठी, सचिव सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग तथा परती भूमि विकास विभाग को सौपा गया है। इसी के अनुपालन में श्री त्रिपाठी ने आज अपरान्ह 04ः00 वाल्मी परिसर स्थित पैक्ट के मुख्यालय में अध्यक्ष, पैक्ट का दायित्व सम्भाला। यह पद श्री षम्भूनाथ, तत्कालीन सचिव सिंचाई एवं अध्यक्ष, पैक्ट की दिनांक 31.01.2018 को सेवा निवृत्ति से रिक्त हुआ था।
प्रभार ग्रहण करने के श्री त्रिपाठी ने उपस्थित अधिकारियों/विषेशज्ञों को निर्देषित करते हुए कहा कि सरकार की मंषा के अनुसार हमे ऐसी कारगर निति अपनानी होगी जिससे कि कम पानी में अधिक पैदावार हो सके और किसानों में खुषहाली आ सके। उन्होंने कहा कि इसी क्रम में प्रदेष के मा0 सिंचाई मंत्री श्री धर्मपाल सिंह के संकल्पो और प्राथमिकताओं को अमलीजामा पहनाना हम सबका नैतिक दायित्व है। श्री त्रिपाठी ने कहा कि प्रमुख सचिव, सचिव सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग तथा परती भूमि विकास विभाग श्री टी0बेंकेटेष के कुषल मार्गदर्षन में ऐसी कार्य संस्कृति अपनाई जाये जिससे कि सिंचाई का बेहतर प्रबन्धन हो और हर खेत तक समय से पानी पहुंच सके।श्री त्रिपाठी ने कहा कि प्रमुख सचिव, सचिव सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग तथा परती भूमि विकास विभाग श्री टी0बेंकेटेष के कुषल मार्गदर्षन में ऐसी कार्य संस्कृति अपनाई जाये जिससे कि सिंचाई का बेहतर प्रबन्धन हो और हर खेत तक समय से पानी पहुंच सके।
अध्यक्ष, पैक्ट ने उ0प्र0 वाटर सेक्टररीस्ट्रक्चरिंग परियोजना (पैक्ट) के विभिन्न कार्यक्रमों की जानकारी प्राप्त की तथा अधिकारियों को सख्त हिदायत दी कि वे समय बद्ध क्रम में गुण मानकों के अनुरूप लक्ष्यों की प्राप्ति करें जिससे कि प्रस्तावित परियोजना के उद्देष्यों की पूर्ति हो सके। तकनीकी सलाहकार, पैक्ट श्री संग्राम सिंह ने विभिन्न तकनीकी बिन्दुओं पर प्रकाष डाला तथा मुख्य अभियन्ता, पैक्ट श्री एस0सी0 षर्मा ने अबतक की कार्यवार प्रगति से अध्यक्ष, पैक्ट को अवगत कराया। इस अवसर पर मीडिया विशेषज्ञ श्री इंदल सिंह भदौरिया भी उपस्थित थे।

Anil Ankur Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned