बिकरू कांड: विकास की पत्नी रिचा, भाई दीपक समेत छह के खिलाफ चार्जशीट दाखिल, अब होगी ये कार्रवाई

बिकरू कांड की जांच करने वाली एसआईटी की सिफारिश पर चौबेपुर थाने में फेक आईडी पर सिम का इस्तेमाल करने का केस दर्ज किया गया था।

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

कानपुर. बिकरू कांड में फर्जी आईडी पर सिम लेने के मामले में चौबेपुर थाने में दर्ज केस में पुलिस ने विकास दुबे की पत्नी रिचा, भाई दीपक दुबे समेत छह के खिलाफ चार्जशीट दाखिल कर दी है। टेलीकॉम कंपनी के दस्तावेजों को सबूत के तौर पर पेश किया गया है। तीन आरोपियों के खिलाफ अभी भी विवेचना जारी है। दस्तावेजों के सत्यापन के बाद उनके खिलाफ पूरक चार्जशीट दाखिल की जाएगी। ये तीनों बिकरू कांड के मामले में जेल में बंद हैं। जांच अधिकारी उनके बयान भी दर्ज कर चुके हैं।

फेक आईडी का इस्तेमाल

दरअसल बिकरू कांड की जांच करने वाली एसआईटी की सिफारिश पर चौबेपुर थाने में फेक आईडी पर सिम का इस्तेमाल करने का केस दर्ज किया गया था। इसमें विकास दुबे की पत्नी रिचा दुबे, भाई दीपक दुबे, राम सिंह, शांति देवी, खुशी दुबे, विष्णुपाल उर्फ जिलेदार, मोनू, शिव तिवारी और रेखा को आरोपी बनाया गया था। एसपी ग्रामीण बृजेश कुमार श्रीवास्तव के मुताबिक मोनू, शिव तिवारी और रेखा को छोड़कर अन्य सभी छह आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट कोर्ट में दाखिल कर दी गई है। चार्जशीट में धोखाधड़ी, फर्जीवाड़ा करने में आरोप तय किये गए हैं।

जेल में बंद एसओ

वहीं बिकरू कांड में चौबेपुर के पूर्व एसओ विनय तिवारी और दरोगा केके शर्मा अभी भी जेल में बंद हैं। इनके साथ दरोगा कुंवर पाल सिंह, अजहर इशरत, विश्वनाथ मिश्रा, सिपाही राजीव, अभिषेक के खिलाफ वृहद दंड के तहत कार्रवाई शुरू हो गई है। एसपी साउथ दीपक भूकर के मुताबिक विनय और केके शर्मा को जेल में ही आरोप पत्र दिया गया है। अब वो अपने बयान देंगे जिसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned