अंत्योदय राशन कार्ड धारकों को मुख्यमंत्री द्वारा आयुष्मान कार्ड वितरण किया


अंत्योदय राशन कार्ड धारकों को मुख्यमंत्री द्वारा आयुष्मान कार्ड वितरण एवं कोविड पर प्रकाशित पुस्तक का विमोचन कार्यक्रम

 

By: Ritesh Singh

Published: 11 Oct 2021, 07:55 PM IST

लखनऊ, प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान के अंतर्गत हाल ही में जोड़े गए अंत्योदय राशन कार्ड लाभार्थियों को आयुष्मान कार्ड वितरित कर योजना का विधिवत शुभारंभ किया । लोक भवन सभागार में आयोजित कार्यक्रम में उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा कोविड संकट के दौरान कुशल कोविड प्रबंधन पर आधारित एक पुस्तक का भी विमोचन किया गया। गौरतलब है कि आयुष्मान प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का शुभारंभ आजसे लगभग 03 वर्ष पूर्व किया गया था जिसकी पात्रता सूची 2011 की सामाजिक आर्थिक जनगणना पर आधारित थी एवं योजनान्तर्गत 1.18 करोड़ परिवारों को इस योजना के माध्यम से पाँच लाख रुपये तक की निःशुल्क स्वास्थ्य सुविधा का लाभ मिल पा रहा था ।

प्रदेश सरकार के संज्ञान में आया कि एस0ई0सी0सी0 2011 की पात्रता सूची से लाखों परिवार किन्हीं कारणों से वंचित रह गए हैं और उन्हें सरकार द्वारा गरीबों को 5 लाख तक का निःशुल्क इलाज देने वाली योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है । इन्हीं विसंगतियों को समाप्त करने के उद्देश्य से प्रदेश सरकार द्वारा मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान का शुभारंभ किया गया था । प्रारंभ में एस0ई0सी0सी0 की पात्रता सूची से वंचित 8.43 लाख परिवारों को इस योजना में जोड़ा गया था लेकिन जमीनी स्तर पर आवश्यकता को देखते हुए इसमें और भी जरूरतमंद परिवारों को समय-समय पर जोड़े जाने की व्यवस्था की गई।
हाल ही में श्रम विभाग में पंजीकृत 11.65 लाख श्रमिक परिवारों को भी मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान की पात्रता सूची में सम्मिलित किया गया। इसी क्रम में प्रदेश सरकार की कैबिनेट द्वारा अंत्योदय राशन कार्ड धारकों को भी मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान की पात्रता सूची में सम्मिलित करने का ऐतिहासिक निर्णय लिया गया।

प्रारंभ में जहां प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के अंतर्गत प्रदेश की केवल 24 फीसद आबादी को स्वास्थ्य बीमा का लाभ मिल रहा था लेकिन मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान” के लागू होने और अंत्योदय परिवारों का नाम भी डाटा से जुड़ जाने से अब तक 13 प्रतिशत अतिरिक्त परिवारों को भी निःशुल्क स्वास्थ्य बीमा का लाभ मिलने लगा है। दोनों योजनाओं को मिलाकर अब प्रदेश की 37 फीसद आबादी से भी अधिक आबादी सरकार द्वारा चलायी जा रही स्वास्थ्य बीमा के दायरे में आ गयी है जो कि प्रदेश सरकार के लिए एक बहुत बड़ी उपलब्धि है।

कार्यक्रम में प्रदेश सरकार द्वारा कोविड-19 संकट से निपटने के लिए किए गए सराहनीय प्रयासों पर आधारित प्रो0 मणींद्र अग्रवाल, आईoआईoटी कानपुर की पुस्तक का भी विमोचन मुख्यमंत्री के द्वारा किया गया। कार्यक्रम को संबोधित करते हुए नीति आयोग के सदस्यरी विनोद पाल ने बताया कि अंत्योदय लाभार्थियों एवं अन्य श्रेणी के लाभार्थियों के लिए योगी सरकार द्वारा लागू मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान एक अभूतपूर्व कदम है और इससे स्वास्थ्य के क्षेत्र में क्रांतिकारी बदलाव आएंगे।

अगर लाभार्थियों की बात करें तो अब तक प्रदेश में कुल पात्र परिवारों के 46 फीसद(लगभग 56 लाख परिवारों के 1 करोड़ 59 लाख सदस्यों) परिवारों को आयुष्मान कार्ड जारी किया जा चुका है। योजनान्तर्गत प्रदेश में अब तक 8 लाख 57 हजार लाभार्थियों को निःशुल्क इलाज का लाभ दिया गया है जिसके सापेक्ष रु० - 913 करोड़ कि धनराशि का भुगतान संबंधित चिकित्सालयों को किया जा चुका है ।

Ritesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned