scriptChief Minister Yogi Adityanath's reforms in field of excise | UP डिस्टलरी हब के रूप में उभर रहा: मुख्यमंत्री | Patrika News

UP डिस्टलरी हब के रूप में उभर रहा: मुख्यमंत्री

.20 हजार करोड़ रुपए के निवेश से लग रहे 13 डिस्टलरी प्लांट, टॉप टेन में बरेली में दो, शाहजहांपुर में दो, देवरिया, अमरोहा, रामपुर, लखीमपुर खीरी, गोरखपुर और सीतापुर में लग रहे एक-एक प्लांट

.पिछले पांच सालों में 61 से 78 हुई डिस्टलरी 65 सौ करोड़ का हुआ निवेश, अल्कोहल उत्पादन क्षमता 170 से 270 करोड़ बल्क लीटर हुई और एथनाल का उत्पादन 42 से 115 करोड़ बल्क लीटर हुआ

लखनऊ

Published: June 14, 2022 01:07:15 am

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आबकारी के क्षेत्र में किए गए सुधारों का असर राष्ट्रीय स्तर पर दिखने लगा है। नीतियों में बदलाव और चोरी रोकने के कारण देश में आबकारी से सर्वाधिक राजस्व प्रदेश को मिल रहा है। इसी कारण प्रदेश में 20 हजार करोड़ रुपए के निवेश से 13 डिस्टलरी प्लांट लग रहे हैं और देश में डिस्टलरी हब के रूप में प्रदेश उभर रहा है। आने वाले दिनों में प्रदेश उपभोग के बजाय शराब का निर्यातक बनेगा और दूसरे राज्यों-देशों को भी शराब पिलाएगा।
UP डिस्टलरी हब के रूप में उभर रहा: मुख्यमंत्री
UP डिस्टलरी हब के रूप में उभर रहा: मुख्यमंत्री
सीएम योगी ने आबकारी के क्षेत्र में माफियाओं के एकाधिकार को खत्म किया। साथ ही पिछले पांच सालों में 65 सौ करोड़ के निवेश से 61 से 78 डिस्टलरी हुईं। इससे अल्कोहल उत्पादन क्षमता 170 से 270 करोड़ बल्क लीटर हुई और एथनाल का उत्पादन भी 42 से बढ़कर 115 करोड़ बल्क लीटर हुआ है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में ग्राउंड ब्रेकिंग सेरेमनी में 20 हजार करोड़ रुपए के निवेश से लगने वाले 13 डिस्टलरी प्लांट का शिलान्यास किया है। टॉप टेन प्रोजेक्ट में बरेली में दो, शाहजहांपुर में दो, देवरिया, अमरोहा, रामपुर, लखीमपुर खीरी, गोरखपुर और सीतापुर में लग रहे एक-एक डिस्टिलरी प्लांट लग रहे हैं।
अपर मुख्य सचिव संजय आर भूसरेड्डी ने बताया कि प्रदेश में माफियाराज खत्म होने और तमाम सुधारों को लागू करने से डिस्टिलरी में निवेश बढ़ा है। इससे उत्पादन में भी बढ़ोतरी हुई है और अब हमारी कोशिश है कि प्रदेश को उपभोग के बजाय शराब का निर्यातक बनाया जाए। देश में डिस्टलरी हब के रूप में प्रदेश ने तेजी से कदम बढ़ाए हैं। इससे लोगों को स्थानीय स्तर पर रोजगार भी उपलब्ध हो रहे हैं।
इस साल मई में 3414 करोड़ रुपए मिला राजस्व

देश में सबसे ज्यादा उत्तर प्रदेश को वित्त वर्ष 2020-21 में 30 हजार करोड़, कर्नाटक को 23 हजार करोड़, महाराष्ट्र को 15 हजार करोड़, तेलंगाना को 14 हजार करोड़, राजस्थान को 9853 करोड़, मध्य प्रदेश को 9526 करोड़ और तमिलनाडु को 7821 करोड़ रुपए राजस्व मिले हैं। आबकारी में इस साल मई में 3414 करोड़ रुपए की राजस्व प्राप्ति हुई है, जबकि पिछले वर्ष मई में 2138.91 करोड़ रुपए ही मिले थे। पिछले वर्ष की तुलना में इस साल आबकारी में मई तक 70.8 प्रतिशत की प्राप्ति हुई है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

नीतीश कुमार ने कहा, 'BJP ने हमेशा किया अपमानित, की कमजोर करने की कोशिश'JDU ने BJP से गठबंधन तोड़ने का किया ऐलान, RJD के साथ है प्लान तैयारBihar Political Crisis Live Updates: थोड़ी देर में तेजस्वी संग राजभवन पहुंचेंगे नीतीश, उपेंद्र कुशवाहा ने पीएम मैटेरियल बतायाGoogle: अमरीका के गूगल स्थित डेटा सेंटर में बड़ा हादसा,आग लगने से तीन कर्मचारी झुलसे, सेवाएँ बाधित होने की आशंकाकेजरीवाल का दावा- राष्ट्रीय पार्टी बनने से एक कदम दूर है AAP, किसी पार्टी को कैसे मिलता है राष्ट्रीय दल का दर्जा?40 साल के सियासी सफर में 17 साल से सत्ता में नीतीश कुमार, लेकिन पुराने सहयोगियों को कई बार दे चुके हैं दगाBJP के मंत्रियों के इस्तीफे पर सभी ने साधी चुप्पी, क्या खेल है अभी बाकी, या फिर पलट सकता है पासाताइवान का चीन समेत दुनिया को संदेश: चीन के सैन्य अभ्यास के तुरंत बाद ताइवान ने भी शुरू की Live Fire Artillery Drill, बज गए युद्ध के नगाड़े
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.