समीक्षा के बाद मुख्यमंत्री ने दिए निर्देश, बेसिक पाठशाालाओं में बच्चों के ज्यादा होंगे एडमीशन, खराब परिणाम वाले स्कूल चिह्नित होंगे

समीक्षा के बाद मुख्यमंत्री ने दिए निर्देश, बेसिक पाठशाालाओं में बच्चों के ज्यादा होंगे एडमीशन, खराब परिणाम वाले स्कूल चिह्नित होंगे

Anil Ankur | Updated: 14 Jun 2019, 07:45:09 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

खराब परिणाम देने वाले स्कूलों के अध्यापकों को किया जाएगा चिह्नित, होगी कार्रवाई
रोजगारपरक शिक्षा प्रणाली पर जोर

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को शिक्षा विभाग के अधिकारियों के साथ बैठक की। इस बैठक में उच्च शिक्षा व डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा और बेसिक शिक्षा मंत्री अनुपमा जायसवाल भी मौजूद थीं। बैठक में योगी ने आदेश दिए कि ज्यादा से ज्यादा बच्चों को स्कूल में दाखिला दिया जाए। इसके लिए हर जिले में जिलाधिकारियों के अधीन लक्ष्य निर्धारित कर दिया जाए। उन्होंने कहा कि प्राईमारी पाठशालाओं में जितने ज्यादा एडमीशन होंगे उतने ही ज्यादा बच्चे शिक्षा प्राप्त करेंगे।

योगी ने परिणाम को लेकर ली क्लास

सरकार और सरकारी सहायता प्राप्त कालेजों में खराब रिजल्ट के लिए अब जिम्मेदारी तय की जाएगी। उन्होंने कहा कि आखिर क्या कारण है कि कुछ वर्षों में सरकारी स्कूलों का रिजल्ट खराब हो गया। उन्होंने कहा कि इससे साफ जाहिर है कि अध्यापन का कार्य पूरी तनमयता से नहीं किया जा रहा है। यही कारण है कि इन स्कूलों और कालेजों का रिजल्ट खराब होने लगा है। उन्होंने कहा कि अब यह सुनिश्चित करना होगा कि जो कालेज सही परिणाम नहीं दे पा रहे हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई की जाए। इसका जिम्मा हर जिले के जिला विद्यालय निरीक्षक और बेसिक शिक्षा अधिकारी का होगा।

मध्याह्न भोजन पर योगी ने की खिंचाई

बच्चों को स्कूल जाने की आदत बनें और वे मध्याह्न भोजन के लिए स्कूल आएं, लेकिन स्कूलों में भोजन की जो व्यवस्था की जा रही है वह बहुत ही दयनीय है। ऐसी-ऐसी शिकायतें सामने आ रही हैं कि स्कूलों में बच्चों को खाने में कीड़े वाले खाद्यान्न दिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि ऐसी हरकत करने वाले स्कूल और वहां के कर्मचारी सुधर जाएं अन्यथा उन्हें जेल भेजा जाएगा।

रोजगारपरक शिक्षा पर हो जोर

मख्यमंत्री ने कहा कि हर हाल में ऐसी शिक्षा प्रणाली हो जो शिक्षा के साथ-साथ बच्चों को रोजगार दिया जा सके। इसके लिए उन्होंने कहा कि कौशल विकास योजना में अच्छा काम हुआ है और बड़े स्तर लोग लाभान्वित भी हुए हैं। अब पूरे प्रदेश में ऐसी शिक्षा प्रणाली लागू की जाएगी जिससे लोगों को शिक्षा के साथ साथ रोजगार भी सुनिश्चित हो सके।

एनसीआरटी पुस्तकें लागू करने और समय पर रिजल्ट के लिए बधाई

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा को बोर्ड की परीक्षाएं समय से कराने और उनका सही समय पर परिणाम निकलवाने के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि सरकारी और सरकारी सहायता प्राप्त विद्यालयों के परिणामों में सुधार आने चाहिए। ऐसे कालेजों को चिहिन्त किया जाए जो अध्यापन कार्य में रुचि नहीं ले रहे हैं। उन्होंने कहा कि खराब परिणाम देने वाले कालेजों की सूची बनाई जाए और उनके लिए कार्रवाई प्रस्तावित की जाए।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned