सीएम योगी और मायावती को माननी होंगी चुनाव आयोग की ये पांच बड़ी बातें, नहीं तो फस जाएंगे बड़ी मुशीबत में

सीएम योगी और मायावती को माननी होंगी चुनाव आयोग की ये पांच बड़ी बातें, नहीं तो फस जाएंगे बड़ी मुशीबत में

Neeraj Patel | Publish: Apr, 15 2019 04:53:28 PM (IST) | Updated: Apr, 15 2019 05:10:20 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

सीएम योगी और मायावती को लोकसभा चुनाव के दौरान चुनाव आयोग की पांच बातों को मानना होगा, मायावती 48 और सीएम योगी 72 घंटे तक ट्विटर से भी नहीं कर सकेंगे चुनाव प्रचार

 

लखनऊ. यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ लोकसभा चुनाव के दौरान चुनाव आयोग के आदेश पर 72 घंटे तक ये पांच काम नहीं पाएंगे। साथ ही बसपा सुप्रीमो मायावती भी 48 घंटे तक चुनाव आयोग के इन पांच बातों को मानना होगा। योगी आदित्यनाथ और मायावती दोनों के लिए मंगलवार सुबह 6 बजे से समय शुरू हो जाएगा। इसके साथ ही वह जनता के बीच जाकर लोकसभा चुनाव के लिए का प्रचार भी नहीं कर सकेंगे और न ही लोगों के पास जाकर वोट मांग सकेंगे।

आचार सहिंता का उल्लंघन करने के मामले पर चुनाव आयोग ने मुख्य रूप से इन पांच बिन्दुयों को ध्यान में रखकर सीएम योगी आदित्यनाथ और बसपा सुप्रीमो मायावती को सख्त आदेश दिए हैं। दोनों लोगों को चुनाव आयोग की इन पांच बिन्दुओं का विशेष ध्यान रखना होगा।

1. सीएम योगी आदित्यनाथ 3 दिन और मायावती 2 दिन तक कोई चुनावी सभा नहीं सकेंगी।

2. मायावती 2 दिन और सीएम योगी आदित्यनाथ 3 दिनों तक कोई टीवी इंटरव्यू नहीं दे पाएंगे।

3. दोनों को कोई राजनीतिक ट्वीट नहीं करने का आदेश दिया गया है।

4. इसके साथ ही किसी भी सार्वजनिक कार्यक्रम में शामिल नहीं हो पाएंगे।

5. चुनाव को लेकर कोई भी रोड शो करने की इजाजत नहीं हैं।


बता दें कि सीएम योगी आदित्यनाथ और बसपा सुप्रीमो मायावती चुनावी रैलियों के साथ साथ सोशल मीडिया पर भी ज्यादा एक्टिव रहती हैं। योगी आदित्यनाथ तो भारतीय जनता पार्टी के स्टार प्रचारक हैं, जो यूपी के साथ-साथ पूरे देश में चुनाव प्रचार करने में लगे हुए हैं। योगी न सिर्फ भाषण बल्कि ट्विटर के माध्यम से भी विपक्षी पार्टियों पर जमकर वार कर रहे थे।

मायावती भी चुनावी सभाओं के साथ साथ ट्विटर के माध्यम से केंद्र सरकार और भाजपा पर निशाना साधती रही हैं। मायावती के निशाने पर हमेशा पीएम नरेंद्र मोदी ही रहते हैं। जिस पर चुनाव आयोग ने अगले 72 घंटों के लिए दोनों के लिए चुनाव प्रचार पर रोक लगा दी है। अब दोनों को दिए गए समय तक कोई भी जनता के बीच और ट्विटर के माध्यम से चुनाव प्रचार नहीं करने दिया जाएगा।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned