राज्य मंत्रिपरिषद का फैसला, 65 के ऊपर डाक्टरों को पांच साल और मिलेगी नौकरी

राज्य मंत्रिपरिषद का फैसला, 65 के ऊपर डाक्टरों को पांच साल और मिलेगी नौकरी

Anil Ankur | Publish: Sep, 11 2018 02:37:38 PM (IST) | Updated: Sep, 11 2018 08:42:20 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

डाक्टरों को लेकर सीएम योगी का अब तब का सबसे बड़ा एेलान, लंबे इंतजार के बाद दिया धमाकेदार तोहफा

लखनऊ. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में हुई बैठक में मंगलवार को 14 बिन्दुओं पर विचार किया गया। सरकार ने फैसला किया है कि हर तालाब को बचाया जाएगा और उसे ठीक कराकर उसका संरक्षण गांव के लोगों को दे दिया जाएगा। इसके अलावा 65 साल के ऊपर के डाक्टरों पांच साल और काम करने का मौका दिया जाएगा।

 

65 के ऊपर के डाक्टर पांच साल और कर सकेंगे नौकरी


राज्य मंत्रिपरिषद की बैठक की जानकारी देते हुए स्वास्थ्य मंत्री सिद्धार्थनाथ ने कहा कि चिकित्सा शिक्षा विभाग ने चिकित्सा क्षेत्र के विशेषज्ञों के लिए इस प्रस्ताव को केबिनेट के सामने रखा कि विशेषज्ञों को नौकरी पर रखा जा सके। इसके लिए सरकार ने फैसला किया है कि 65साल से ऊपर के डाक्टर अगर चाहें तो वे 70 साल की उम्र तक नौकरी कर सकते हैं। उनका कार्यकाल दो दो साल करके बढ़ाया जाएगा।

 

औद्योगिक प्राधिकरणों में सातवां वेतन मान


सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि केबिनेट ने औद्योगिक प्राधिकरणों के कर्मचारियों और अधिकारियों को सातवां वेतनमान दिए जाने के प्रस्ताव को पास कर दिया है। अब वहां के कर्मचारियों को सातवां वेतनमान मिलेगा। इसी प्रकार भूमि अर्जन विभाग के वे कर्मचारी जो सुपरटाइम स्केल पा चुके हैं उन्हें भी विभाग में अतिरिक्त लाभ दिए जाने का प्रस्ताव पास किया गया।

 

उद्योगों को कैसे मिले अनुदान


प्रदेश सरकार ने फैसला किया है कि उद्योगों को किस प्रकार से अनुदान दिया जाए इसके लिए अब नीति निर्धारण की जाएगी। एक जिला एक उत्पाद योजना के तहत उद्योगों को अनुदान दिए जाने का सरकार ने फैसला किया था। यह अनुदान किस अनुपात में दिया जाए इसका निर्णय आज केबिनेट ने लिया है। इसका पूरा विवरण जल्द जारी किया जाएगा।

वर्षा के पानी संचयन के लिए तालाब


बारिश के पानी को बचाने और जल स्तर को ऊंचा उठाने के लिए सरकार ने फैसला किया है कि हर गांव के तलाबों को बचाया जाएगा। इसके लिए तालाब साफ किए जाएंगे। उनका सिल्ट साफ किया जाएगा और स्वच्छ पानी भर जाने पर तालाब रख रखाव व मछली पालन के लिए ग्राम प्रधान के माध्यम से गांव के लोगों की समित को सौंप दिया जाएगा।

सिद्धार्थनाथ ने बताया कि विश्व विद्यालयों के लिए जमीन,बागपत विश्व विद्यालय के लिए जमीन, गोरखपुर के लिए धन आवंटन आदि विषय के भी प्रस्ताव आज पास किए गए।

Ad Block is Banned