गौवंशों को लेकर सीएम योगी के इस आदेश से सकते में सरकार, लिया ऐसा फैसला, प्रदेशभर में मची हलचल

गौवंशों को लेकर सीएम योगी के इस आदेश से सकते में सरकार, लिया ऐसा फैसला, प्रदेशभर में मची हलचल

By: Ruchi Sharma

Published: 03 Jan 2019, 02:07 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जिलाधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि प्रदेश के सभी जिलों में गौ संरक्षण समिति बनेगी। साथ ही जन सहयोग से आवारा घूमने वाले गौवंशो को हर हाल में 10 जनवरी तक गौ संरक्षण स्थल तक पहुंचाना होगा।

 

उन्होंने ललितपुर एवं फिरोजाबद जिले में कार्य की प्रशंसा करते हुए बाकि जिलों के जिलाधिकारियों से भी कहा कि वे भी अपने जिलों में ऐसे ही पशु कल्याण के कार्य कर सकते हैं। उन्होंने गौ संरक्षण गृहों में पशुओं के चारे के लिए समुचित व्यवस्था करने के निर्देश दिए। साथ ही कहा कि जहां चाहरदीवारी नहीं है वहां फेंसिंग की जाए। पशुओं के केयरटेकर भी तैनात किए जाएं। आवारा पशुओं के मालिकों को पता लगाकर उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए।

 

उन्होंने कहा कि नई नीति का शासनादेश भी जारी कर दिया गया है। इसके तहत ब्लाक, तहसील, जनपद और मंडल एवं प्रदेश स्तर पर अस्थाई गौवंश आश्रय स्थलों की स्थापना, संचालन एवं प्रबंधन के लिए समितियों का गठन किया गया है।.सीएम योगी ने जिलाधिकारियों से कहा कि यह समितियां इस काम की देखरेख करेंगी। इन समितियों का दायित्व होगा कि ग्रामीणों की मदद से गोचर भूमि का प्रबंधन, गौवंश को आश्रय में लाने, उनके चारे आदि की व्यवस्था करना होगा। साथ ही उनके उपचार की भी व्यवस्था करनी होगी।

 

मुख्यमंत्री ने आरारा पशुओं के मालिकों का पता लगाकर उसके खिलाफ कार्रवाई करने के भी निर्देश दिए हैं। साथ ही कहा है कि गौ संरक्षण केन्द्रों में चारे-पानी के अलावा पशुओं की सुरक्षा का पूरा इंतजाम हो। जहां चहार दीवारी न हो वहां फेन्सिंग की व्यवस्था कराई जाए। साथ ही केयर टेकर भी तैनात किए जाएं ताकि उनकी देखरेख सही प्रकार से हो सके। इस दौरान यदि कोई व्यक्ति गो संरक्षण केन्द्र से अपने पशुओं को छुड़ाने पहुंचे तो उससे आर्थिक दण्ड भी वसूलने के निर्देश दिए और कहा कि इस जनसमस्या का शीघ्र समाधान कराना होगा।

BJP
Ruchi Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned