योगी सरकार ने फिर किया बड़ा प्रशासनिक फेरबदल, 17 आईएएस और 2 पीसीएस अफसरों के किए तबादले

योगी सरकार ने प्रतीक्षारत किए गए जिलाधिकारियों को भी तैनाती दे दी है।

लखनऊ. बीते कई दिनों से योगी सरकार लगातार आईएएस और आईपीएस अफसरों के तबादले कर रही है। योगी सरकार एक बार फिर ने 17 आईएएस समेत 2 पीसीएस अधिकारीयों का तबादला कर दिया। महोबा डीएम अवधेश तिवारी को हटाते हुए उनकी जगह सतेंद्र कुमार को कलेक्‍टर नियुक्‍त किया गया है। अवधेश तिवारी को विशेष सचिव (एपीसी) बनाया गया है। इसके अलावा परिवहन निदेशक आईएएस राजशेखर को कानपुर का कमिश्नर बनाया गया है। धीरज साहू को परिवहन निदेशक का अतिरिक्त चार्ज मिला है। इसके अलावा लखनऊ कमिश्नर मुकेश मेश्राम को प्रमुख सचिव पर्यटन एवं संस्कृति की नई जिम्मेदारी दी गई है। मुकेश मेश्राम के स्थान पर रंजन कुमार को कमिश्नर लखनऊ बनाया गया है। मोहम्‍मद मुस्तफा को श्रम आयुक्त कानपुर बनाया गया है। श्रम आयुक्त व मंडलायुक्त कानपुर सुधीर बोबडे को हटाकर सदस्य न्यायिक राजस्व परिषद भेज दिया गया है।

इनको भी मिली तैनाती

इसके साथ ही 12 सितंबर को 8 जिलों से हटाकर प्रतीक्षारत किए गए जिलाधिकारियों को तैनाती दे दी गई है। राजेश पांडेय को विकास प्राधिकरण मेरठ उपाध्यक्ष पद से मऊ का डीएम बनाया गया था, लेकिन वह कार्यभार संभालते उसके पहले उन्हें प्रतीक्षारत कर दिया गया था। उन्हें भी कम महत्व वाले एपीसी शाखा में विशेष सचिव बनाया गया है। इसके अलावा जितेंद्र कुमार से प्रमुख (सचिव पर्यटन और संस्कृति) का चार्ज वापस लेते हुए उन्हें प्रमुख सचिव (सामान्य प्रशासन व राष्ट्रीय एकीकरण) पद पर तैनात किया गया है। प्रतीक्षारत चल रहे अनिल ढींगरा को विशेष सचिव एपीसी शाखा, जितेंद्र बहादुर को विशेष सचिव पीडब्लूडी, अखिलेश तिवारी विशेष सचिव एमएसएमई, योगेश कुमार शुक्ला विशेष सचिव आबकारी, सी इंदुमती निदेशक अल्पसंख्यक कल्याण, ओपी आर्या सदस्य राजस्व परिषद प्रयागराज और ज्ञान प्रकाश त्रिपाठी को विशेष सचिव नियोजन बनाया गया है। साथ ही एसडीएम महाराजगंज राधेश्याम बहादुर सिंह को एसडीएम बदायूं बनाया गया है। हरदोई के एसडीएम मनोज सागर को रामपुर भेजा गया है।

नितिन श्रीवास्तव
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned