गन्ना किसानों के लिए बड़ी खुशखबरी, सीएम योगी आदित्यनाथ ने कर दिया बड़ा ऐलान

गन्ना किसानों के लिए बड़ी खुशखबरी, सीएम योगी आदित्यनाथ ने कर दिया बड़ा ऐलान

Nitin Srivastva | Publish: Jun, 20 2019 02:23:31 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

- मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गन्ना किसानों के लिए किया बड़ा ऐलान

- सीएम योगी ने बंद पड़ी चीनी मिलों को जल्द शुरू कराने के दिए निर्देश

- स्थानीय नौजवानों को गन्ने के जूस के कारोबार के साथ जोड़ने पर भी जोर

- गन्ना किसानों को समय से मिलनी चाहिए पर्ची

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गन्ना किसानों के भुगतान को लेकर सख्त रुख अपनाया है। उन्होंने निर्देश दिए हैं कि गन्ना किसानों का बकाया भुगतान कराने के मामले में देरी बर्दाश्त नहीं की जाएगी। उन्होंने अगस्त महीने तक किसानों को शत-प्रतिशत गन्ना मूल्य भुगतान कराने के निर्देश दिए हैं। सीएम योगी ने कहा कि गन्ने पर शेष लगाकर ऐसे निधि बनाई जाए जिससे किसानों को चीनी मिल के बाहर विश्रामालय, शौचालय और शुद्ध पेयजल जैसी जरूरी सुविधाएं मुहैया हो सके। सीएम योगी ने कहा कि बंद पड़ी चीनी मिलों को जल्द शुरू किया जाए। सीएम योगी ने यह निर्देश लोकभवन में गन्ना विकास और चीनी उद्योग विभाग की समीक्षा के दौरान दिए। समीक्षा बैठक में गन्ना विकास मंत्री सुरेश राणा, आबकारी मंत्री जयप्रताप सिंह, समेत तमाम आलाधिकारी मौजूद रहे।

 

और बेहतर करने की जरूरत

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा कि निजी, सहकारी और चीनी निगम के मिलों की बीते पेराई सत्र के गन्ना मूल्य भुगतान की जानकारी ली। सभी चीनी मिलों पर लगभग 10 हजार करोड़ रुपए गन्ना मूल्य बकाया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पिछले दो सालों में गन्ना मूल्य का अच्छा भुगतान हुआ है। इसे और बेहतर करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि गन्ना किसानों का अभी जो मूल्य बकाया है, उसे अलग-अलग किश्तों में अगस्त महीने तक पूरा भुगतान हो जाना चाहिए। उन्होंने स्थानीय नौजवानों को गन्ने के जूस के कारोबार के साथ जोड़ने पर भी जोर दिया। प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के जरिए ऋण मुहैया करवा कर नौजवानों को रोजगार के साधन देने का काम भी किया जा सकता है।

 

उत्तर प्रदेश में हो जाएंगी 122 चीनी मिलें

सीएम योगी ने कहा कि गन्ना विकास सड़कों को गड्ढा मुक्त करने की बजाए सड़कों को नए सिरे से बनाए। जिससे कई साल तक सड़क न टूटे। बनाने वाले से कम से कम पांच साल की गारंटी लें। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में गन्ना किसानों और सरकार के लिए एथनॉल का उत्पादन फायदेमंद साबित होगा। अभी प्रदेश में 119 चीनी मिलें चल रही हैं। अगले साल तीन चीनी मिलें और चल जाएंगी। जिससे उत्तर प्रदेश में 122 चीनी मिलें हो जाएंगी। मुख्यमंत्री ने बंद पड़ी गडौरा चीनी मिल के लिए रास्ता निकालने के निर्देश दिए हैं।

 

किसानों को न हो कोई परेशानी

सीएम ने कहा कि गन्ना किसानों को समय से पर्ची मिलनी चाहिए। इस बार किसानों को कोई परेशानी न आएं। उन्होंने कहा कि गन्ने का सर्वे बेहतर होना चाहिए। जिससे हम गन्ना किसानों को समय से पर्ची मुहैया करवा सकें। सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश में जो भी चीनी मिलें 700 और 1200 टीडीसी क्षमता वाली हैं, उन सभी चीनी मिलों की क्षमता बढ़ाकर 5000 टीडीसी पर लाया जाए। अगले तीन साल में इसका अपग्रेडेशन होना चाहिए। धुरियापार चीनी मिल पर कार्य तेजी से करने के निर्देश दिए गए हैं।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned