कभी बुंदेलखंड जाने से रोके गए थे योगी, अब सीएम बनकर करने जा रहे हैं समीक्षा बैठक

योगी आदित्यनाथ झाँसी में 20 अप्रैल को पूरे सरकारी प्रोटोकॉल के साथ बतौर मुख्यमंत्री दौरे पर जाने वाले हैं।

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कल यानि गुरुवार को बुंदेलखंड के दौरे पर होंगे। उनके पहुंचने से पहले प्रदेश सरकार के कई बड़े अफसरों और मंत्रियों ने बुंदेलखंड में डेरा डाल रखा है। मुख्यमंत्री झाँसी में बुंदेलखंड के अफसरों के साथ बैठक करेंगे और बुंदेलखंड के लिए चल रही योजनाओं की समीक्षा करेंगे। मुख्य रूप से बैठक में बुंदेलखंड के पेयजल और किसानों की स्थिति को लेकर चर्चा होने की उम्मीद हैं। मुख्यमंत्री के प्रस्तावित दौरे के मद्देनजर अफसरों ने व्यवस्थाएं दुरुस्त करने में सक्रियता दिखानी शुरू कर दी है।

यह है मुख्यमंत्री का कार्यक्रम

लखनऊ से रवाना होकर मुख्यमंत्री 20 अप्रैल की सुबह लगभग दस बजे झाँसी पुलिस लाइन के हेलीपैड पर उतरेंगे। यहाँ से वे सर्किट हॉउस पहुँचेंगे। झाँसी के विकास भवन सभागार में झाँसी और चित्रकूट धाम मंडलों के सात जिलों के अफसरों के साथ समीक्षा बैठक करेंगे। समीक्षा के बाद मुख्यमंत्री तालाबों और गेंहू क्रय केंद्रों का निरीक्षण करेंगे। दोपहर 3.45 पर पैरामेडिकल कालेज का निरीक्षण और बैठक करेंगे। शाम पांच बजे वे पुलिस लाइन हेलीपैड से लखनऊ के लिए रवाना हो जायेंगे।

यह भी है संयोग

दरअसल तीन वर्ष पहले झाँसी के मढ़िया महाकालेश्वर मंदिर पर हिन्दू युवा वाहिनी के कार्यक्रम में हिस्सा लेते जाते समय योगी आदित्यनाथ को पुलिस ने कानपुर में हिरासत में ले लिया था। हिन्दू युवा वाहिनी झाँसी के मढ़िया महाकालेश्वर मंदिर को अतिक्रमण मुक्त कराने के लिए अभियान चला रही थी और शिवरात्रि पर आयोजित जलाभिषेक कार्यक्रम में योगी आदित्यनाथ को मुख्य अतिथि के तौर पर बुलाया गया था। तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के निर्देश पर पुलिस ने उन्हें कानपुर में हिरासत में ले लिया था और झाँसी जाने से रोक दिया था। यह संयोग है कि योगी आदित्यनाथ उसी झाँसी में 20 अप्रैल को पूरे सरकारी प्रोटोकॉल के साथ बतौर मुख्यमंत्री दौरे पर जाने वाले हैं।
Show More
Laxmi Narayan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned