26 जून को CM योगी आदित्यनाथ के नाम बनेगा नया रिकॉर्ड, उपलब्धि में शामिल होंगे PM नरेंद्र मोदी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (UP CM Yogi Adityanath) 26 जून को एक करोड़ लोगों को रोजगार (Employment) देकर नया रिकॉर्ड बनाएंगे। इस लिहाज से इतने लोगों को रोजगार देने वाला उत्तर प्रदेश पहला राज्य बन जाएगा

By: Karishma Lalwani

Published: 24 Jun 2020, 12:01 PM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (UP CM Yogi Adityanath) 26 जून को एक करोड़ लोगों को रोजगार (Employment) देकर नया रिकॉर्ड बनाएंगे। इस लिहाज से इतने लोगों को रोजगार देने वाला उत्तर प्रदेश पहला राज्य बन जाएगा। इसी दिन एमएसएमई इकाइयों को कर्ज भी दिया जाएगा। यूपी सरकार की उपलब्धि में सजने वाले इस मेगा शो में 26 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ऑनलाइन माध्यम से शामिल होंगे।

मंगलवार को लोकभव में टीम-11 के साथ बैठक में मुख्यमंत्री ने 26 जून को प्रस्तावित कार्यक्रम को लेकर चर्चा की। इसमें बताया गया कि उत्तर प्रदेश में फैक्ट्री, कारखाने, विभिन्न निर्माण परियोजनाओं, मनरेगा आदि के माध्यम से एक करोड़ दस लाख लोगों को रोजगार से जोड़ा जा चुका है। इस अवसर पर प्रधानमंत्री मोदी भी शामिल होंगे। लॉकडाउन के बाद यह पहला कार्यक्रम होगा जब प्रधानमंत्री मोदी किसी राज्य से जुड़े ऐसे कार्यक्रम में शामिल होंगे।

श्रमिकों के लिए रोजगार की रुपरेखा

लॉकडाउन में काम न मिलने पर लाखों मजदूरों व श्रमिकों ने देश वापसी की थी। उनके सामने रोजगार का बड़ा संकट था। मगर अब अनलॉक में श्रमिकों ने काम पर वापस जाने की इच्छा जाहिर की है। साथ ही रोजगार के नए आयाम की भी तलाश में जुट गए हैं। श्रमिकों व कामगारों की वापसी शुरू होने के साथ ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रोजगार की रुपरेखा पर काम शुरू कर दिया है।क्वारंटाइन सेंटर में लाने वाले हर श्रमिक-कामगार की स्किल मैपिंग कराई गई, ताकि उन्हें क्षमता के अनुसार रोजगार से जोड़ा जा सके। आज प्रदेश सरकार के पास 36 लाख प्रवासी कामगार का पूरा डेटा बैंक मैपिंग के साथ तैयार है। सरकार का दावा है कि इन सभी को सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम (एमएसएमई), एक्सप्रेसवे, हाईवे, मनरेगा आदि क्षेत्रों में बड़े पैमाने पर रोजगार से जोड़ा जा चुका है। अब यह आंकड़ा एक करोड़ के पार जा रहा है। सरकार इस आंकड़े को एक उदाहरण के तौर पर प्रस्तुत करना चाहती है। इन एक करोड़ रोजगार में मनरेगा के मानव दिवस भी शामिल हैं।

एमएसएमई इकाइयों को कर्ज

प्रदेश सरकार एमएसएमई इकाइयों को कर्ज देगी। सरकार ने एमएसएमई इकाई से कहा कि वह अपने यहां कम से कम एक अतिरिक्त रोजगार का अवसर सृजित करे। क्षमता बढ़ाने और खुद को तकनीकी रूप से अपग्रेड करने के लिए पांच मई को 57 हजार से अधिक इकाइयों को ऑनलाइन लोन दिया गया। 26 जून के कार्यक्रम में भी एमएसएमई इकाइयों को ऋण बांटा जाएगा।

ये भी पढ़ें: Banking Correspondent Sakhi Yojana: घर-घर पैसे पहुंचाएगी सखी, जानें प्रदेश सरकारी की इस योजना में क्या है खास

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned