Republic Day 2021 : 72वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर राज्यपाल और मुख्यमंत्री ने फहराया राष्ट्रध्वज

- सीएम बोले - जाति-मजहब के आधार पर भेदभाव नहीं होना चाहिए
- जवानों ने पूरे जोश के साथ अपने राष्ट्रीय झंडे को दी सलामी
- विधान भवन के ऊपर हेलिकॉप्टर से की गई पुष्प वर्षा

By: Neeraj Patel

Updated: 26 Jan 2021, 01:37 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. उत्तर प्रदेश समेत देशभर में देश का 72वां गणतंत्र दिवस बड़े ही धूमधाम के साथ मनाया गया। 72वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को अपने मंत्रिमंडल के सहयोगी तथा वरिष्ठ अधिकारियों के साथ अपने सरकारी आवास पर झंडा फहराया और कहा कि महिला पुरुष के बीच आधार पर होने वाला भेदभाव हो या जाति, मजहब, क्षेत्र और भाषा के आधार पर, किसी भी प्रकार का भेदभाव हो, भारत के संविधान ने कभी भी इस प्रकार की विकृति को कोई भी महत्व नहीं दिया है। वहीं प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल विधान भवन प्रांगण में ध्वजारोहण किया और उन्होंने परेड की सलामी ली। राजधानी लखनऊ में गणतंत्र दिवस का मुख्य समारोह का आयोजन विधान भवन के सामने हुआ। इस दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ तथा उनके मंत्रिमंडल के सहयोगी भी समारोह में मौजूद रहे। विधानसभा मार्ग को गणतंत्र दिवस पर शानदार ढंग से सजाया गया। विधान भवन के ऊपर हेलिकॉप्टर से पुष्प वर्षा की गई। 26 जनवरी की भीड़ को देखते हुए विधानसभा रोड बंद की गई। चारबाग से विधानसभा मार्ग तथा हजरतगंज होकर बेगम हजरत महल पार्क तक निकलने वाली परेड में इस बार भी सेना की ताकत की झलक दिखी।

इसके साथ ही 72वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर टैंक पर सवार जवानों ने पूरे जोश के साथ सलामी दी। सेना, अर्धसैनिक बल, पीएसी, पुलिस, होमगार्ड तथा एनसीसी के छात्र-छात्राओं के साथ स्कूली बच्चे परेड में 'ऐ वतन-वतन मेरे आबाद रहे तू, मैं जहां रहूं, जहां में याद रहे तू।, सारे जहां से अच्छा हिंदोस्ता हमारा और कदम-कदम बढ़ाए' जा जैसे गीतों की धुनों पर कदम से कदम मिलाकर अपनी ताकत का प्रदर्शन किया।

गणतंत्र दिवस की परेड में देश की हर सरहद की सुरक्षा में तैनात और दुश्मनों के छक्के छुड़ाने वाले युद्धक टैंक टी-90 भीष्म, आर्मर्ड रिकवरी व्हीकल, आइसीवीबीएमपी-2 की गडग़ड़ाहट भी सुनाई दी। शौर्य चक्र से सम्मानित परेड कमांडर लेफ्टिनेंट कर्नल प्रशांत सिंह चंडावत की अगुवाई में सेना के जवानों ने कदम ताल की। इस दौरान संक्रमण सुरक्षा के साथ मास्क लगाए जवान कदम ताल करते विधानभवन के सामने से गुजरे। परेड में शामिल सेना के नेटवर्क ऑपरेशन सेंटर, इंटिग्रेटेड कमांड एवं कंट्रोल मल्टी-परपज प्लेटफार्म, एकीकृत संचार वाहन ने सेना व इंटेलिजेंस की खूफिया ताकत का एहसास कराया।

अत्याधुनिक वाहनों के साथ परेड में शामिल हुए अधिकारी

सेना की राजपूत रेजीमेंट, 16 जाट रेजीमेंट, केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल की महिला और पुरुष जवान, पीएसी, एसएसबी के जवान, यूपी पुलिस की महिला और पुरुष टुकड़ी, एनसीसी कैडेट, सैनिक स्कूल के बच्चे बैंड और पाइप पर बज रहे देश भक्ति के गीतों की धुन पर कदमताल करते हुए रवींद्रालय से राणा प्रताप चौराहा, हुसैनगंज और रॉयल होटल चौराहा होते हुए विधानभवन के सामने से हजरतगंज महात्मागांधी मार्ग के रास्ते केडी सिंह स्टेडियम से बेगम हजरत महल पार्क तक गए। परेड में उत्तर प्रदेश पुलिस का श्वान दल भी शामिल है। इसके साथ ही दमकल विभाग के जवानों ने भी दम दिखाया। दमकल के जवान और अधिकारी अत्याधुनिक वाहनों के साथ परेड में शामिल हुए और लोगों को अग्नि सुरक्षा की जानकारी दी। छात्राओं और छात्रों ने विधानभवन के सामने विभिन्न सांस्कृतिक प्रस्तुतियां देकर समा को बांधे रखा।

ये भी पढ़ें - सरकारी कार्यालयों पर मेधावी बेटियों ने किया ध्वजारोहण, अगले दिन बनेंगी सांकेतिक अधिकारी

नए लुक में नजर आए यूपी होमगार्ड के जवान

परेड में शामिल यूपी होमगार्ड के अधिकारी और जवान इस बार डांगरी (एक तरह की पोशाक) में नजर आए। यह नई ड्रेस विभाग के डीजी ने निर्धारित की। परेड कमांडर दीपक श्रीवास्तव व मार्कंडेय सिंह के साथ अशोक कुमार की अगुवाई में होमागार्ड के जवान परेड में शामिल रहे। जवानों ने 2020 में गणतंत्र दिवस की परेड में प्रथम स्थान हासिल किया था। इस बार परेड में शामिल सेना के टैंक टी-90 भीष्म व अन्य में एंटीना में लगे झंडे की उंचाई कम की गई है। बीते वर्ष ऊंचाई अधिक होने के कारण वाल्मीकि मार्ग, केडी सिंह स्टेडियम मोड़, स्टेट बैंक ऑफ इंडिया मुख्यालय के पास ऊपर से गुजर रहे एंटीना तार और पेड़ों की टहनियों में फंस गया था। इसलिए इस बात विशेष ख्याल रखा गया।

Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned