मुख्यमंत्री ने इण्डोनेशिया के रामलीला दल के कलाकारों से भेंट की

Anil Ankur

Publish: Sep, 16 2017 06:56:53 (IST)

Lucknow, Uttar Pradesh, India
मुख्यमंत्री ने इण्डोनेशिया के रामलीला दल के कलाकारों से भेंट की

पांच प्रतिशत हिन्दू आबादी और 86 प्रतिशत मुस्लिम आबादी का देश इण्डोनेशिया धर्म के रूप में इस्लामिक है

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्रयोगी आदित्यनाथ  से आज यहां उनके सरकारी आवास पर इण्डोनेशिया से आए हुए रामलीला दल के कलाकारों से भेंट की। योगी ने दल के कलाकारों को अंग वस्त्र और राम दरबार के साथ-साथ उड़िसा की पट्ट शैली के चित्र और ‘काशी की रामलीला’ पुस्तक भी भेंट की। इस अवसर पर प्रमुख सचिव सूचना, पर्यटन एवं धर्मार्थ कार्य
श्री अवनीश कुमार अवस्थी, सचिव संस्कृति श्रीमती अनीता सी. मेश्राम, निदेशक अयोध्या शोध संस्थान डाॅ. योगेन्द्र प्रताप सिंह भी मौजूद रहे।
योगी ने इस अवसर कहा कि पांच प्रतिशत हिन्दू आबादी और 86 प्रतिशत मुस्लिम आबादी का देश इण्डोनेशिया धर्म के रूप में इस्लामिक है, परन्तु उसकी संस्कृति रामायण पर आधारित है, क्योंकि इण्डोनेशिया के सभी लोग अपना पूर्वज भगवान श्री राम को ही मानते है। उन्होंने कहा कि हम देख रहे है कि आज इण्डोनेशिया सभी क्षेत्रों में नई ऊचाईयां प्राप्त कर रहा है। धार्मिक असहिष्णुता से ऊपर उठकर विश्व को इस माडल को अपनाना होगा, जिससे सारी दुनिया में शन्ति स्थापित हो सकती है। भगवान राम सारी दुनिया में पूजनीय है। यह संदेश हमें इण्डोनेशिया, मलेशिया जैसे मुस्लिम तथा थाईलैण्ड, कम्बोडिया जैसे बौद्ध धर्म बाहुल्य देशों से स्पष्ट रूप से प्राप्त होता है।
ज्ञातव्य है कि भारतीय संास्कृतिक सम्बन्ध परिषद, भारत सरकार द्वारा विगत तीन वर्षों से अन्तर्राष्ट्रीय रामलीला का मंचन दिल्ली में कराए जाने के बाद इन दलों को अन्य प्रदेशों में भी भेजा जाता है। वर्ष 2015 में फीजी और कम्बोडिया के रामलीला दलों को लखनऊ और अयोध्या भेजा गया था। वर्ष 2016 में थाईलैण्ड के रामलीला दल ने लखनऊ और अयोध्या में अपनी कला का प्रदर्शन किया था। इस वर्ष इण्डोनेशिया का पांच सदस्यीय दल 13 से 15 सितम्बर, 2017 तक रामलीला मंचन के लिए लखनऊ और अयोध्या आया था। जकार्ता बाली से आए हुए दल के मुखिया अगंुग राई के साथ केतुक सुपर्णा, अपितु अस्थाना, वयम अनरवा, हिर अशुभ तथा मो0 इक्संग के साथ इण्डोनेशियाई दूतावास के सोशल कल्चरल डिविजन के अधिकारी भी उपस्थित थे।
लखनऊ में पर्यटन भवन के प्रेक्षागृह में 13 सितम्बर, 2017 को दर्शकों ने रामलीला का आनन्द लिया, जिसका उद्घाटन संस्कृति मंत्री लक्ष्मी नारायण चैधरी ने किया था। कलाकारों द्वारा बिना संवाद के ध्वनि और प्रकाश के सहयोग से भाव-भंगिमाओं के माध्यम से रामलीला का अनूठा मंचन किया गया था।

दिनांक 15 सितम्बर, 2017 को डाॅ. राम मनोहर लोहिया अवध विश्वविद्यालय के प्रेक्षागृह में इण्डोनेश्यिा की रामलीला का मंचन सम्पन्न हुआ। इण्डोनेशिया से आए हुए सभी कलाकार पांच वर्ष की आयु से ही रामलीला का मंचन करते आएं हैं, परन्तु पहली बार भारत और अयोध्या पहुंचने पर उन्हें हार्दिक प्रसन्नता हुई और यह सभी कलाकार अत्यन्त भावुक हो गए थे। इस अवसर पर महंत नृत्य गोपालदास ने कलाकारों को आशीर्वाद दिया। विधायक वेद प्रकाश गुप्ता तथा विश्वविद्यालय के कुलपति मनोज दीक्षित आयोजन में उपस्थित रहेे।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned