एक्शन मोड में सीएम योगी, फतेहपुर और गोंडा के डीएम को किया सस्पेंड

सीएम योगी आदित्यानथ एक्शन मोड में हैं। फतेहपुर के डीएम कुमार प्रशांत और गोंडा के डीएम जेबी सिंह को निलंबित किया।

By:

Updated: 07 Jun 2018, 02:54 PM IST

लखनऊ. सीएम योगी आदित्यानथ एक्शन मोड में हैं। फतेहपुर के डीएम कुमार प्रशांत और गोंडा के डीएम जेबी सिंह को निलंबित किया। दोनों पर खनन कराने सहित दूसरी अनियमितता के आरोप। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, जेबी सिंह को अवैध खनन और प्रशांत को सरकारी जमीन गलत तरीके से निजी व्यक्ति को देने सहित अन्य मामले में निलंबित किया गया।

अब फतेहपुर के नए डीएम अन्जनेय कुमार और गोंडा के डीएम प्रभांशु श्रीवास्तव होंगे। सीएम योगी की ओर से जारी बयान में कहा गया है यदि वरिष्ठ स्तर पर प्रभावी अनुश्रवण व कार्रवाई की जाती तो इस तरह की स्थिति पैदा न होती। प्रकरण में कार्रवाई की प्रभावी मिसाल स्थापित करते हुए वरिष्ठ स्तर पर जिम्मेदारी निर्धारित करने का फैसला लिया गया है।


बता दें कि इस प्रकरण में 9162 बोरियों में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम का खाद्यान्न कालाबाजारी के उद्देश्य से गोदाम में संग्रहीत पाया गया, जिसमें जिला प्रशासन तथा आपूर्ति एवं विपणन शाखा के केन्द्र, तहसील, जनपद व मण्डल स्तर के अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा निर्देशों की अवहेलना तथा पदीय दायित्वों का ठीक से निर्वहन न करने का प्रमाण मिला है।


प्रकरण संज्ञान में आने पर स्थानीय व राज्य मुख्यालय स्तर से जांच करायी गयी थी। इस प्रकरण में भारत सिंह केन्द्र विपणन निरीक्षक, झांझरी व महेश प्रसाद पूर्ति निरीक्षक तहसील तरबगंज को पूर्व में निलम्बित किया जा चुका था। इसके अलावा, सम्भागीय खाद्य नियंत्रक देवीपाटन राजेश कुमार, केके सिंह, सम्भागीय खाद्य विपणन अधिकारी देवीपाटन तथा सत्येन्द्र कुमार सिंह उपायुक्त खाद्य के विरुद्ध अनुशासनिक कार्रवाई प्रस्तावित की गयी।

अनुपमा जायसवाल के दोनों पीएस हटाए गए


बता दें सीएम योगी ने बुधवार को भी एक्शन लिया था। मंत्री अनुपमा जायसवाल के दोनों पीएस हटाए गए, निजी सचिव राजकुमार,अजीत जायसवाल हटाए गए, बेसिक शिक्षा मंत्री के निजी स्टाफ में बड़ा बदलाव किया गया।

 

-मुख्यमन्त्री के आदेश पर बेसिक शिक्षा मंत्री के दो निजी सचिवों को हटाया गया।

-बेसिक शिक्षा मंत्री अनुपमा जायसवाल के दोनों पीएस हटाए गए।

-निजी सचिव राजकुमार और अजीत जायसवाल हटाए गए।

-सीएम के आदेश पर हटाये गए दोनो निजी सचिव।

-सूत्रों की माने तो दोनो पर भ्रष्टाचार के चलते हुई ये बड़ी कार्यवाई ।

 

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned