सोनभद्र नरसंहार मामले को लेकर कांग्रेस ने उठाया सबसे बड़ा कदम, बड़े नेता पहुंचे राज्यपाल के पास, प्रमोद तिवारी ने दिया बड़ा बयान

सोनभद्र नरसंहार मामले को लेकर कांग्रेस ने उठाया सबसे बड़ा कदम, बड़े नेता पहुंचे राज्यपाल के पास, प्रमोद तिवारी ने दिया बड़ा बयान

Ruchi Sharma | Updated: 20 Jul 2019, 01:02:33 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

-सोनभद्र नरसंहार मामले को लेकर राज्यपाल से मिला कांग्रेस का प्रतिनिधिमंडल

-कई बड़े नेता भी थे साथ में

-भाजपा को लेकर प्रमोद तिवारी ने बड़ा बयान

 

लखनऊ. सोनभद्र नरसंहार (Sonbhadra Golikand) पर सियासी संग्राम बढ़ता जा रहा है। उत्तर प्रदेश प्रशासन द्वारा कांग्रेस महासचिव प्रियंका को सोनभद्र में पीड़ितों से मिलने से रोके जाने के बाद शनिवार को मृतक के परिजन खुद प्रियंका गांधी से मिलने मिर्जापुर के चुनार गेस्ट हाउस पहुंचे। प्रियंका गांधी ने सबसे मुलाकात की इसके साथ हर संभव मदद का आश्वसन दिया है। वहीं कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने आज सोनभद्र में हुई फायरिंग को लेकऱ राज्यपाल राम नाइक से मिलने पहुंचा। कांग्रेस नेता प्रमोद तिवारी के नेतृत्व में प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल राम नईक से मुलाकात की। यहां उन्होंने राज्यपाल को एक पत्र सौंपा है। जिसमें 10 लोगों की जान जाने का दावा किया गया है। राज्यपाल से मुलाकात के बाद कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी योगी सराकर को घेरते हुए कहा कि प्रदेश सरकार ने अघोषित इमरजेंसी लगा दी है। उनके साथ कई बड़े नेता भी शामिल थे। उन्होंने कहा कि भाजपा अपने पापों को छुपाने के लिए प्रियंका गांधी को पीड़ितों से नहीं मिलने दे रही है। उन्होंने कहा कि हम पीड़ितों के आंसू पूछना चाहते है, लेकिन ये सरकार प्रियंका गांधी से डरी हुई है। वहां जो नरसंहार हुआ है वो प्रशासन की अौर हत्यारों की मिलीजुली साजिश से हुआ है।

यह भी पढ़ें- सोनभद्र घटना को लेकर सदन में विपक्षियों ने बिगाड़ा माहौल, स्थागित के बाद तत्काल प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए CM ने पांच को किया सस्पेंड

बता दें कि सोनभद्र जिले के घोरावल कोतवाली क्षेत्र के ग्राम उभ्भा में हुए नरसंहार के बाद मृतक के परिजनों से मिलने जा रही प्रियंका को शुक्रवार को उत्तर प्रदेश प्रशासन ने रोक दिया था। इसके बाद वह मिर्जापुर में ही धरने पर बैठ गई। उन्हें रोकने के लिए 3 एएसपी व 5 सीओ समेत 12 थानेदार लगे थे। प्रियंका ने साफ कह दिया है कि वह अब बिना मिले नहीं जाएंगी। इसलिए उन्होंने मिर्जापुर में कांग्रेस के गेस्ट हाउस में रात काटी। बताया गया कि वहां रात को साजिशन पानी और बिजली काटी गई। पर प्रियंका पर इसका कोई असर नहीं पड़ा।

यह भी पढ़ें- सोनभद्र हत्याकांड मामले पर मायावती ने किया सबसे बड़ा खुलासा, प्रियंका गांधी की NO ENTRY पर कह दी ये बात

जानकारी हो कि 17 जुलाई को उभ्भा गांव में 90 बीघा जमीन पर कब्जे के लिए ग्राम प्रधान समेत करीब 200 लोगों ने विरोध कर रहे ग्रामीणों पर हमला कर दिया। जिसके बाद 10 लोगों की मौत हो गई। पुलिस ने आरोपी प्रधान समेत कई और लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। साथ ही अभी कई और आरोपियों की तलाश में दबिश दी जा रही है।

यह भी पढ़ें- सोनभद्र नरसंहार मामले पर अखिलेश यादव ने तोड़ी चुप्पी, सरकार के खिलाफ बयान देकर भाजपा को घेरा

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned