scriptCongress General Secretary Priyanka Gandhi Vadra Press Conference | आने वाले चुनावों को देखते हुए कृषि कानूनों पर लिया गया फैसला : प्रियंका | Patrika News

आने वाले चुनावों को देखते हुए कृषि कानूनों पर लिया गया फैसला : प्रियंका

किसानों को 'आतंकवादी', 'आंदोलनजीवी', 'गुंडे' और 'देशद्रोही' जैसे नाम दिए गए हैं। वे सरकार पर एक मिनट में इतना आंख मूंदकर भरोसा क्यों करें। इसके अलावा, सरकार के पास अध्यादेश लाने का विकल्प है तो वह संसद सत्र की प्रतीक्षा क्यों कर रही है।

लखनऊ

Published: November 19, 2021 01:25:10 pm

लखनऊ, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा कि सरकार तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने के लिए केवल इसलिए सहमत हुई थी क्योंकि वह समझ गई थी कि आगामी चुनावों में उन्हें उलटफेर का सामना करना पड़ेगा।
आने वाले चुनावों को देखते हुए कृषि कानूनों पर लिया गया फैसला : प्रियंका
आने वाले चुनावों को देखते हुए कृषि कानूनों पर लिया गया फैसला : प्रियंका
उन्होंने कहा साल भर के आंदोलन के दौरान 600-700 किसानों के मारे जाने के बाद, प्रधानमंत्री अब कानूनों के लिए माफी मांग रहे हैं, लेकिन उन्होंने शहीद किसानों के बारे में एक शब्द भी नहीं कहा है। लखीमपुर की घटना के बारे में क्या हुआ और मंत्री को अब तक बर्खास्त क्यों नहीं किया गया है? हमें यह समझना होगा कि सरकार ने अपने फैसले को बदलने का निर्णय तब किया जब हाल के सर्वेक्षणों से पता चला कि यह सरकार अब नहीं आने वाली।
यह पूछे जाने पर कि किसान अपना आंदोलन तुरंत वापस क्यों नहीं ले रहे हैं, कांग्रेस नेता ने कहा किसानों को 'आतंकवादी', 'आंदोलनजीवी', 'गुंडे' और 'देशद्रोही' जैसे नाम दिए गए हैं। वे सरकार पर एक मिनट में इतना आंख मूंदकर भरोसा क्यों करें? इसके अलावा, सरकार के पास अध्यादेश लाने का विकल्प है तो वह संसद सत्र की प्रतीक्षा क्यों कर रही है। प्रियंका ने आगे कहा कि उन्हें खुशी है कि सरकार को आखिरकार किसानों की ताकत का एहसास हुआ और यह भी कि किसानों से बड़ा कोई नहीं है।
उन्होंने कहा अगर सरकार गंभीर है कि क्या हुआ है तो उसे आवश्यक कदम उठाने चाहिए। लखीमपुर की घटना में शामिल मंत्री को बर्खास्त किया जाना चाहिए। किसानों की अन्य समस्याओं जैसे एमएसपी, उर्वरक की कमी और ऐसे अन्य मुद्दों को भी संबोधित किया जाना चाहिए। प्रियंका ने कहा कि उन्हें इस बात की भी खुशी है कि किसानों के आंदोलन के दौरान पूरा विपक्ष उनके साथ खड़ा रहा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Subhash Chandra Bose Jayanti 2022: इंडिया गेट पर लगेगी नेताजी की भव्य प्रतिमा, पीएम करेंगे होलोग्राम का अनावरणAssembly Election 2022: चुनाव आयोग का फैसला, रैली-रोड शो पर जारी रहेगी पाबंदीगोवा में बीजेपी को एक और झटका, पूर्व सीएम लक्ष्मीकांत पारसेकर ने भी दिया इस्तीफाUP चुनाव में PM Modi से क्यों नाराज़ हो रहे हैं बिहार मुख्यमंत्री नितीश कुमारPunjab Election 2022: भगवंत मान का सीएम चन्नी को चैलेंज, दम है तो धुरी सीट से लड़ें चुनाव20 आईपीएस का तबादला, नवज्योति गोगोई बने जोधपुर पुलिस कमिश्नरइस ऑटो चालक के हुनर के फैन हुए आनंद महिंद्रा, Tweet कर कहा 'ये तो मैनेजमेंट का प्रोफेसर है'खुशखबरी: अलवर में नया सफारी रूट शुरु हुआ, पर्यटन को मिलेगा बढ़ावा
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.