CAA-NRC मामले में कांग्रेस नेता गिरफ्तार, प्रदेश अध्यक्ष समेत कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन

नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन (NRC) को लेकर हुई हिंसा, तोड़फोड़ और आगजनी मामले में पुलिस ने कांग्रेस नेता शहनवाज आलम (Shenwaz Alam) को गिरफ्तार कर लिया है

By: Karishma Lalwani

Published: 30 Jun 2020, 01:58 PM IST

लखनऊ. नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और नेशनल रजिस्टर ऑफ सिटिजन (NRC) को लेकर हुई हिंसा, तोड़फोड़ और आगजनी मामले में पुलिस ने कांग्रेस नेता शहनवाज आलम (Shenwaz Alam) को गिरफ्तार कर लिया है। शहनवाज आलम मूल रूप से बलिया के रहने वाले हैं और लखनऊ में गोल्फ क्लब तिराहे पर स्थित लंका अपार्टमेंट में रहते हैं। पुलिस ने उन्हें अपार्टमेंट के पास से ही गिरफ्तार किया था। कांग्रेस नेता की गिरफ्तारी पर प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू, कांग्रेस विधानमंडल दल की नेता आराधना मिश्रा मोना, कांग्रेस अध्यक्ष मुकेश सिंह चौहान समेत तमाम पदाधाकारियों व कार्यकर्ताओं ने हजरतगंज कोतवाली में प्रदर्शन किया। प्रदर्शन इतना बढ़ गया कि पुलिस को उनपर लाठीचार्ज करना पड़ गया। इस मामले में प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष का कहना है कि सीएए-एनआरसी के विरोध प्रदर्शन के दौरान हुई हिंसा, तोड़फोड़ व आगजनी से शाहनवाज का कोई लेना-देना नहीं है। प्रदेश सरकार ने दमनकारी नीति के तहत उनकी गिरफ्तारी की है, जिसका सड़क पर उतरकर विरोध किया जाएगा।

प्रदर्शन के दौरान हुई थी आगजनी

मालूम हो कि 19 दिसंबर, 2019 को सीएए-एनआरसी के विरोध में राजनीतिक व सामाजिक संगठन के लोगों ने राजधानी में जमकर प्रदर्शन व हंगामा किया था। इस दौरान हसनगंज के खदरा और ठाकुरगंज में पुलिस की दो चौकियां फूंक दी थी। परिवर्तन चौक पर पुलिस और प्रदर्शनकारियों के बीच जमकर गोलीबारी, पथराव और मारपीट हुई थी। प्रदर्शनकारियों के खिलाफ हजरतगंज, हसनगंज, ठाकुरगंज, कैसरबाग समेत अन्य थानों में मुकदमे दर्ज किए गए थे। पुलिस ने मौके से ही कई प्रतिष्ठित लोगों को गिरफ्तार किया था। कुछ लोगों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत कार्रवाई भी की गई थी।

ये भी पढ़ें: School Fees: अभिभावकों को बड़ी राहत, नहीं बढ़ेगी स्कूल फीस, बस वैन का किराया भी होगा माफ

CAA Congress
Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned