पिछड़ों को लुभाने की कोशिश में कांग्रेस, तैयारी की ये रणनीति

पिछड़े वर्ग को लुभाने के लिए कांग्रेस ने रणनीति बनानी शुरू कर दी है। रा

By:

Published: 22 May 2018, 11:45 PM IST

लखनऊ. पिछड़े वर्ग को लुभाने के लिए कांग्रेस ने रणनीति बनानी शुरू कर दी है। राजधानी लखनऊ में हुई कांग्रेस पिछड़ा वर्ग विभाग की बैठक के बाद पिछड़ा वर्ग विभाग के राष्ट्रीय चेयरमैन तमरध्वज साहू ने कहा कि कांग्रेस पार्टी को नेता की नहीं कार्यकर्ता की जरूरत है और राहुल गांधी जी के सपनों को साकार तभी किया जा सकता है जब पिछड़ा वर्ग के पदाधिकारी कार्यकर्ता के रूप में कार्य करना शुरू करेंगे।

उन्होंने कहा कि पिछड़ा वर्ग विभाग में पंजीकृत पिछड़ी जाति की सूची एकत्र करे दूसरा पिछ़ड़ा वर्ग समुदाय के पूर्व और वर्तमान में सांसद, विधायक, ब्लाक प्रमुख आदि की सूची एकत्र करे। तीसरा विभिन्न पिछड़ा वर्ग जातियों के बीच समन्वय बनाने का कार्य करें। उन्होने बताया कि राष्ट्रीय स्तर का कार्यक्रम अगले माह की 11 जून को तालकटोरा स्टेडियम में प्रस्तावित है जिसमें मुख्य अतिथि के रूप में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जी शिरकत करेंगे। उन्होने महिलाओं एवं नौजवानों को विभाग से जोड़ने पर बल दिया।


डॉ. पटेल ने बताया कि इस मौके पर बैठक को पिछड़ा वर्ग विभाग के प्रान्तीय संयोजक श्री राहुल सचान ने सम्बोधित करते हुए कहा कि संगठन को विस्तार देने के लिए समय कम है इसलिए कम समय में अधिक काम करना है और आने वाले 11 दिन के अन्दर संगठन को ब्लाक स्तर तक पहंुचाना है। जो पदाधिकारी कार्य सुचारू रूप से नहीं करेगा उनकी जगह कार्य करने वाले कार्यकर्ताओं को दी जायेगी। जेा भी राष्ट्रीय अध्यक्ष जी के सुझाव हैं उसका पालन जमीनी स्तर पर सुनिश्चित किया जायेगा।


बैठक को सम्बोधित करते हुए विभाग के मुख्य प्रवक्ता डॉ अनूप पटेल ने कहा कि कांग्रेस के अन्दर सभी सामाजिक समुदायों केा उचित प्रतिनिधित्व प्रत्येक स्तर पर दिया जाय, साथ ही उ0प्र0 में पिछड़ा वर्ग विभाग को मजबूत किया जाना चाहिए।

अल्पसंख्यक विभाग के अध्यक्ष बने नदीम जावेद

जौनपुर के रहने वाले पूर्व एमएलए नदीम जावेद को अल्पसंख्यक विभाग का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया गया है। उनका जौनपुर से शुरु हुआ छात्र राजनीति का सफर अलीगढ़ होते हुए दिल्ली तक पहुंचा। 2005 से 2008 तक भारतीय युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहे। इस दरमियान काम करते हुए राहुल गांधी के संपर्क में आए, फिर 2012 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ने उन्हें गृहजनपद जौनपुर की सदर सीट से टिकट दिया। 25 वर्ष बाद खाता पार्टी का दोबारा खाता खोलते हुए करीब 12 हजार वोटों से जीत अर्जित की। हालांकि 2017 में हार गए।

अल्पसंख्यक विभाग के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर नदीम जावेद की तैनाती की घोषणा होते ही प्रांतीय चेयरमैन पद से पूर्व विधायक सिराज मेंहदी ने इस्तीफे का ऐलान कर दिया। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को प्रेषित किए त्यागपत्र में उन्होंने पद पर बने रहने की असमर्थता जताते हुए कहा कि सच्चे कार्यकर्ता के तौर पर पार्टी में काम करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि अल्पसंख्यक विभाग के प्रदेश चेयरमैन पद पर उनकी तैनाती पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी द्वारा की गई थी। मुख्य संगठन में प्रदेश उपाध्यक्ष के पद का दायित्व भी सौंपा गया था। पूर्व प्रदेश अध्यक्ष डा.निर्मल खत्री के नेतृत्व में कार्य करने के बाद अभी तक दोनों दायित्व निभा रहे हैं। उनका कहना है कि वर्तमान परिस्थितियों में वह केवल एक पद पर ही कार्य कर सकते हैं। ऐसे में उनका अल्पसंख्यक विभाग के प्रांतीय चेयरमैन पद से त्यागपत्र स्वीकार कर लिया जाए।

 

Congress
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned