कर्नाटक के राज्यपाल के विरोध में कांग्रेस का प्रदर्शन, राजबब्बर ने दिया बड़ा बयान

कर्नाटक के राज्यपाल के विरोध में कांग्रेस का प्रदर्शन, राजबब्बर ने दिया बड़ा बयान

Prashant Srivastava | Publish: May, 18 2018 03:07:49 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

बीजेपी नेता येदियुरप्पा के सीएम पद की शपथ लेने के बाद देश भर में कांग्रेस पार्टी के कई वरिष्ठ नेता विरोध जताने के लिए धरना दे रहे है।

लखनऊ. कर्नाटक में बीजेपी नेता येदियुरप्पा के सीएम पद की शपथ लेने के बाद देश भर में कांग्रेस पार्टी के कई वरिष्ठ नेता विरोध जताने के लिए धरना दे रहे है। कर्नाटक के राज्यपाल के फैसले के विरोध में लखनऊ में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर के नेतृत्व में सैकड़ों कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने जीपीओ स्थित गाँधी प्रतिमा के सामने धरना दिया। धरने में शामिल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता प्रमोद तिवारी, संजय सिंह, नसीमुद्दीन सिद्दकी ने भी कर्नाटक में येदियुरप्पा सरकार की वैधानिकता पर सवाल उठाये हुए बीजेपी पर लोकतंत्र की हत्या का आरोप लगाया।

राजबब्बर का बयान

राजबब्बर ने कर्नाटक के राज्यपाल के निर्णय पर सवाल उठाते कहा कि वह केंद्र के इशारे पर काम कर रहे है। राजबब्बर के मुताबिक, 'जब से BJP सत्ता में आई है लोकतंत्र कमजोर हो रहा है, हमारे पास बहुमत है। फिर भी कर्नाटक में हमें सरकार नहीं बनाने दिया जा रहा है। सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत है।'आपको बता दें कि कर्नाटक में तीन दिन से जारी सियासी उठा-पटक के बीच बीएस येदियुरप्पा ने गुरुवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। जिसके विरोध में कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। मामले की सुनाई कोर्ट में चल रही है। कोर्ट ने येदियुरप्पा को कल बहुमत साबित कने का आदेश दिया है। धरने में वरिष्ठ कांग्रेसी नेता प्रमोद तिवारी, संजय सिंह, नसीमुद्दीन सिद्दकी के अलावा शैलेंद्र तिवारी, अंशु अवस्थी समेत तमाम कांग्रेसी मौजूद रहे।

राज्यपाल को जमकर घेरा

प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता अमरनाथ अग्रवाल ने कहा कि कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस के गठबन्धन को पूर्ण बहुमत होने एवं भाजपा की कम सीट होने के बावजूद राज्यपाल द्वारा भाजपा को सरकार बनाने एवं शपथ ग्रहण कराये जाने का निर्णय अलोकतांत्रिक और गैर कानूनी है। कर्नाटक में कांग्रेस पार्टी को 38 प्रतिशत मत एवं भाजपा को 36 प्रतिशत मत मिला है। लेकिन जिस प्रकार ऐन-केन-प्रकारेण सरकार बनाने और खरीद-फरोख्त को खुलेआम अंजाम दिया गया, जिसे पूरा देश देख रहा है, शर्मनाक है।

Ad Block is Banned