यूपी में कोरोना वायरस के नए वेरियंट की दस्तक, दो हजार से अधिक लोग यूके से आए, कई के फोन बंद

  • यूपी में दो हजार से अधिक लोग हैं यूके से, इनमें से अधिकांश के फोन बंद

पत्रिका न्यूज नेटवर्क

लखनऊ. कोरोना और लाॅक डाउन से बेहद तेजी से उबरे उत्तर प्रदेश में कोरोना के ज्यादा आक्रामक वैरिएंट के दस्तक देने से खलबली मच गई है। ब्रिटेन से लौटे लोगों में कोरोना के नए स्ट्रेन के मिलने से नया खतरा मंडराने लगा है। मेरठ में ब्रिटेन से लौटे बच्चे समेत तीन लोगों के कोरोना संक्रमित पाए जाने के बाद शक है कि वो कोरोना के नए स्ट्रेन से संक्रमित हो सकते हैं। इसको लेकर यूपी के स्वास्थ्य महकमे को हाई अलर्ट पर रखा गया है। हालांकि सरकार इस मामले में किसी तरह की लापरवाही नहीं चाहती, लेकिन यूके से लौटे दो हजार से अधिक लोग सरकार और स्वास्थ्य विभाग के लिये सिरदर्द बन गए हैं। प्रशासन की ओर से इनसे लगातार खुद सामने आकर टेस्ट करवाने की अपील की जा रही है। डर है कि इनकी जरा सी लापरवाही कहीं बड़ी मुसीबत का सबब न बन जाए।

इसे भी पढ़ें- यूपी के पंचायत चुनाव में उतरेगी भीम आर्मी, चंद्रशेखर ने आजमगढ़ में योगी सरकार पर बोला हमला

यूपी में 2120 लोग यूके से यात्रा करके लौटे हैं। यूपी आने वालों में सबसे अधिक तादाद नोएडा में है। यहां 563 लोग लौटे हैं, जबकि गाजियाबाद में 291 और लखनऊ में 256 लोग यूके की यात्रा से लौटे हैं। इसी तरह कानपुर में 162, मेरठ में 101, आगरा में 58, गोरखपुर में 47, वाराणसी में 45, मुरादाबाद में 32 और बरेली में 28 लोग लौटे हैं।

इसे भी पढ़ें- Bank Account Closeer Charge: खाता बंद करने कितना देना पड़ता है चार्ज, जानिये इससे कैसे बचें

स्वास्थ्य विभाग और प्रशासनिक अधिकारी बार-बार इन लोगों से अपील कर रहे हैं कि सभी लोग खुद आगे आकर अपना आरटीपीसीआर टेस्ट करवा लें। इनके कांटेक्ट में आने वालों का भी टेस्ट होना है। पर अभी कई जगह काफी लोगों के सामने नहीं आने से अफसरों का सिरदर्द बढ़ गया है, हालांकि उनको तलाश करने का काम जारी है। प्रशासन की ओर से सभी के टेस्ट कराने की पूरी तैयारी है।

इसे भी पढ़ें- बी फार्मा, में दाखिला अब नए सत्र से UGPAT के माध्यम से होगा

मेरठ के टीपीनगर क्षेत्र के लल्लापुरा, शंकर विहार का एक परिवार बीते 14 दिसंबर को लंदन से मेरठ आया था। यहीं की रहने वाली परिवार की एक महिला में संक्रमण का लक्षण मिलने पर जब उनका टेस्ट कराया गया तो जांच रिपोर्ट पाॅजिटिव आई। इसके बाद लंदन से आए दंपत्ति व दोनों बच्चों और परिवार दूसरे सदस्यों के साथ ही पड़ोस के एक परिवार का भी आरटीपीसीआर टेस्ट कराया गया। हालांकि शुक्रवार की शाम को जारी रिपोर्ट में उन्हें नेगेटिव बताया गया, लेकिन रात को पता चला कि लंदन से आए परिवार में तीन लोगों के साथ ही पिता व भाभी की रिपोट पाॅजिटिव है। पास ही रहने वाले एक परिवार के नौ सदस्य भी संक्रमित मिले हैं। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग सतर्क हो गया है।

इसे भी पढ़ें- इसे भी पढ़ें- Weather Update शीतलहर के साथ बारिश का अलर्ट, यूपी में जारी है सर्दी का सितम
उधर वाराणसी में ब्रिटेन से लौटे 9 यात्रियों ने स्वास्थ्य विभाग की टेंशन बढ़ा दी है। उनकी तलाश शुरू कर दी गई है। कहा जा रहा है कि ये लोग दूसरे शहर में हो सकते हैं। शासन की गाइड लाइन के मुताबिक 9 दिसंबर से अब तक 20 लोग बनारस आए जिनमें से 18 में से 13 की रिपोर्ट नेगेटिव आई, जबकि 5 की रिपोर्ट आनी है और दो का पता नहीं चला है। इसी तरह 24 नवंबर से 8 दिसंबर तक आए 25 में से 18 ट्रेस हो चुके हैं। इनमें से सात की तलाश जारी है। सीएमओ डाॅ. वीबी सिंह ने बताया है कि जो लोग नहीं मिल रहे हैं उनमें कई लोग दूसरे शहर में हैं। उन्हें वहां ट्रेस किया जा रहा है। उधर मुरादाबाद में यूके से लौटे सभी 32 लोगों की जांच कराने की तैयारी है। यहां के डीएम राकेश कुमार सिंह ने कहा है कि कोरोना का नया वायरस काफी खतरनाक है। यूके, इंगलैंड या यूरोपीय देशों से लौटे लोगों का आरटीपीसीआर टेस्ट अनिवार्य है। सभी लोग खुद से आगे आकर टेस्ट करवाएं।

कोरोना वायरस
रफतउद्दीन फरीद
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned