Money Laundering केस में गिरफ्तार आरोपित की रिपोर्ट आई कोरोना पॉजिटिव, जज व ईडी की टीम क्वारंटाइन

- Money Laundering Case में गिरफ्तार आरोपित की Covid 19 Test रिपोर्ट आई पॉजिटिव
- प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने गिरफ्तार कर Court में किया था पेश
- Supreme Court के निर्देश पर Amrapali Group of Companies की जांच कर रहा है प्रवर्तन निदेशालय

By: Hariom Dwivedi

Updated: 17 Jun 2020, 04:19 PM IST

लखनऊ. प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मनी लॉन्ड्रिंग केस (Money Laundering Case) में आम्रपाली ग्रुप ऑफ कंपनीज (Amrapali Group of Companies) के जिस ऑडिटर को आरोपित को गिरफ्तार किया था, उसकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव (Corona positive) आने से हड़कम्प मच गया। आनन-फानन में उसे को सात दिन की पुलिस रिमांड पर भेजने वाले जज के अलावा ईडी (Enforcement Directorate) की टीम को भी क्वारंटाइन कर लखनऊ स्थित ईडी के दफ्तर (ED Lucknow Office) को भी सेनेटाइज किया गया। आरोपित को अनिल कुमार मित्तल को लखनऊ के किंग जार्ज मेडिकल कॉलेज (KGMU) में भर्ती कराया गया है। आम्रपाली ग्रुप के निदेशकों पर निवेशकों के करीब 650 करोड़ रुपये के गबन का आरोप है। सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर प्रवर्तन निदेशालय मामले की जांच में जुटा है।

आम्रपाली ग्रुप ऑफ कंपनीज के खिलाफ दर्ज मामले में ऑडिटर अनिल कुमार मित्तल पर वर्ष 2008 से लेकर 2015 के बीच फर्जी ऑडिट कर आम्रपाली ग्रुप की बैलेंस शीट बनाने का आरोप है। इसी बैलेंस शीट के आधार पर आम्रपाली ग्रुप को बैंकों से बड़े कर्ज मिले थे। इसी मामले में ईडी ने अनिल मित्तल को गिरफ्तार किया था। मंगलवार को उसे कोर्ट में किया गया, जहां से सात दिन पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया। रिमांड से पहले आरोपित का मेडिकल चेकअप कराया गया। उसकी कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आते ही हड़कम्प मच गया। तुरंत ही आरोपित को केजीएमयू में भर्ती कराया गया और उससे पूछताछ करने वाली ईडी टीम सेल्फ क्वारंटाइन हो गई।

Money Laundering के में गिरफ्तार आरोपित की रिपोर्ट आई कोरोना पॉजिटिव, जज व ईडी की टीम क्वारंटाइन

लखनऊ : कुल संक्रमितों में 12 प्रतिशत सुरक्षा कर्मचारी
कोरोना संकट के बीच पुलिस व जांच एजेंसियों के लिए ड्यूटी करना किसी मुसीबत से कम नहीं है। ईडी टीम के अलावा लखनऊ में अब तक बड़ी संख्या में पुलिसकर्मियों की रोना रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है। सोमवार तक लखनऊ में कुल कोरोना संक्रमित मरीजों की संख्या 716 थी, जिसमें से करीब 12 फीसदी सुरक्षाकर्मी शामिल हैं। राजधानी में आरपीएफ, जीआरपी, और पीएसी के जवानों को मिलाकर सुरक्षाकर्मियों के पॉजिटिव होने का आंकड़ा 88 हो गया है।

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned