कोरोना वायरस की पूरी जांच के बाद आई रिपोर्ट को देखकर ही भेजा गया मरीज को घर

अफवाह पर ना दे ध्यान , हमें हैं सबका ख्याल

By: Ritesh Singh

Updated: 27 Mar 2020, 09:28 PM IST

लखनऊ , वायरस के संबंध में सर्विलांस एवं कांटेक्ट ट्रेसिंग के आधार पर 14 लोगों का सैम्पल टीम द्वारा लिया गया तथा जांच हेतु केजीएमयू भेजा गया। 26 मार्च 2020 को भी 05 लोगों का सैंपल टीम द्वारा लिया गया था जिसमें सभी के परिणाम नेगेटिव पाए गए । भारत सरकार द्वारा उपलब्ध विदेश यात्रा से आए हुए 473 यात्रियों से फोन के माध्यम से उनका सर्विलांस का कार्य किया गया । प्रशासन द्वारा उपलब्ध कराए गए अन्य प्रदेशों से आए 574 व्यक्तियों से भी फोन के माध्यम से उनका सर्विलांस किया गया । सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मोहनलालगंज लखनऊ के परिसर में नव स्थापित बाल महिला चिकित्सालय की नई बिल्डिंग को नोबेल कोविड-19 के अस्पताल के रूप में संचालित कराने की कार्रवाई की गई ।

जिसमें सर्वप्रथम फ्लू के समान लक्षणों वाले मरीजों को देखने के लिए नोबेल कोविड-19 डेस्क की स्थापना की गई तथा चिकित्सालय में दो आइसोलेशन वार्ड महिला एवं पुरुष के लिए एवं दो क्वॉरेंटाइन वार्ड महिला एवं पुरुष के लिए बनाए गए हैं। अन्य मरीजों के लिए पुरानी बिल्डिंग में इमरजेंसी सेवाएं तथा बाल महिला चिकित्सालय का कार्य स्थानांतरित किया गया है।

विभिन्न समाचार पत्रों में प्रकाशित समाचार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मोहनलालगंज लखनऊ पर बिना जांच के कोविड-19 के लक्षण वाले मरीज को वापस करने के संबंध में अवगत कराना है कि संदीप यादव पुत्र विजय कुमार निवासी ग्राम कूड़ा जो गोरखपुर से अपने घर वापस आए थे तथा उनको सर्दी जुखाम एवं खांसी आदि के लक्षण थे। भारत सरकार नोबेल कोविड-19 की गाइडलाइन के अनुसार मरीज की हिस्ट्री लेने पर पता चला कि उसने विगत महीनों में विदेश यात्रा नहीं की तथा उससे किसी भी नोबेल कोविड-19 से संक्रमित मरीज के संपर्क में नहीं रहा ।मरीज की आयु लगभग 20 वर्ष है तथा संदीप यादव डायबिटीज और हाइपरटेंशन आदि से पीड़ित नहीं है । उक्त लक्षणों के अनुसार उनका इलाज किया गया । यह कहना असत्य है एवं निराधार है कि संदीप यादव पुत्र विजय कुमार को नोबेल कोविड-19 के लक्षण होने के उपरांत बिना इलाज एवं जांच कैसे वापस कर दिया गया।

सावधानी ही बचाव

• एक दूसरे से एक मीटर की दूरी पर रहें।
.हाथों को बार-बार साबुन से एवं साफ पानी से धोए
• खांसते, छींकते समय रूमाल या टीश्यू पेपर का इस्तेमाल करें।
• करोना वायरस से संबंधित किसी भी जानकारी के लिए जिले में बने कोविड-19 कंट्रोल रूम के नंबर 2230688, 2230955, 2230691 व 2230333 पर सम्पर्क करें।
• प्रदेश सरकार के हेल्पलाइन नंबर 18001805145 पर भी संपर्क कर सकते हैं।
• करोना वायरस के संबंध में किसी भी जानकारी के लिए केंद्रीय हेल्पलाइन नंबर 91-11-23978046 पर भी फोन कर सकते हैं।
• भीड़भाड़ से बचें और बहुत आवश्यक न हो तो घर में ही रहें।

Corona virus Corona Virus Precautions
Show More
Ritesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned