लॉकडाउन @ UP : बिना जरूरी काम घर से न निकलें बाहर, अब तक 2089 पर FIR, 35 हजार वाहन सील

- कोरोनावायरस की बीमारी को उत्तर प्रदेश में राज्य आपदा घोषित कर दिया गया है
- उत्तर प्रदेश में अब तक कोरोना वायरस से संक्रमण के 38 टस्ट पॉजिटिव आए हैं
- लॉकडाउन का उल्लंघन करने वालों पर पुलिस धारा 188 के तहत कर रही है कार्रवाई

लखनऊ. कोरोनावायरस की बीमारी को उत्तर प्रदेश में राज्य आपदा घोषित कर दिया गया है। बीते 24 घंटों में मिले पांच नये मामलों को मिलाकर अब तक अब तक संक्रमण के 38 टेस्ट पॉजिटिव आए हैं। हालांकि, 11 लोग इलाज के बीच ठीक भी हो चुके हैं। यूपी के सभी जिलों में लॉकडाउन घोषित किया गया है। लोगों से घरों में रहने की अपील की जा रही है। इस दौरान जरूरी काम से जाने वालों को पूछताछ के बाद जाने दिया जा रहा है। लेकिन, कई लोग बेवजह घर से निकल रहे हैं जिनसे पुलिस सख्ती से पेश आ रही है। बुधवार शाम तक उत्तर प्रदेश के अलग-अलग शहरों में पुलिस ने अब तक 2089 एफआईआर दर्ज की है। इस दौरान करीब 50 हजार वाहनों का चालान किया गया, जबकि करीब 35 हजार वाहन सील किये गये।

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने बुधवार की देर शाम बताया कि पूरे उत्तर प्रदेश में धारा 188 के उल्लंघन पर पुलिस ने अब तक 2089 एफआईआर दर्ज की है। लॉकडाउन के दौरान प्रदेश में अब तक कुल 200150 वाहन चेक किए गए, जिसमें से 49074 वाहनों का चालान और 3679 वाहनों को सीज करने की कार्रवाई की गई है। इस दौरान शमन शुल्क के तौर पर 1.01 करोड़ रुपये वसूले गये। अवनीश कुमार अवस्थी ने प्रदेशवासियों से अपील भी की कि अनावश्यक घरों से बाहर न निकलें।

Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned