गश्त पर निकले सिपाहियों ने दलित महिला से किया था दुष्कर्म, अब कोर्ट ने सुनाई कड़ी सजा

गश्त पर निकले सिपाहियों ने दलित महिला से किया था दुष्कर्म, अब कोर्ट ने सुनाई कड़ी सजा

Hariom Dwivedi | Publish: Aug, 15 2019 02:24:55 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

- लखनऊ के अपर सत्र न्यायाधीश एसएस पांडेय ने आरोपित सिपाही को सुनाई कड़ी सजा
- लखनऊ के माल थाना क्षेत्र का मामला, वर्ष 2000 में आरोपितों ने वारदात को दिया था अंजाम

लखनऊ. दलित महिला से दुराचार के मामले में लखनऊ के अपर सत्र न्यायाधीश एसएस पांडेय ने आरोपित सिपाही को कड़ी सजा सुनाई है। कोर्ट ने लखनऊ के माल थाने में तैनात तत्कालीन सिपाही कमलेश कुमार यादव को दोषी करार देते हुए 10 वर्ष का कठोर कारावास और 30 हजार रुपए के अर्थदंड की सजा सुनाई है। सिपाही पर घर में घुसकर दलित महिला से दुष्कर्म करने का आरोप था। सजायाफ्ता सिपाही वर्तमान में आजमगढ़ जिले के मनचोभा थाने में तैनात है। मामले में एक अन्य आरोपित सिपाही प्रमोद कुमार सिंह का मुकदमा अभी विचाराधीन है, जबकि दूसरे सिपाही कमलेश यादव को कड़ी सजा सुनाई गई है।

यह भी पढ़ें : अपनी को ट्रिपल तलाक देकर दूसरे की बीवी संग फरार हुआ पति, मासूम बेटी की भी नहीं की परवाह

सिपाही ने कहा, चिल्लाओगी तो जान से मार दूंगा
पांच जुलाई 2000 की रात को माल थाने के सिपाही कमलेश कुमार यादव और प्रमोद कुमार सिंह गश्त पर थे। पीड़िता के दो बच्चे सो रहे थे। वह भी सोने की तैयारी में थी, तभी दोनों पुलिसवाले उसके घर में घुस गये। सिपाही कमलेश ने महिला से दबोच लिया और जबनर दुष्कर्म करने लगा। पीड़िता चिल्लाई तो दूसरे सिपाही ने धमकी देते हुए कहा कि अगर चिल्लाओगी तो जान से मार दूंगा। इस बीच पीड़िता का पति भी घर आ गया और सिपाहियों के चुंगल से पत्नी को छुटाने की कोशिश की तो आरोपित सिपाहियों ने उसे राइफल के कुंदे से पीटा। पीड़ित परिवार ने माल थाना क्षेत्र में आरोपितों के खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई थी।

यह भी पढ़ें : बुलावा देने जा रही लड़की से छेड़छाड़ के बाद संघर्ष में एक दर्जन लोग घायल, फायरिंग भी हुई

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned