प्रशासन हुआ सख्त, शादी समारोह में अब किसी पर भी यह काम करने पर लगी रोक

- जानलेवा साबित हो रहा वायु प्रदूषण

- प्रदूषण रोकने के लिए प्रशासन ने लिए निर्देश

लखनऊ. शहरों में बढ़ता प्रदूषण अब जानलेवा साबित हो रहा है। वायु प्रदूषण (Air Pollution) को कम करने के लिए प्रशासन सख्त है। शनिवार को डीएम अभिषेक प्रकाश ने सभी जिम्मेदार विभागों संग बैठक की। बैठक में प्रदूषण के स्तर को कम करने की बातों पर चर्चा की गई। एडीएम सिटी पश्चिम ने बताया कि शादी समारोह में बजने वाले पटाखों पर रोक लगा दी गई है।

शादी, जन्मदिन या किसी अन्य खुशी के मौके पर अक्सर पटाखे फोड़े जाते हैं। इससे प्रदूषण का स्तर बढ़ता है। बढ़ता प्रदूषण शहर की आबोहवा के लिए खतरनाक साबित हो रहा है। एडीएम सिटी पश्चिम संतोष कुमार वैश्य ने बताया कि पटाखों से अत्यधिक धुआं होता है जिससे जहरीले तत्व हवा में घुल जाते हैं। इसलिए अस्थायी तौर पर ऐसे पटाखों पर रोक लगा दी गई है।

हवा में मौजूद तत्व सेहत के लिए नुकसानदेह

लविवि के प्रोफेसर ध्रुव सेन सिंह ने बताया कि हवा में मौजूद अन्य खतरनाक तत्व सेहत के लिए नुकसानदेह हैं। हवा में घूमने वाले कणों को पर्टिकुलेट मैटर (पीएम) कहते हैं। बड़े कण को पीएम 10 और महीन कण को पीएम 2.5 की श्रेणा में बांटा गया है। पीएम 2.5 ज्यादा खतरनाक है, क्योंकि ये कण नजर नहीं आते।

लखनऊ में बढ़ा प्रदूषण

लखनऊ प्रदूषण के मामले में 23वें से 11वें स्थान में प्रवेश कर चुका है। रविवार को लखनऊ में एक्यूआई 283 रहा। मौजूदा समय में सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर कहे जाने वाले गाजियाबाद की स्थिति में कुछ सुधार हुआ है। शनिवार को गाजियाबाद में एक्यूआई 453 रहा। कानपुर की स्थिति में एक दिन के सुधार के बाद हालात फिर वैसे ही हो गए। रविवार को कानपुर में एक्यूआई 402 दर्ज किया गया। यह शनिवार को 379 और शुक्रवार को 403 था।

ये भी पढ़ें: हर तरफ फैला जहरीली हवा का कहर, प्रदूषण बना आफत, अब तक 5724 लोग हुए बीमार

Karishma Lalwani
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned