scriptcryptocurrency get Down Investors on loss in UP India | क्रिप्टो ने मचाई तबाही, 3200 निवेशकों के 2700 करोड़ डूबे, जानिए क्यों मिला झटका | Patrika News

क्रिप्टो ने मचाई तबाही, 3200 निवेशकों के 2700 करोड़ डूबे, जानिए क्यों मिला झटका

Cryptocurrency: क्रिप्टो करेंसी में निवेश करने वालों को बड़ा झटका मिला है । उत्तर प्रदेश के 3200 निवेशकों के करोड़ों की संपत्ति डूब गई।

लखनऊ

Updated: May 26, 2022 12:41:57 am

दिन दूनी रात चौगुनी रफ्तार से भाग रही क्रिप्टो करेंसी का बुलबुला ऐसा फूटा कि 5100 निवेशकों की जेब खाली हो गई। सबसे ज्यादा 3200 निवेशकों को 2000 करोड़ से ज्यादा का झटका लगा है। बचे निवेशकों की जेब से 700 करोड़ रुपये निकल गए। क्रिप्टो का बाजार धराशायी होने की चपेट में सबसे ज्यादा नए ग्राहक आए हैं, जिन्होंने लॉकडाउन के दौरान या बाद में पैसा लगाया था।
cryptocurrency get Down Investors on loss in UP India
cryptocurrency get Down Investors on loss in UP India
इसलिए 1400 करोड़ डूबे

अमेरिका में मंदी की आशंका ने सबसे ज्यादा क्रिप्टो बाजार को हिलाया। फिर भारत सहित अधिकांश बड़े देशों द्वारा क्रिप्टो को मान्यता न देने के स्पष्ट एलान ने आग में घी का काम किया। रही सही कसर सोना-चांदी में बढ़ते निवेश और रीयल इस्टेट की सुधरती हालत ने पूरी कर दी। क्रिप्टो बाजार में पिछले कुछ समय से एक नई करेंसी टेरा लूना छाई थी। इसकी लोकप्रियता का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि महज छह महीने में ये करेंसी 7100 रुपये की हो गई। इसके बारे में फैलाया गया कि केवल एक अरब टेरा लूना क्वाइन ही जनरेट होंगे। सीमित करेंसी की अफवाह से इसमें निवेश करने वालों की संख्या तीन महीने में राकेट की रफ्तार से भागी। अकेले कानपुर में इसके निवेशकों की संख्या 135 से बढ़कर 2100 पहुंच गई। अफवाहों का भ्रमजाल फूटा और एक अरब के बजाय 650 अरब टेरा लूना बाजार में आ गईं। नतीजा ये हुआ कि आज कीमत 7100 रुपये से सीधे 4 पैसे पर आ गिरी है। अकेले टेरा लूना ने ही यहां के निवेशकों के 1400 करोड़ खा लिए।
यह भी पढ़ें

2 गरीब, एक स्वीपर और एक बनाता पंक्चर, कैसे बन गए करोडपति

अधिकांश करेंसी के दाम 80 फीसदी नीचे

हाल ये हो गया है कि सोने की गिन्नी से भी ज्यादा भरोसेमंद मानी जानी वाली आभासी मुद्रा बिटक्वाइट के दाम 30 फीसदी लुढ़क चुके हैं। डॉजक्वाइन सहित 26 बड़ी क्रिप्टो करेंसी की कीमतें 80 फीसदी तक घट गई हैं। 1300 करोड़ से ज्यादा की रकम लोगों की डूब चुकी है। कानपुर के 19 बड़े निवेशकों के ही अकेले 42 करोड़ रुपय इस सुनामी में बह गए। वर्ष 2020 के पहले लॉकडाउन के बाद क्रिप्टो बाजार से जुड़े 9000 से ज्यादा निवेशकों की हालत भी इस मंदी ने खराब कर दी है।
7 हजार की करेंसी 4 पैसे में

क्रिप्टो मार्केट एक्सपर्ट प्रशांत अग्रवाल मंदी की आशंका की वजह से क्रिप्टो बाजार में पहली गिरावट आई। फिर अलग-अलग कारणों से क्रिप्टो बाजार गिरता गया। सबसे ज्यादा नुकसान टेरा लूना करेंसी ने दिया है। 7000 रुपए वाली करेंसी आज महज 4 पैसे की रह गई। बिटक्वाइन को छोड़कर लगभग करेंसी के दाम 80 फीसदी तक नीचे आ गए हैं। क्रिप्टो बाजार में निवेश कर सकते हैं लेकिन एक्सपर्ट की सलाह लेकर ही पैसा लगाएं। रातोंरात दोगुने के लालच में न पड़ें।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीज्योतिष: बुध का मिथुन राशि में गोचर 3 राशि के लोगों को बनाएगा धनवानपैसा कमाने में माहिर माने जाते हैं इस मूलांक के लोग, तुरंत निकलवा लेते हैं अपना कामजुलाई में चमकेगी इन 7 राशियों की किस्मत, अपार धन मिलने के प्रबल योगडेली ड्राइव के लिए बेस्ट हैं Maruti और Tata की ये सस्ती CNG कारें, कम खर्च में देती हैं 35Km तक का माइलेज़ज्योतिष: रिश्ते संभालने में बड़े कच्चे होते हैं इस राशि के लोगजान लीजिए तुलसी के इस पौधे को घर में लगाने से आती है सुख समृद्धिहाथ में इन निशान का होना मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होने का माना जाता है संकेत

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: उद्धव ठाकरे के इस्तीफे के बाद बीजेपी की बैठक आज, देवेंद्र फडणवीस करेंगे बड़ी घोषणाMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में फिर बनेगी बीजेपी की सरकार, देवेंद्र फडणवीस 1 जुलाई को ले सकते है सीएम पद की शपथउदयपुर मर्डर : आरोपियों के घर से जब्त की सामग्री, चार और संदिग्ध हिरासत मेंइलाहाबाद हाईकोर्ट से अनिल अंबानी को मिली राहत, उत्पीड़न कार्रवाई पर लगी रोक, जानिए पूरा मामलादो जुलाई से इन सुपरफास्ट ट्रेनों में कर सकेगें जनरल टिकट पर यात्राPOLITICS: मध्यप्रदेश की सियासत से परिवारवाद का सफाया शुरूUddhav Thackeray Resigns: फ्लोर टेस्ट से पहले उद्धव ठाकरे ने सीएम और MLC पद से दिया इस्तीफा, कहा- मेरी शिवसेना मुझसे कोई नहीं छीन सकताउदयपुर हत्याकांड के तार पाकिस्तान से जुड़े, दावत ए इस्लामी संगठन से सम्पर्क में थे आरोपी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.