scriptDairy will be removed from residential areas in all city of up | शहरों में रिहायसी इलाकों से हटेंगी डेयरी, सरकारी आदेश जारी | Patrika News

शहरों में रिहायसी इलाकों से हटेंगी डेयरी, सरकारी आदेश जारी

उत्तर प्रदेश में शहरी क्षेत्रों से आवारा पशुओं और डेयरी को हटाने के लिए सरकार के स्तर पर बड़ा फैसला कर लिया गया है।

लखनऊ

Published: March 07, 2022 11:00:59 pm

उत्तर प्रदेश के डेयरी फार्मों को जल्द ही आवासीय क्षेत्रों से हटा दिया जाएगा और उन्हें स्वयं या उद्यमियों के साथ साझेदारी में बायोगैस संयंत्र स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा, ताकि गोजातीय अपशिष्ट से सीएनजी (बायो-सीएनजी) का उत्पादन किया जा सके। सूत्रों के मुताबिक, राज्य सरकार नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) के हालिया दिशानिर्देशों को ध्यान में रखते हुए इस संबंध में एक नई नीति पर काम कर रही है। इन दिशानिर्देशों में गोजातीय अपशिष्ट-गोबर और मूत्र के पर्यावरण के अनुकूल निपटान पर जोर देते हुए सभी डेयरियों को शहरों और गांवों के आवासीय क्षेत्रों से बाहर स्थानांतरित करने की मांग की गई है।
File Photo of Dairy in Up
File Photo of Dairy in Up
पशुपालन विभाग में नियम

पशुपालन विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मुख्य सचिव डी. एस. मिश्रा ने इस संबंध में पशुपालन विभाग और प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों के साथ बैठक कर 18 मार्च को होने वाली अगली बैठक में अपनी परियोजना रिपोर्ट पेश करने को कहा, जिसके बाद नई सरकार नीति बनाएगी। बैठक में प्रारंभिक चर्चा के अनुसार 15 से अधिक गोजातीय पशुओं वाले सभी डेयरी फार्मों को रिहायशी इलाकों से बाहर ले जाया जाएगा।
बड़े फार्मो को स्वयं या उद्यमियों या गैर सरकारी संगठनों के सहयोग से बायोगैस/कंप्रेस्ड बायोगैस उत्पादन संयंत्र स्थापित करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा, ताकि गोजातीय गोबर से सीएनजी का उत्पादन किया जा सके और उसे स्थानीय लोगों को बेचा जा सके। अधिकारी ने कहा, "छोटे डेयरी फार्मों को डंग वुड, फूलदान, वर्मी कम्पोस्टिंग आदि बनाने के लिए मशीनीकृत इकाइयां स्थापित करने के लिए कहा जाएगा। इसके अलावा 15 से कम गोजातीय पशुओं वाले परिसरों को 'डेयरी' के रूप में वर्गीकृत नहीं किया जाएगा।" उन्होंने कहा कि सभी डेयरी फार्मों को पानी की बर्बादी रोकने के लिए भी निर्देशित किया जाएगा। स्थानीय निकाय/निगम/एसपीसीबी (राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड) यह सुनिश्चित करेंगे कि अशोधित कचरा (अनट्रिटिड वेस्ट) परिसर के बाहर न बहाया जाए।
गोवंश की आबादी करीब 5.20 करोड़

उत्तर प्रदेश में गोवंश की आबादी करीब 5.20 करोड़ बताई गई है। अधिकारी ने कहा, "डेयरी फार्मों और गौशालाओं में गोजातीय गोबर का निपटान सबसे बड़ी चुनौती है। हालांकि, गोजातीय गोबर अगर प्रभावी ढंग से उपयोग किया जाता है, तो खाद और ऊर्जा का संसाधन या रिसोर्स हो सकता है।" उन्होंने कहा, "बायोगैस में सीएनजी के समान कैलोरी मान (कैलोरिफिक वैल्यू) और अन्य गुण होते हैं। इसलिए, इसे ऑटोमोटिव, औद्योगिक और वाणिज्यिक में सीएनजी के प्रतिस्थापन के रूप में हरित नवीकरणीय ईंधन के रूप में उपयोग किया जा सकता है।"

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

ज्योतिष: ऊंची किस्मत लेकर जन्मी होती हैं इन नाम की लड़कियां, लाइफ में खूब कमाती हैं पैसाशनि देव जल्द कर्क, वृश्चिक और मीन वालों को देने वाले हैं बड़ी राहत, ये है वजहताजमहल बनाने वाले कारीगर के वंशज ने खोले कई राजपापी ग्रह राहु 2023 तक 3 राशियों पर रहेगा मेहरबान, हर काम में मिलेगी सफलताजून का महीना इन 4 राशि वालों के लिए हो सकता है शानदार, ग्रह-नक्षत्रों का खूब मिलेगा साथJaya Kishori: शादी को लेकर जया किशोरी को इस बात का है डर, रखी है ये शर्तखुशखबरी: LPG घरेलू गैस सिलेंडर का रेट कम करने का फैसला, जानें कितनी मिलेगी राहतनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

Archery World Cup: भारतीय कंपाउंड टीम ने जीता गोल्ड मेडल, फ्रांस को हरा लगातार दूसरी बार बने चैम्पियनआय से अधिक संपत्ति मामले में ओम प्रकाश चौटाला दोषी करार, 26 मई को सजा पर होगी बहसगुजरात में BJP को बड़ा झटका, कांग्रेस व आदिवासियों के लगातार विरोध के बाद पार-तापी नर्मदा रिवर लिंक प्रोजेक्ट रद्दलंदन में राहुल गांधी के दिए बयान पर BJP हमलावर, बोली- 1984 से केरोसिन लेकर घूम रही कांग्रेसThailand Open 2022: सेमीफाइनल मुक़ाबले में ओलंपिक गोल्ड मेडलिस्ट से हारीं सिंधु, टूर्नामेंट से हुई बाहरपैंगोंग झील पर जारी गतिरोध के बीच रेलवे ने सुपरफास्ट ट्रेनों के लिए चीनी कंपनी को कॉन्ट्रैक्ट क्यों दिया?Rajiv Gandhi 31st Death Anniversary: अधीर रंजन ने ये क्या कह दिया, Tweet डिलीट कर देनी पड़ रही सफाई, FIR तक पहुंची बातपाकिस्तान पुलिस ने पूर्व पीएम इमरान खान के आवास पर की छापेमारी
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.