डिप्टी सीएम से मिले नाराज भाजपा पार्षद, कहा- विकास कार्य नहीं शुरू हुए तो देंगे इस्तीफा

डिप्टी सीएम से मिले नाराज भाजपा पार्षद, कहा- विकास कार्य नहीं शुरू हुए तो देंगे इस्तीफा

Hariom Dwivedi | Publish: Jul, 14 2018 12:54:44 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लखनऊ दौरे से पहले ही बीजेपी में बगावती सुर तेज हो गये हैं...

लखनऊ. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 29 जुलाई को लखनऊ आ रहे हैं। राजधानी में वह जहां पार्टी के बड़े नेताओं से मुलाकात करेंगे, वहीं कार्यकर्ताओं में 2019 में जीत का मंत्र देंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के दौरे से पहले ही बीजेपी में बगावती सुर तेज हो गये हैं। लखनऊ के दो दर्जन से अधिक भाजपा पार्षदों ने नाराजगी जताते हुए इस्तीफे की धमकी दी है। भाजपा पार्षदों ने सूबे के उपमुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा से मिलकर उन्हें नाराजगी की वजह बताई है। बीजेपी पार्षदों की धमकी के बाद बीजेपी में हड़कंप मच गया है। डिप्टी सीएम ने आनन-फानन में उनकी नाराजगी दूर करने का आश्वासन दिया और कहा कि जल्द ही अफसरों संग मीटिंग कर उनकी समस्याओं का हल निकालेंगे।

शुक्रवार को दो दर्जन से अधिक पार्षदों ने उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा से मिले और अपनी बात बताई। पार्षदों ने कहा कि चुनाव हुए करीब 7 महीने हो चुके हैं, लेकिन अभी तक उनके इलाकों में काम शुरू नहीं हुई है। इससे वह जनता से किये वादे पूरे नहीं कर पा रहे हैं। ऐसे में 2019 के लोकसभा चुनाव के दौरान वह वोट कैसे मांगने जाएंगे। इस दौरान कुछ भाजपा पार्षदों ने साफ कहा कि अगर उनके क्षेत्रों में विकास कार्य शीघ्र न शुरू हुए तो वह इस्तीफा दे देंगे। डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा ने नाराज पार्षदों को समझाते हुए कहा कि जल्द ही नगर विकास मंत्री, महापौर व अफसरों संग बैठक कर विकास का खाका खींचा जाएगा।

बीजेपी में मचा हड़कंप
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 29 जुन को लखनऊ आ रहे हैं। यहां वह जहां विरोधियों पर निशाना साधेंगे, वहीं पार्टी कार्यकर्ताओं व नेताओं को एकजुट रहने का मंत्र भी देंगे। लेकिन जिस तरह से पीएम के दौरे से कुछ दिन पहले ही भाजपा पार्षदों ने नाराजगी जताई है, बीजेपी में हड़कंप मच गया है।

पार्षदों ने कहा- ... तो दे देंगे इस्तीफा
शुक्रवार को डिप्टी सीएम से पार्षद रमेश कपूर बाबा, दिलीप कुमार श्रीवास्तव, मुन्ना मिश्रा, रामकृष्ण यादव, राजेश सिंह गब्बर, रजनीश गुप्ता, कुमकुम राजपूत, सुशील तिवारी, पार्षद पति गिरीश गुप्ता, संजय राठौर और राम तिवारी ने मुलाकात की। इन पार्षदों ने अपनी नाराजगी की वजह बताई। इस दौरान इंदिरा प्रियदर्शनी के पार्षद राजकुमार वर्मा ने कहा कि अगर यही स्थिति रही तो वह सात-आठ पार्षदों के साथ इस्तीफा दे देंगे।

Ad Block is Banned