डिजिटल झांकी में नौका विहार को निकले राधा कृष्ण, शंकरजी का मसानी नृत्य

डिजिटल झांकी में नौका विहार को निकले राधा कृष्ण, शंकरजी का मसानी नृत्य

Anil Ankur | Publish: Sep, 07 2018 08:24:41 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

सेल्फी प्वांइट 20 फीट ऊंचे शिवलिंग का दूध से अभिषेक

लखनऊ। मित्तल परिवार की ओर से अमीनाबाद रोड न्यू गणेशगंज में श्रीकृष्ण जन्मोत्सव एवं डिजिटल मूविंग झांकियों की श्रृखंला में शुक्रवार को श्री राधा कृष्ण का नौका विहार की झांकी एवं सांस्कृतिक संध्या लाइव परफॉमेंस में सौरभ तिलकधारी की झांकियों का प्रदर्शन किया गया। सेल्फी प्वांइट 20 फीट ऊंचे शिवलिंग का दूध से अभिषेक किया गया।
झांकी संयोजक अनुपम मित्तल ने बताया कि 8 सितम्बर को श्री कन्हैयाजी की महारास लीला व सांस्कृतिक संध्या में श्रीकृष्ण छठी उत्सव, दो जोड़े राधा कृष्ण की फूलों की होली, राजश्री म्यूजिक ग्रुप द्वारा योगेन्द्र अग्रवाल, जया शुक्ला, जयनेन्द्र भजनों व गीतों को प्रस्तुत करेंगे। छठी उत्सव पर विजयी प्रतिभागियों पुरस्कृत किया जायेगा। आयोजन स्थल पर चार द्वारा बनाये गये है जिनमें कोलकता का काली मंदिर श्री दक्षिणेश्वर द्वार, खाटूश्याम द्वार, छोटी काशी द्वार और श्री राधा कृष्ण द्वार को एलईडी लाइटों से सजाया गया है।
श्री राधा कृष्ण का नौका विहार की झांकी में शरद् ऋतु ने अपनी समूची शोभा वृन्दावन धाम में प्रकट कर दी। इस ऋतु में श्रीराधा श्रीकृष्ण व गोपियों के साथ यमुना में रत्नजड़ित दिव्य नाव पर विहार करते हैं। उनके चारों ओर गुनगुनाते हुये भौंरे उड़ रहे थे मानो गन्धर्वराज कान्हा की कीर्ति का गान कर रहे हों। यमुनाजल में गोपियों ने प्रेमभरी चितवन से भगवान की ओर देख-देखकर तथा हंस-हंसकर उन पर इधर-उधर से जल की खूब बौछारें डालीं, खूब अठखेलियाँ कीं। विमानों पर चढ़े हुये देवता पुष्पों की वर्षा करके उनकी स्तुति करने लगे। इसी समय श्रीकृष्ण की मुरली बज उठी जिसे सुनते ही ब्रजवासियों का मन श्रीकृष्णमय हो गया। श्रृंगाररस से परिपूरित दृश्यों को डिजिटल मूविंग झांकियों को एलईडी लाइटों एवं साउंड के माध्यम से जीवंत किया गया। वहीं दूसरी ओर सांस्कृतिक संध्या लाइव परफॉमेंस के अंतर्गत सौरभ तिलकधारी की झांकियां में राधा कृष्ण का नृत्य, शंकरजी का छोटी काशी मसानी नृत्य (भस्म नृत्य), राधा कृष्ण व ग्वाल बालों के साथ फूलों की होली, साई बाबा झांकी, राधा कृष्ण का मयूर नृत्य, रासलीला की झांकियों नृत्यों के मंचन के साथ ही कई तरह की झांकियां भी प्रस्तुत की गई।
अन्य झांकियों में मयूर झूला झूलते राधा कृष्ण, अमरनाथ में तांडव करते शिव, हनुमानजी ने सीना चीरकर राम सीता की छवि दिखाने, तुलसीदासजी द्वारा रामायण पाठ करते, बंदर संग मादारी, सपेरा, भालू का नाच दिखाया गया। इसके साथ ही विशाल झरना और पहाड़ों में माता का भव्य दरबार, राम भक्त हनुमान और महादेव भी दिखेगें। शेर के डर से दीवार पर चढ़ना, आग उगलता डायनासोर सेल्फी थ्रीडी प्वाइंट बच्चों आकर्षण केन्द्र है।

Ad Block is Banned