शिवसेना-विहिप के कार्यक्रम से दहशत में अयोध्या के मुसलमान, बाबरी पक्षकार के बयान पर DGP ने दिया यह जवाब

बाबरी मस्जिद के मुख्य मुद्दई हैं इकबाल अंसारी...

By: Hariom Dwivedi

Updated: 14 Nov 2018, 03:24 PM IST

लखनऊ. अयोध्या में शिवसेना और विश्व हिंदू परिषद के कार्यक्रम को लेकर बाबरी मस्जिद के मुख्य मुद्दई इकबाल अंसारी के बयान से हड़कम्प मच गया है। इकबाल अंसारी ने कहा कि इन कार्यक्रमों के चलते अयोध्या के मुसलमान दशहत में हैं और खुद को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। प्रदेश सरकार पर नाइंसाफी का आरोप लगाते हुए अंसारी ने कहा कि अगर अयोध्या में मुसलमानों की सुरक्षा नहीं बढ़ाई गई तो 25 नवम्बर पहले मुसलमान अयोध्या छोड़ देंगे। इकबाल अंसारी के बयान पर सूबे के डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि उन्होंने अभी तक इकबाल अंसारी का बयान नहीं सुना है, लेकिन अगर किसी को भी असुरक्षा लग रही है तो वह तुरंत क्षेत्रीय पुलिस से संपर्क करे, उसकी समस्या का फौरन हल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश की 23 करोड़ जनता और अल्पसंख्यकों को सुरक्षित रखने का संकल्प उत्तर प्रदेश पुलिस का है।

यह भी पढ़ें : अयोध्या मामला- संत महासम्मेलन के जरिये दम दिखाने को तैयार विहिप, मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड की भी तैयारियां तेज

डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि पिछले डेढ़ साल से पूरे प्रदेश में कहीं कोई साम्प्रदायिक दंगा नहीं हुआ है। यह पुलिस की विश्वसनीयता का ही परिचायक है। पुलिस 48 घंटों के भीतक किसी भी घटना का खुलासा कर दे रही है। फिर अगर कोई खुद को असुरक्षित महसूस करता है तो पुलिस के पास आये, हम उसे पूरी सुरक्षा मुहैया कराएंगे। गौरतलब है कि राम मंदिर निर्माण की मंशा लेकर 24 व 25 नवम्बर को अयोध्या में शिवसेना और विश्व हिंदू परिषद का आशीर्वाद व धर्मसभा का आयोजन होना है। दोनों की कोशिश भीड़ जुटाकर सरकार पर राम मंदिर निर्माण के लिए दबाव बनाना है।

Show More
Hariom Dwivedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned