मुस्लिमों की नमाज और हिंदुओं की हनुमान चालीसा को लेकर बड़ा फैसला, डीजीपी ओपी सिंह ने कहा- हम नहीं करने देंगे ऐसा कुछ...

मुस्लिमों की नमाज और हिंदुओं की हनुमान चालीसा को लेकर बड़ा फैसला, डीजीपी ओपी सिंह ने कहा- हम नहीं करने देंगे ऐसा कुछ...

Nitin Srivastva | Updated: 14 Aug 2019, 10:53:28 AM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

- उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह (DGP OP Singh) का बड़ा बयान

- सड़क पर नहीं होगी मुस्लिमों की नमाज (Muslim Namaz) और हिंदुओं की हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa)

- स्वतंत्रता दिवस (15 August) और कश्मीर (Kashmir) के हालातों के मद्देनजर यूपी में सिक्योरिटी अलर्ट

लखनऊ. डीजीपी ओपी सिंह (DGP OP Singh) ने बड़ा बयान देते हुए कहा है कि सड़कों पर नमाज (Namaz) और आरती को लेकर उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अलीगढ़ (Aligarh) और मेरठ (Meerut) से हुई शुरुआत को सारे जिलों में लागू करेंगे। ओपी सिंह के मुताबिक उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार (Yogi Adityanath Governemnt) की मंशा के मुताबिक हम सभी सार्वजनिक स्थानों (Public Place) पर लोगों को ऐसा कुछ भी नहीं करने देंगे, जिससे बाकी लोगों को परेशानी हो। इसके साथ ही DGP OP Singh ने बताया कि स्वतंत्रता दिवस (15 August) और कश्मीर (Kashmir) के हालातों के मद्देनजर यूपी में सिक्योरिटी अलर्ट (UP Security Alert) जारी किया गया है।

 

यह भी पढ़ें: मुलायम-अखिलेश के खिलाफ CBI जांच को लेकर बड़ी खबर, सुप्रीम कोर्ट से फिर बढ़ेगी मुसीबत

 

यूपी में जारी सिक्योरिटी अलर्ट

उत्तर प्रदेश के डीजीपी ओपी सिंह (Uttar Pradesh DGP OP Singh) ने कहा कि यूपी में जारी सिक्योरिटा अलर्ट को देखते हुए हाई रिस्क एरिया में बम स्क्वाड, स्निफर डॉग, एंटी सबोटाज चेकिंग के निर्देश दिए गए हैं। भीड़-भाड़ वाली जगहों- मॉल्स (Mall), रेलवे स्टेशन (Railway Station) और बस स्टेशन (Bus Station) पर चेकिंग के निर्देश दिए गए हैं। अफसरों को फुट पेट्रोलिंग के निर्देश दिए गए हैं। UP DGP ने कहा कि हालांकि उत्तर प्रदेश में गड़बड़ी की कोई खास सूचना नहीं है, लेकिन फिर भी एहतियातन ऐसे कदम उठाये जा रहे हैं। ओपी सिंह ने कहा कि बकरीद (Bakrid) में हमने प्रतिबंधित पशुओं को कटने नहीं दिया है। ईद उल अजहा (Eid ul Azha 2019) और सावन (Sawan) का आखिरी सोमवार एक साथ पड़ना हम सभी के लिये एक बड़ी चुनौती थी। बदायूं (Badaun) को छोड़कर उत्तर प्रदेश में कहीं कोई गड़बड़ नहीं हुई है।

 

सड़क पर न तो नमाज और न आरती-हनुमान चालीसा

आपको बता दें कि मेरठ (Meerut) और अलीगढ़ (Aligarh) में सड़कों पर नमाज पढ़ने पर पुलिस-प्रशासन ने पूरी तरह रोक लगा दी है। अभी तक हर शुक्रवार को सड़कों पर जुम्मे की नमाज पढ़ी जाती थी। इसके चलते सड़कों पर जाम लग जाता था। जिसको देखते हुए मेरठ के एसएसपी अजय साहनी (SSP Ajay Sahni) ने आदेश जारी करते हुए कहा कि अब जिले की सड़कों पर नमाज नहीं पढ़ी जाएगी। इसके साथ ही आरती या फिर हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa) का पाठ करने पर भी रोक लगा दी है। हालांकि ईद (Eid) पर नमाज पढ़ने को लेकर इस तरह की पाबंदी नहीं लगाई गई। इसके साथ ही पिछले दिनों उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के अलीगढ़ (Aligarh) में जिला प्रशासन ने सड़क पर किसी भी प्रकार के धार्मिक आयोजन पर रोक लगा दी है। अब अलीगढ़ (Aligarh) की सड़कों पर न तो नमाज (Namaz) पढ़ी जा सकेगी और न ही आरती (Arti) या फिर हनुमान चालीसा (Hanuman Chalisa) का पाठ किया जा सकेगा। हालांकि ईद पर नमाज (Eid Namaz) पढ़ने को लेकर इस तरह की पाबंदी नहीं लगाई गई।

 

यह भी पढ़ें: कावड़ियों के डीजे बंद कराने को लेकर बढ़ा विवाद, पुलिसवालों को जमकर पीटा, मौके पर पहुंची कई थानों की पुलिस

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned