अचानक पहुँची जनपद के 5 बड़ी ऑक्सीजन आपूर्तिकर्ता इकाइयों पर, किया औचक निरीक्षण

समस्त निर्माण इकाइयों को मैनपावर बढ़ा कर उत्पादन बढ़ाने के दिये निर्देश

By: Ritesh Singh

Updated: 22 Apr 2021, 07:25 PM IST

लखनऊ। कोविड रोगियों के उपचार के लिये ऑक्सीजन की उपलब्धता के भौतिक सत्यापन के उद्देश्य से आज प्रभारी जिलाधिकारी डा. रोशन जैकब द्वारा जनपद के 5 बड़े ऑक्सीजन उत्पादन इकाइयों का औचक निरीक्षण किया गया। प्रभारी जिलाधिकारी द्वारा अपने निरीक्षण की शुरुआत मुरारी गैसेज प्राइवेट लिमिटेड नादर गंज तहसील सरोजनीनगर से की गई। जिसके बाद श्रीनाथ गैसेज, नादर गंज, पिपरहट गैसेज दरोगा खेड़ा, मैसर्स स्टार ऑक्सीजन गैस प्राइवेट लिमिटेड कृष्णा नगर व औध फिलिंग सेंटर तालकटोरा ऐशबाग़ का निरीक्षण किया गया।

निरीक्षण में अवध फिलिंग सेंटर को छोड़ कर सभी इकाइयों में ऑक्सीजन का उत्पादन होता पाया गया। जिलाधिकारी द्वारा सभी उत्पादन इकाइयों का निरीक्षण किया और निर्देश दिया कि सभी उत्पादन ईकाई आवश्यकतानुसार मैनपवर बढ़ा कर ऑक्सीजन का उत्पादन दुगना करने का प्रयास करें। कोरोनो काल मे सभी लोगो को ऑक्सीजन की अत्याधिक आवश्यकता है। जिलाधिकारी ने बताया कि लोग परेशान न हो वरीयता के आधार पर सबसे पहले शासकीय व प्राइवेट हास्पिटलो को ऑक्सीजन उपलब्ध कराई जाए, तत्पश्चात इसके अतिरिक्त किसी व्यक्ति को किसी रोगी के लिए ऑक्सीजन चाहिए है तो वह व्यक्ति आधार कार्ड, डॉक्टर का प्रिस्क्रिप्शन और डॉक्टर का नाम आदि विवरण को दिखा कर ऑक्सीजन प्राप्त कर सकता है।

साथ ही निर्देश दिया कि यदि कोई एक ही व्यक्ति बड़ी संख्या में सिलेंडर खरीदता पाया जाता है तो उसे सिलेंडर न दिया जाए, ताकि ऑक्सीजन की कालाबाज़ारी को रोका जा सके। साथ ही निर्देश दिया कि ऑक्सीजन की कालाबाज़ारी करने वालो पर कड़ी नजर रखी जाए और एपेडेमिक एक्ट के तहत कड़ी कार्यवाही करना सुनिश्चित किया जाए। निरीक्षण में अपर जिलाधिकारी वित्त/राजस्व विपिन मिश्रा व अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

Show More
Ritesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned