लाइसेंस घर भूल गये तो भी नहीं होगा चालान, देश भर में गाड़ी चलाइये बेफिक्र

लाइसेंस घर भूल गये तो भी नहीं होगा चालान, देश भर में गाड़ी चलाइये बेफिक्र
E-driving license

Rohit Singh | Updated: 28 Dec 2016, 01:31:00 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

इस बारे में यूपी परिवहन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि सारथी फोर में देश भर में मौजूद सभी लाइसेंस का डेटा ऑनलाइन उपलब्ध हो जाएगा।

लखनऊ। अब जेब में ड्राइविंग लाइसेंस रखकर चलने को आप बाध्य नहीं हो सकेंगे। इसके अलावा लाइसेंस घर पर भूल जाने पर आपकी गाड़ी का चालान भी नहीं कटेगा। क्योंकि केंद्रीय परिवहन मंत्रालय की ओर से लाइसेंस की हार्ड कॉपी रखने की अनिवार्यता को खत्म करने पर विचार किया जा रहा है। इसकी जगह अब ई- ड्राइविंग लाइसेंस के रूप में नया विकल्प आ सकता है।

इस बारे में यूपी परिवहन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि सारथी फोर में देश भर में मौजूद सभी लाइसेंस का डेटा ऑनलाइन उपलब्ध हो जाएगा। इसके बाद लाइसेंस को केवल एक सामान्य पेपर पर प्रिंट कर जारी किया जाएगा।

इससे चेकिंग के दौरान यदि किसी अधिकारी को लाइसेंस के बारे में किसी तरह का शक होता है तो वह उसी समय उसकी जांच कर सकता है, जैसे इस समय गाडि़यों के नंबर की जांच की जा रही है। गाड़ियों के नंबर की जांच करने वाले अधिकारियों को वाहन फोर की सुविधा दी गई है। इसमें जैसे ही गाड़ी का नम्बर फीड किया जाता है तो उसके मालिक का नाम समेत सभी जानकारी सामने आ जाती है। इसी तरह से सारथी फोर में लाइसेंस का नम्बर डालते ही संबंधित व्यक्ति का लाइसेंस सामने आ जाएगा। सिर्फ इतना ही नहीं जिसका लाइसेंस वह उसे कहीं भी प्रिंट करा सकता है।

जल्द लागू होगी व्यवस्था

अधिकारियों की मानें तो केंद्रीय परिवहन मंत्रालय की ओर से ये व्यवस्था पूरे देश में लागू करने की तैयारी है। इसके साथ ही लाइसेंस का ब्यौरा ऑनलाइन होते ही स्मार्ट लाइसेंस में लगने वाली चिप भी हटा दी जाएगी। केंद्रीय परिवहन मंत्रालय इसकी तैयारी में जुटा हुआ है।

एक्सपर्ट्स के मुताबिक़ विभाग की ओर से यह चिप बाहर से मंगाई जाती है और इसका कोई खास प्रयोग भी नहीं है। इसके लिए भारत सरकार को खासी रकम खर्च करनी पड़ रही है। इस चिप में चालक का लाइसेंस नम्बर, लाइसेंस का प्रकार, चालक का नाम, पता और बल्ड ग्रुप की डिटेल होती है। ऐसे में दिल्ली में एनआईसी सारथी फोर (सॉफ्टवेयर) को अपडेट कर रहा है। इसके अपडेट होते ही स्मार्ट कार्ड में लगने वाली चिप की व्यवस्था खत्म कर दी जायेगी।

इस सम्बन्ध में परिवहन आयुक्त के रवींद्र नायक ने बताया कि कई बार लोग जल्दबाजी में ड्राइविंग लाइसेंस साथ ले जाना भूल जाते हैं। ऐसे में लाइसेंस होते हुए भी कई बार चेकिंग के दौरान लोगों को जुर्माना भरना पड़ता है। सारथी फोर आते ही देश के किसी भी लाइसेंस की जांच मोबाइल पर की जा सकेगी। ऑनलाइन सुविधा होने पर चिप का प्रयोग भी खत्म हो जाएगा।
Show More
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned