दिवाली पर जलाएं Eco-friendly पटाखे, इतनी हैं कीमत, जानें कहां बिक रहे

बाजार में ऐसे पटाखे भी उपलब्ध हैं जो धुआं नहीं छोड़ेंगे, हां रोशनी खूब बिखेरेंगे। इन इको फ्रेंडली पटाखों (Eco friendly crackers) की कीमत आम पटाखों की तुलना में ज्यादा ह

By: Abhishek Gupta

Published: 14 Nov 2020, 03:17 PM IST

लखनऊ. नवंबर माह में धुए और धुंध के कारण वायु प्रदूषण (Air pollution) में भारी इजाफा देखने को मिला है। दिवाली (Diwali) पर स्थिति और गंभीर न बने इस कारण लखनऊ समेत प्रदेश के कई जिलों में पटाखें फोड़ने पर रोक लगाई गई है। लेकिन बाजार में ऐसे पटाखे भी उपलब्ध हैं जो धुआं नहीं छोड़ेंगे, हां रोशनी खूब बिखेरेंगे। हालांकि इन इको फ्रेंडली पटाखों (Eco friendly crackers) की कीमत आम पटाखों की तुलना में ज्यादा है, लेकिन पर्यावरण के दृष्टिकोण से लोग इन्हें खूब खरीद रहे हैं।

ये भी पढ़ें- Samajwadi Party ने दी डिप्टी सीएम को दिवाली की शुभकामनाएं, जानिए फिर क्या कहा

काकोरी के थोक बाजार में ईको फ्रेडली पटाखों की भरमार है। इनमें सबसे महंगे और वजनदार है '21 सेंचुरी' जिसकी कीमत 8200 रुपये है। इसकी खासियत यह है कि इसमें 21 नलकियां लगी हुई हैं जिनमें इको ग्रीन मैटीरियल भरा हुआ है। यह एक निश्चित ऊंचाई पर जाकर एक-एक कर अलग-अलग रंगों के साथ 21 बार धमाके के साथ फटता है, जिसे आकाश जगमग हो जाता है। फिर आती है मामूूली आवाज वाले क्रैकिंग कोकोनट की बारी। 1200 रुपये की कीमत वाला यह पटाखा पांच मिनट तक आकाश में चमकता है और नारियल के पेड़ जैसी की आकृति बनती है।

ये भी पढ़ें- 500 साल बाद जले खुशियों के 15 हजार दीप, योगी सरकार ने तोड़ा खुद का रिकार्ड

बाजार में कारोबारी भी वायु प्रदूषण की गंभीरता को समझ रहे हैं। लोगों में भी इसको लेकर जागरूकता दिख रही है। जिससे इन ईको फ्रेंडली पटाखों की डिमांड बढ़ी है।

Show More
Abhishek Gupta
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned