scriptelder line became useful to help senior citizens | सीनियर सिटीजन की मदद के लिए मसीहा बनी 'एल्डर लाइन', साल भर में लाखों कॉल प्राप्त | Patrika News

सीनियर सिटीजन की मदद के लिए मसीहा बनी 'एल्डर लाइन', साल भर में लाखों कॉल प्राप्त

Elder Line for Senior Citizens: UPICON के प्रबंध निदेशक प्रवीण सिंह ने बताया कि हेल्पलाइन सुबह 8:00 बजे से रात 8:00 बजे तक चालू रहती है तथा इसके द्वारा 48 घंटों के भीतर वरिष्ठ नागरिकों को मदद पहुंचाई जाती है।

लखनऊ

Published: May 25, 2022 08:14:11 pm

प्रदेश के सीनियर सिटीजन की सुरक्षा को सुनिश्चित करने की दिशा में प्रोजेक्ट 'एल्डर लाइन' सेवा काफी उपयोगी सिद्ध हो रही है। लगभग पिछले एक वर्ष की अवधि में 67,027 से अधिक 'अकशनेबल कॉल्स' सहित इस टोल फ्री नंबर पर 2,40,335 से अधिक कॉल प्राप्त हुई हैं। बुजुर्गों की पेंशन, कानूनी मुद्दों पर मुफ्त जानकारी और मार्गदर्शन प्रदान किए जाने साथ ही उनकी भावनात्मक रूप से मदद करने और उनके साथ हो रहे दुर्व्यवहार के मामलों में सहायता करने के लिए योगी आदित्यनाथ सरकार ने 17 मई 2021 को पूरे राज्य में हेल्पलाइन को प्रभावी ढंग से लागू किया था। जिसे एक साल में जबरदस्त रिस्पॉन्स मिला है। अब तक, अधिकांश कॉल करने वालों ने सरकारी कल्याण योजनाओं, स्वास्थ्य संबंधी जानकारी, कोविड सपोर्ट, कानूनी सहायता और भावनात्मक सहारे के लिए के बारे में कॉल कर के जानकारी मांगी।
सीनियर सिटीजन की मदद के लिए मसीहा बनी 'एल्डर लाइन', साल भर में लाखों कॉल प्राप्त
48 घंटों के भीतर वरिष्ठ नागरिकों को मिलती है मदद

बता दें कि वरिष्ठ नागरिकों के लिए शुरू की गई यह टोल-फ्री हेल्पलाइन-14567-उत्तर प्रदेश इंडस्ट्रियल कंसल्टेंट्स लिमिटेड (UPICON) द्वारा संचालित है। UPICON के प्रबंध निदेशक प्रवीण सिंह ने बताया कि हेल्पलाइन सुबह 8:00 बजे से रात 8:00 बजे तक चालू रहती है तथा इसके द्वारा 48 घंटों के भीतर वरिष्ठ नागरिकों को मदद पहुंचाई जाती है। हेल्पलाइन से बुजुर्गों को मुफ्त जानकारी, मार्गदर्शन, दुर्व्यवहार के मामले में हस्तक्षेप, भावनात्मक समर्थन प्रदान करती है।
ये भी पढ़ें: अदालत में सिर्फ खड़े होने की इतनी फीस वसूलते हैं Kapil Sibal, अब तक इन बड़े नेताओं का लड़ चुके केस

हर जिले में फील्ड रिस्पांस ऑफिसर की प्रतिनियुक्ति

शिकायतों के समाधान के लिए हर जिले में एक फील्ड रिस्पांस ऑफिसर (FRO) की प्रतिनियुक्ति की गई है। ‘एल्डरलाइन' सेवा के द्वारा चिकित्सा या व्यक्तिगत आपात स्थिति, अवसाद, अकेलापन को सर्वोच्च प्राथमिकता दी जाती है, वहीं संपत्ति विवाद, कल्याणकारी योजनाओं के मामले में देरी और अन्य मुद्दों को संबंधित विभाग को पारित कर दिया जाता है।
ये भी पढ़ें: अखिलेश से नाराजगी के बीच शिवपाल-आजम की सीक्रेट मीटिंग, जाने क्या है आखिर माजरा

पीएम मोदी ने भी सराहना की

वर्तमान में, एल्डर लाइन चार निर्धारित मापदंडों- सूचना (स्वास्थ्य संबंधी, आश्रय/वृद्धाश्रम, डे केयर सेंटर, देखभाल करने वाले, आदि), मार्गदर्शन (रखरखाव के मुद्दे, कानूनी, विवाद समाधान, पेंशन संबंधी, सरकारी योजनाएं), फील्ड हस्तक्षेप (दुर्व्यवहार, बचाव और बेघर बुजुर्गों के पुनर्मिलन के लिए देखभाल और समर्थन), चैट के माध्यम से भावनात्मक समर्थन (चिंता समाधान, संबंध प्रबंधन और पारिवारिक विवाद, अकेलापन) पर सेवाएं प्रदान करती है। आपको बता दें कि प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने बुजुर्गों की सेवा करने और उनकी मानसिक और शारीरिक बीमारियों को कम करने के लिए उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ सरकार द्वारा 'एल्डरलाइन' लागू करने की सराहना भी की थी।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

बीईओ का रिटायर्ड शिक्षक से रिश्वत मांगने का ऑडियो सोशल मीडिया पर वायरल, 60 हजार की थी डिमांडMumbai Rain: IMD की बड़ी भविष्यवाणी, मुंबई में अगले 24 घंटे में मूसलाधार बारिश होने की संभावनाIND vs ENG: Virat Kohli की खराब फॉर्म इंग्लैंड में भी जारी, 4 मैच खेलने वाले गेंदबाज ने किया आउट, देंखे विडियोMumbai News Live Updates: सीएम एकनाथ शिंदे ने कहा- भारी बारिश से जनता को कोई नुकसान न हो, इसके लिए टीम अलर्ट हैनूपुर शर्मा केस: कांग्रेस बोली- BJP सरकार को मांगनी चाहिएMaharashtra Politics: बीजेपी नेता राहुल नार्वेकर ने विधानसभा स्पीकर के लिए दाखिल किया नामांकन, 3 जुलाई को होगा चुनावRajasthan Monsoon Update: सात जिलों में भारी बारिश का अलर्ट, यहां झूम के बरसे बादलIndian Railway: अब सभी ट्रेनों में जनरल कोच शुरू
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.