पंचायत चुनाव : निर्वाचन आयोग ने वोटर लिस्ट की जारी, राजधानी में परिसीमन के बाद घट गई ग्राम पंचायतें

- पंचायत चुनाव के लिए जारी अंतिम मतदाता सूची में 62,489 मतदाता बढ़े
- वोटर लिस्ट में कुल 2.10 करोड़ नामों में किया गया परिवर्तन

By: Neeraj Patel

Published: 23 Jan 2021, 02:12 PM IST

पत्रिका न्यूज नेटवर्क
लखनऊ. उत्तर प्रदेश में होने वाले पंचायत चुनाव को लेकर राज्य निर्वाचन आयोग ने 71 जिलों की अंतिम वोटर लिस्ट (Voter List) जारी कर दी है। इस बार होने वाले पंचायत चुनाव में 12.50 करोड़ वोटर अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। 2015 की अपेक्षा इस बार करीब 52 लाख वोटर बढ़े हैं। पिछली बार 11.76 करोड़ मतदाता थे। अपर निर्वाचन आयुक्त वेदप्रकाश वर्मा ने बताया कि इस बार वोटर लिस्ट में कुल 2.10 करोड़ नामों में परिवर्तन किया गया है और 39.36 लाख नाम संशोधित किए गए हैं। 1.09 करोड़ वोटरों के नाम हटाए गए हैं तो वहीं महिला वोटरों की संख्या 5.76 करोड़ है। वोटर लिस्ट में 45 फीसदी से अधिक वोटर 35 साल या उससे कम के हैं।

राजधानी लखनऊ में परिसीमन के बाद ग्राम पंचायतें घट गई हैं। इनमें शामिल गांव भी कम हो गए हैं। ऐसे में प्रधान, बीडीसी, डीडीसी और सदस्यों के पद भी घटे हैं। इसके उलट त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए जारी अंतिम मतदाता सूची में 62,489 मतदाता बढ़े हैं। अब पंचायतों में मतदाताओं की संख्या 10,57,702 हो गई है, जबकि पिछली बार साल 2015 के पंचायत चुनाव में 9,95,213 मतदाता थे। जिला प्रशासन पंचायतों में त्रिस्तरीय चुनाव करवाने की तैयारी कर रहा है। पंचायतों में मतदान केंद्र और बूथों की सूची तैयार की जा रही है। पंचायत चुनाव के लिए 626 मतदान केंद्र और 1748 मतदान स्थल बनाए गए हैं।

 

2_7.jpg

विशेष पुनरीक्षण अभियान चलाएगा आयोग

अब तक तैयार मतदाता सूची के मुताबिक कुल वोटर में तकरीबन 42.43 फीसद (5.58 करोड़) 35 वर्ष से कम आयु के युवा हैं। 36 से 60 वर्ष के जहां 42.83 फीसद वहीं 60 वर्ष से अधिक आयु के 11.73 फीसद वोटर हैं। सूत्रों के अनुसार इसको लेकर आयोग विशेष पुनरीक्षण अभियान चलाने को लेकर अधिसूचना एक-दो दिन में जारी कर सकता है। मतदाता सूची के विशेष पुनरीक्षण में अधिकतम 45 दिन लग सकते हैं।

Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned