scriptEmergency meeting to protest arrest of MLA Jignesh Mevani | भाजपा सरकार लोकतंत्र का कर रही है हनन-कांग्रेस विधानमंडल दल | Patrika News

भाजपा सरकार लोकतंत्र का कर रही है हनन-कांग्रेस विधानमंडल दल

.गुजरात के बड़गाम विधायक जिग्नेश मेवाणी की गिरफ्तारी असंवैधानिक - आराधना मिश्रा मोना

.कांग्रेस विधानमंडल दल की जिग्नेश मेवाणी के गिरफ्तारी के विरोध में आपात बैठक

 

लखनऊ

Published: April 25, 2022 06:00:36 pm


कांग्रेस विधानमण्डल दल की आज एक आपात बैठक सम्पन्न हुई जिसमें नेता कांग्रेस विधानमण्डल दल आराधना मिश्रा मोना, नेता कांग्रेस विधान परिषद दल दीपक सिंह, विधायक वीरेन्द्र चौधरी उपस्थित रहें। बैठक में गुजरात के बड़गाम विधायक जिग्नेश मेवाणी को प्रधानमंत्री पर किये गये ट्वीट के आधार पर कोकराझार पुलिस द्वारा गिरफ्तार किए जाने की कड़ी निन्दा की गयी। बैठक में इसे असम की भाजपा सरकार के तानाशाहीपूर्ण रवैए का नतीजा बताया गया।
भाजपा सरकार लोकतंत्र का कर रही है हनन-कांग्रेस विधानमंडल दल
भाजपा सरकार लोकतंत्र का कर रही है हनन-कांग्रेस विधानमंडल दल
अपने संबोधन में आराधना मिश्रा मोना ने कहा कि लोकतंत्र में प्रधानमंत्री हो या मुख्यमंत्री यदि उनका रवैया जनविरोधी दिखे तो विपक्ष का धर्म होता है सरकार को आईना दिखाये। साथ ही विपक्ष, आम जनता, पत्रकार, कवि, लेखक सभी सरकार से सवाल करते है तथा आलोचना भी करते है। यही लोकतंत्र की खूबसूरती है।
मोना ने आगे कहा कि पहली बार यह देखा जा रहा है कि केन्द्र या भाजपा शासित प्रदेशों में सरकार से सवाल पूछने पर, ट्वीट करने पर प्रताड़ित किया जाता है। ऐसी तमाम घटनायें हो रही हैं। अभी हाल ही में भाजपा के रास्ते पर चलते हुए पंजाब की सरकार के शह पर वहां कि पुलिस ने भी पूर्व विधायक अलका लाम्बा एवं मशहूर कवि कुमार विश्वास के खिलाफ एफ0आई0आर0 दर्ज कर पुलिस भेजी। यह संविधान में मिले मौलिक अधिकार का हनन है।

मोना ने आगे कहा कि गुजरात चुनाव को देखते हुए भाजपा चाहती है कि कोई भी सरकार से सवाल ना पूछे। एक जनप्रतिनिधि जो दलित समाज से आता है उसकी आवाज दबाने के लिए भाजपा सरकार द्वारा तरह-तरह के हथकण्डे अपनाये जा रहे है ताकि जिग्नेश मेवाणी के मनोबल को तोड़ा जा सके लेकिन कांग्रेस ऐसा होने नही देगी। कांग्रेस पार्टी जिग्नेश मेवाणी के साथ हर कदम पर खड़ी है। भाजपा सरकार को यह नहीं भूलना चाहिये कि यह प्रजातंत्र है सरकारे आती जाती रहती है। द्वेष की भावना से किये गये किसी भी काम का जवाब समय आने पर जनता जरुर देती है।

विधायक वीरेन्द्र चौधरी ने कहा कि जिग्नेश मेवाणी को गिरफ्तार करने से पहले विधानसभा अध्यक्ष से भी अनुमति नहीं ली गयी, जो सरासर ग़लत है। कांग्रेस पार्टी इसका पुरजोर विरोध करती है। श्री दीपक सिंह ने कहा कि यह लड़ाई अब गांधी और गोडसे को मानने वालों के बीच है। मेवाणी का ट्विट और उस पर हुई कार्रवाई इसी का सबूत है। गांधी की सेना के रूप में सभी कांग्रेसजन जिग्नेश मेवाणी के साथ खड़े हैं। अंत में कांग्रेस विधानमंडल दल ने असम पुलिस द्वारा भाजपा सरकार के इशारे पर योजनाबद्ध और असंवैधानिक तरीके से की गई गिरफ्तारी का विरोध करते हुए तत्काल जिग्नेश मेवाणी के रिहाई की मांग का प्रस्ताव पारित किया।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

नाइजीरिया के चर्च में कार्यक्रम के दौरान मची भगदड़ से 31 की मौत, कई घायल, मृतकों में ज्यादातर बच्चे शामिल'पीएम मोदी ने बनाया भारत को मजबूत, जवाहरलाल नेहरू से उनकी नहीं की जा सकती तुलना'- कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मईमहाराष्ट्र में Omicron के B.A.4 वेरिएंट के 5 और B.A.5 के 3 मामले आए सामने, अलर्ट जारीAsia Cup Hockey 2022: सुपर 4 राउंड के अपने पहले मैच में भारत ने जापान को 2-1 से हरायाRBI की रिपोर्ट का दावा - 'आपके पास मौजूद कैश हो सकता है नकली'कुत्ता घुमाने वाले IAS दम्पती के बचाव में उतरीं मेनका गांधी, ट्रांसफर पर नाराजगी जताईDGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थापंजाबः राज्यसभा चुनाव के लिए AAP के प्रत्याशियों की घोषणा, दोनों को मिल चुका पद्म श्री अवार्ड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.