script पापा मुझे रेप केस से बचा लो...एआई के जरिए आवाज बदलकर एई पिता से लाखों की ठगी | Engineer cheated father by extracting son's voice from AI | Patrika News

पापा मुझे रेप केस से बचा लो...एआई के जरिए आवाज बदलकर एई पिता से लाखों की ठगी

locationलखनऊPublished: Jan 15, 2024 08:07:13 pm

Submitted by:

Naveen Bhatt

सावधान!साइबर ठग अब एआई यानी आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस की मदद से लोगों को ठगी का शिकार बनाने लगे हैं। वह एआई की मदद से किसी भी व्यक्ति की आवाज में फोन कर आपको ठगी का शिकार बना सकते हैं।

ai.jpg
प्रतीकात्मक फोटो
ऐसा ही एक चौंकाने वाला मामला उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में सामने आया है। पटेलनगर कोतवाली के इंसपेक्टर कमल कुमार लुंठी के मुताबिक त्रिनेत्र विहार निवासी प्रेमपाल सिंह मसूरी-देहरादून विकास प्राधिकरण में सहायक अभियंता हैं। उनका बेटा जयपुर में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहा है। साइबर ठगों ने एआई की मदद से बेटे की आवाज में बात कर एई प्रेमपाल सिंह से करीब छह लाख रुपये ठग लिए। साइबर ठगों ने एई को बताया कि वह जयपुर पुलिस थाने से बोल रहे हैं। उनके बेटे को एक केस में फंसा होने का हवाला देते हुए इस ठगी को अंजाम दिया गया।

व्हाट्सएप पर की कॉल
एई प्रेमपाल ने साइबर थाने में इस मामले में तहरीर सौंपी है। एई ने बताया कि दो जनवरी को उनके मोबाइल पर एक व्यक्ति ने व्हाट्सएप कॉल की थी। उसने खुद को जयपुर पुलिस का एसएचओ बताते हुए कहा कि उनके बेटे को गिरफ्तार किया गया है। उस साइबर ठग ने एई को उनके बेटे को रेप केस से बचाने का रास्ता भी दिखाया था।
गैंगरेप केस के नाम पर डराया
साइबर ठग ने एई को फोन कर बताया कि उनके बेटे ने एक पार्टी में किसी अधिकारी की बेटी से गैंगरेप किया है। बाकायदा साइबर ठगों ने एआई की मदद से एई से उनके पुत्र की आवाज में भी वार्ता की। एआई के जरिए आवाज बदलकर फोन करने वाले शख्स ने कहा कि पापा मुझे बचा लीजिए, मै रेप केस में फंस गया हूं। इस पर एई भयभीत हो गए थे।
रेप केस से बचाने के नाम पर ठगी
बेटे की आवाज सुनकर एई भयभीत हो गए थे। इसी दौरान साइबर ठग जो खुद को जयपुर पुलिस का एसएचओ बता रहा था , उसने एई को बताया कि वह उनके बेटे को इस रेप केस से बचा लेगा, इसके एवज में उन्हें 5.75 लाख रुपये देने होंगे। बेटे को बचाने के खातिर एई पिता ने साइबर ठगों के खाते में 5.75 लाख रुपये ट्रांसफर कर दिए।
मां ने किया फोन तो हुआ खुलासा
साइबर ठगों के खाते में करीब छह लाख रुपये ट्रांसफर करने के बाद अगले दिन मां ने ये सोचकर बेटे को फोन किया किया कि संभवत: वह थाने से छूट गया होगा। बेटे ने जब फोन रिसीव किया तो उसके माता-पिता दंग रह गए। बेटे ने बताया कि वह हॉस्टल में पढ़ाई कर रहा है। बेटे ने ही जानकारी दी कि पिता को किसी साइबर ठग ने एआई की मदद से ठगी का शिकार बना लिया है।तब जाकर पिता को एहसास हुआ कि वह साइबर ठगी का शिकार हुए हैं।

ट्रेंडिंग वीडियो