अदिति सिंह के बाद पंखुड़ी पाठक रचाएंगी शादी, अखिलेश के करीबी नेता संग लेंगी सात फेरे, वायरल हुआ शादी का कार्ड

राजनीतिक क्षेत्र में परिचित चेहरा रहीं कांग्रेस की राष्ट्रीय मीडिया पैनलिस्ट व पूर्व सपा प्रवक्ता पंखुड़ी पाठक भी शादी के बंधन में बंधने वाली हैं

By: Karishma Lalwani

Published: 27 Nov 2019, 04:39 PM IST

लखनऊ. लगन सीजन के समय में आमजन से लेकर राजनीतिक हस्तियां भी शादी के पावन सूत्र में बंध रही हैं। बीते दिनों कांग्रेस विधायक अदिति सिंह की शादी की चर्चा काफी जोरों पर रही। अदिति सिंह (Aditi Singh) के पंजाब से कांग्रेस विधायक अंगद सैनी से 23 नवंबर को शादी से बंधन में बंधीं। अदिति सिंह के बाद अब राजनीतिक क्षेत्र में परिचित चेहरा रहीं कांग्रेस की राष्ट्रीय मीडिया पैनलिस्ट व पूर्व सपा प्रवक्ता पंखुड़ी (Pnakhuri Pathak) पाठक भी शादी के बंधन में बंधने वाली हैं। पंखुड़ी पाठक का दूल्हा सपा के ही एक पूर्व प्रवक्ता होंगे।

पंखुड़ी पाठक ने ट्विटर पर अपनी एक शादी के कार्ड की तस्वीर साझा की है। साथ ही उन्होंने अपनी भी एक तस्वीर शेयर की है। पंखुड़ी पाठक सपा के पूर्व राष्ट्रीय प्रवक्ता अनिल यादव से शादी रचाएंगी। दोनों की शादी एक दिसंबर को दिल्ली कैंट स्थित वसुंधरा वाटिका से होगी।

अदिति सिंह के बाद पंखुड़ी पाठक रचाएंगी शादी, अखिलेश के करीबी नेता संग लेंगी सात फेरे, वायरल हुआ शादी का कार्ड

गौरतलब है कि एक वक्त में पंखुड़ी पाठक समाजवादी पार्टी की प्रवक्ता थीं। बाद में पार्टी को अलविदा कहकर उन्होंने कांग्रेस का दामन थाम लिया। पंखुड़ी ने जब सपा छोड़ी थी तब उनका आरोप था कि सपा में समाजवादी सिद्धांतों का अनुपालन नहीं किया जाता, जिससे कि उऩका दम घुटने लगा है। इसलिए वह अब समाजवादी पार्टी की हिस्सा नहीं रहेंगी।

अदिति सिंह के बाद पंखुड़ी पाठक रचाएंगी शादी, अखिलेश के करीबी नेता संग लेंगी सात फेरे, वायरल हुआ शादी का कार्ड

जानिये पंखुड़ी के बारे में

पंखुड़ी ने अपनी पठाई दिल्ली यूनिवर्सिटी से मुकम्मल की है। वे लॉ की छात्रा भी रह चुकीं हैं। पंखुड़ी पाठक 2010 में समाजवादी पार्टी से छात्रसंघ का चुनाव लड़ीं थीं, जिसके बाद उन्हें हंसराज कॉलेज का ज्याइंट सेक्रेटरी का बनाया गया था। इतना ही नहीं, पंखुड़ी पाठक की सियासी सक्रियता उस वक्त अपने परवान पर पहुंचीं, जब उन्होंने 2010 में अखिलेश यादव की रथयात्रा में हिस्सा लिया था। देखते ही देखते वह समाजवादी पार्टी की फायर ब्रांड नेता बनीं और कुछ ही समय बाद सपा का प्रवक्ता बना दिया गया। हालांकि, बाद में उन्होंने पद से इस्तीफा दे दिया और मीडिया पैनलिस्ट के तौर पर कांग्रेस से जुड़ गईं।

ये भी पढ़ें: सबसे महंगी शटलर बनीं पीवी सिंधु, प्रीमियर बैडमिंटन लीग में इतने में लगी उनपर बोली

Congress
Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned