एग्जिट पोल का सबसे बड़ा नतीजा, इन लोकसभा सीटों पर ये कैंडीडेट मारेंगे बाजी, हो गया फाइनल

एग्जिट पोल का सबसे बड़ा नतीजा, इन लोकसभा सीटों पर ये कैंडीडेट मारेंगे बाजी, हो गया फाइनल

Nitin Srivastva | Publish: May, 19 2019 06:15:00 PM (IST) Lucknow, Lucknow, Uttar Pradesh, India

- लोकसभा चुनाव 2019 के एग्जिट पोल
- Exit Poll के नतीजे आए सामने
- Exit Poll में इन कैंडीडेट की जीत पक्की

लखनऊ. 17वीं लोकसभा के लिए बीते करीब दो महीनों से चल रहा मतदान आज पूरा हो गया। सातवें चरण यानि आखिरी फेज के लिए आज यूपी की 13 सीटों पर मतदान खत्म हो गया। अब बात लोकसभा चुनाव के नतीजों की शुरू हो गई है। सभी के दिमाग में एक ही सवाल घूम रहा है कि सरकार किसकी बनेगी और केंद्र की सत्ता पर कौन काबिज होगा। इसको लेकर राजनीतिक दलों की तरफ से तमाम तरह के दावे हो रहे हैं। हालांकि देश में सरकार किसकी बनेगी और देश का अगला प्रधानमंत्री कौन बनेगा यह सब तो 23 मई के नतीजे ही बताएंगे। लेकिन उससे पहले हम आपको यूपी की ऐसी सीटों के बारे में बताने जा रहे हैं जहां सारे एग्जिट पोल कुछ उम्मीदवारों का जीत लगभग फाइनल बता रहे है। यह उत्तर प्रदेश की वीआईपी सीटें हैं और हर पार्टी की तरफ से यहां बड़े चेहरों को उतारा गया है।


एग्जिट पोल में क्या?

आखिरी चरण का मतदान खत्म होती ही सभी एग्जिट पोल सामने आने लग हैं। देश का सबसे बड़ा राज्य उत्तर प्रदेश या कहें कि जहां से लोकसभा के सर्वाधिक सांसद चुनकर आते हैं, उसको लेकर तमाम एग्जिट पोलों में अलग-अलग दावे किये जा रहे हैं। कोई एनडीए को आगे दिखा रहा है तो कुछ एगज्ट पोल महागठबंधन का पलड़ा भारी दिखा रहै है। एग्जिट पोल में कांग्रेस को भी पहले से बेहतर स्थिति में दिखाया जा रहा है। हालांकि इन सभी एग्जिट पोल में एक बात जो कॉमन है वह है यूपी की वीआईपी सीटों के विजेता। मतलब इन सीटों से सभी दलों के बड़े नेताओं की जीत पक्की है। आइये नजर डालते हैं इन सीटों और यहां से लड़ रहे उम्मीदवार पर...


लखनऊ

उत्तर प्रदेश की राजधानी और पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेई की सीट लखनऊ में लंबे वक्त से कमल खिलता रहा है। केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह यहां से सांसद हैं। इस बार भी वह लखनऊ लोकसभा सीट से चुनाव लड़े हैं। राजनाथ का मुकाबला कांग्रेस के प्रत्याशी प्रमोद कृष्णम और गठबंधन की तरफ से सपा की उम्मीदवार पूनम सिन्हा से है। एगजिट पोलों के मुताबिक राजनाथ सिंह एक बार फिर लखनऊ लोकसभा सीट से चुनाव जीत रहे हैं।


रायबरेली

कांग्रेस की इस परंपरागत सीट से पूर्व अध्यक्ष और यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी लगातार जीतती रहीं हैं। इस बार फिर सोनिया गांधी ही यहां से प्रत्याशी हैं। उनका मुकाबला बीजेपी के दिनेश प्रताप सिंह से है। हालांकि सपा-बसपा गठबंधन ने यहां से अपना उम्मीदवार नहीं उतारा है। लेकिन लगभग सारे एगजिट पोल यहां से एक बार फिर सोनिया गांधी को ही जीत दिला रहै हैं।


अमेठी

अमेठी लोकसभा सीट भी लंबे समय से कांग्रेस का गढ़ रही है। पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के बाद राहुल गांधी यहां से लोकसभा पहुंचते रहे हैं। इस बार बीजेपी ने स्मृति ईरानी के सहारे राहुल गांधी को उनके ही गढ़ में घेरने की पूरी कोशिश की है। एसपी-बीएसपी गठबंधन ने राहुल गांधी के लिए यह सीट खाली छोड़ थी। एग्जिट पोलों की अगर मानें तो स्मृति ईरानी इस बार राहुल गांधी को पहले से ज्यादा कड़ी चुनौती दे रही हैं। हालांकि एग्जिट पोल आखिरी में इस सीट से राहुल गांधी को ही जीत दिला रहे हैं, लेकिन इस बेहद कड़े मुकाबले में उनकी जीत का अंतर काफी कम रहेगा।


कन्नौज

कन्नौैज लोकसभा सीट समाजवादी पार्टी की परंपरागत सीट रही है। पिछले लोकसभा चुनाव में पूर्व मुख्यमंत्री और सपा मुखिया अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव यहां से जीतकर सांसद बनीं। इससे पहले खुद अखिलेश यादव यहां से सांसद थे। इस बार भी डिंपल यादव यहां से चुनाव लड़ी हैं और उनके खिलाफ भाजपा पूरा जोर लगाए है। एग्जिट पोल भी भाजपा प्रत्याशी सुब्रत पाठक से डिंपल का मुकाबला कड़ा दिखा रहे हैं। पोल के मुताबिक डिंपल इस सीट से अगर जीतती हैं तो उनकी अंतर काफी कम रहेगा।

 

मैनपुरी

यह सीट पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी संरक्षक मुलायम सिंह यादव की खास सीट है। वह चार बार यहां से लड़े हैं और हर बार जीत हासिल हुई है। 2019 लोकसभा चुनाव मुलायम सिंह यादव का मुख्य मुकाबला बीजेपी के प्रेम सिंह शाक्य से है। लेकिन एग्जिट पोल की अगर मानें तो मुलायम सिंह यादव आराम से इस सीट से जीत हासिल करेंगे।


बनारस

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी यहां से वर्तमान सांसद हैं। इस बार भी वह इसी सीट से चुनाव लड़े हैं। हालांकि बीजेपी उनकी जीत को पक्का मान कर चल रही है। वाराणसी सीट पर पीएम मोदी का मुकाबला कांग्रेस के अजय रॉय और महागठबंधन की सपा प्रत्याशी शालिनी यादव से हैं। लेकिन सारे एग्जिट पोल वाराणसी से पीएम नरेंद्र मोदी की जीत को एकतरफा दिखा रहे हैं और उनका जीत का अंतर भी उनके प्रतिद्वंदियों से काफी ज्यादा बताया जा रहा है।


आजमगढ़

आजमगढ़ संसदीय सीट से भाजपा प्रत्याशी और भोजपुरी सुपरस्टार दिनेश लाल यादव निरहुआ यूपी के पूर्न मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को टक्कर दे रहे हैं। हालांकि एग्जिट पोलों में अखिलेश यादव की जीत को फाइनल बताया जा रहा है।


गोरखपुर

गोरखपुर लोकसभा सीट यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ का गढ़ है। यहां से बीजेपी ने फिल्म स्टार रवि किशन को मैदान में उतारा है। रवि किशन का मुकाबला कांग्रेस के मधुसूदन तिवारी और गठबंधन में समाजवादी पार्टी के राम भूवल निषाद से है। एग्जिट पोलों के मुताबिक गोरखपुर में BJP उम्मीदवार रवि किशन की डगर आसान नहीं है और यहां से गठबंधन का पलड़ा भारी दिखाई पड़ रहा है।

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned