उत्तर प्रदेश के 1321 फर्जी शिक्षक होंगे बर्खास्त

फर्जी दस्तावेज लेकर नौकरी करने वाले 1321 फर्जी शिक्षकों की नौकरी को रद्द किया जाएगा

By: Karishma Lalwani

Published: 07 Jul 2019, 02:03 PM IST

लखनऊ. भ्रष्टाचार पर रोक लगाने के लिए यूपी सरकार ने सख्त कदम उठाए हैं। फर्जी दस्तावेज लेकर नौकरी करने वाले 1321 फर्जी शिक्षकों की नौकरी को रद्द किया जाएगा। उत्तर प्रदेश बेसिक शिक्षा परिषद के प्राथमिक और उच्च प्राथमिक स्कूलों में कार्यरत फर्जी शिक्षकों को नौकरी से बर्खास्त किया जाएगा।

45 फर्जी शिक्षकों की सेवा समाप्त

प्रदेश के 57 जिलों में 1321 फर्जी शिक्षक चिन्हित किए गए हैं। इनमें से 45 फर्जी शिक्षकों की सेवा समाप्त की जा चुकी है। वहीं अन्य को कारण बताओ नोटिस भेजा गया है। बर्खास्त हुए शिक्षकों ने डॉ. भमराव अमेबेडकर विश्वविद्यालय आगरा से फर्जी प्रमाणपत्रों के आधार पर नौकरी हासिल की थी। इनमें से बड़ी संख्या में सहायक अध्यापक भर्ती के लिए फर्जी शिक्षक चयनित हुए थे।

15 जुलाई तक मांगी लिस्ट

एसआईटी ने बेसिक शिक्षा विभाग को 13 दिसंबर, 2018 को बीएड सत्र 2004-05 में पाए गए फर्जी व टैम्पर्ड रमाणपत्रधरी अभ्यर्थियों की संशोधित सूची सीडी में उपलब्ध कराते हुए बेसिक शिक्षा विभाग में सहायक अध्यापक पद पर चयनित अभ्यर्थियों के खिलाफ कार्रवाई करते हुए कार्रवाई की सूचना 30 जनवरी तक मांगी थी। 24 जून को इस मामले में बेसिक शिक्षा परिषद मुख्यालय में बैठक आयोजित की गई। बैठक में सचिव ने 15 जुलाई तक सभी फर्जी शिक्षकों की लिस्ट दिएजा ने का आदेश दिया।

ये भी पढ़ें: UP Board Exam: पहली बार इस तरह आयोजित होगी परीक्षा, हुए जरूरी बदलाव

Karishma Lalwani
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned