मृतक IPS अफसर के ससुर ने सुसाइड पर दिया बड़ा बयान, बेटी-दामाद के रिश्तों को लेकर कही ये बात

मृतक IPS अफसर के ससुर ने सुसाइड पर दिया बड़ा बयान, बेटी-दामाद के रिश्तों को लेकर कही ये बात

Hariom Dwivedi | Publish: Sep, 10 2018 04:19:50 PM (IST) | Updated: Sep, 10 2018 04:28:22 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

ips अफसर के अंतिम संस्कार में पहुंचे उनके ससुर कहा कि उचित समय आने पर वह आत्महत्या के कारणों को बताएंगे...

लखनऊ. पारिवारिक कलह में जहर खाकर जान देने वाले आईपीएस अफसर सुरेंद्र कुमार दास का आज लखनऊ में अंतिम संस्कार कर दिया गया। मृतक अफसर की पत्नी पर सुसाइड के लिये उकसाने के गंभीर आरोप लग रहे हैं। मृतक के बड़े भाई नरेंद्र कुमार दास ने भी छोटे भाई की पत्नी पर गंभीर आरोप लगाये हैं। दामाद के अंतिम संस्कार में पहुंचे मृतक अफसर के ससुर कहा कि उचित समय आने पर वह आत्महत्या के कारणों को बताएंगे।

लखनऊ पहुंचे मृतक अफसर के ससुर ने उनकी बेटी और दामाद के बीच किसी भी तरह के विवाद से इनकार किया है। उनका कहना है कि कहा कि दोनों बीच सामान्य रिश्ते थे, अब सब बेकार की बातें हो रही हैं। उन्होंने कहा कि सुरेंद्र दास के सुसाइड करने की वजह कुछ और भी हो सकती है, जो अब जांच का विषय है। आज आत्महत्या के कारणों पर बात करने का समय नहीं है, उचित समय आने पर हम इसका कारण भी बताएंगे। मृतक अफसर के ससुर ने कहा कि स्वर्गीय सुरेंद्र दास के पास से जो सुसाइड नोट मिला है, उसमें सुरेंद्र ने रवीना से माफी मांगने की बात कही है, न कि बेटी को दोषी ठहराया है।

पत्नी बोली- मुझे मेरे हाल पर छोड़ दीजिए
मृतक आईपीएस अफसर सुरेंद्र दास की मौत के बाद पहली बार उनकी पत्नी डॉ. रवीना सिंह सामने आईं। लखनऊ पहुंचे शव के अंतिम दर्शन करते वक्त वह दहाड़ें मारकर रो रही थीं। मीडिया के सवालों पर डॉ. रवीना ने कहा कि हाथ जोड़कर कह रही हूं कि मुझे मेरे हाल पर छोड़ दीजिए। आज मेरा सबकुछ चला गया है।

लखनऊ में हुआ अंतिम संस्कार
कानपुर में तैनात आईपीएस अफसर सुरेंद्र दास ने 5 सितंबर को तड़के सल्फास खा लिया था। पांचवें दिन उन्होंने अस्पताल में दम तोड़ दिया। इस दौरान उन्होंने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा था, जिसके बाद उनकी पत्नी पर सुसाइड के लिये उकसाने का आरोप लग रहा है। का जा रहा है कि दांपत्य जीवन से दुखी होकर उन्होंने आत्महत्या जैसा कदम उठाया था। सोमवार को मृतक अफसर का राजधानी में गोमती नदी के भैसाकुंड पर अंतिम संस्कार हुआ।

Ad Block is Banned