यूपी में कोरोना से हुई पहली मौत, आगरा में मिला एक और कोरोना पॉजिटिव, संक्रमितों की संख्या बढ़कर 104

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में पहले कोरोना पॉजिटिव मरीज की मौत होने से पूरे शहर में हड़कंप मच गया है।

By: Neeraj Patel

Updated: 01 Apr 2020, 11:25 AM IST

लखनऊ. उत्तर प्रदेश के गोरखपुर जिले में पहले कोरोना पॉजिटिव मरीज की मौत होने से पूरे शहर में हड़कंप मच गया है। प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव की मौत का पहली मामला सामने आया है। बस्ती के जिस युवक की मौत हुई है उसकी उम्र 25 साल बताई जा रही है। इतनी कम उम्र का देश में यह पहला मामला है। केजीएमयू लखनऊ में गोरखपुर से जो सैम्पल जांच के लिए आया था, वह जांच में पॉजिटिव मिला है। गोरखपुर में हुई जांच भी सही थी। केजीएमयू से क्रास चेक होना था। इसमें भी उसकी जांच कोरोना पॉजिटिव पाई गई।

बता दें कि गांधीनगर क्षेत्र के तुरकहिया निवासी युवा कोरोना संदिग्ध हसनैन अली की मौत के बाद दूसरे दिन यहां कोरोना पाजिटिव होने की चर्चाओं ने पूरे महकमे को सकते में डाल दिया। एहतियात के तौर पर पूरे इलाके को सील कर दिया गया है। कंपनीबाग, रोडवेज के अलावा जीआरएस इंटर कालेज के सामने गांधीनगर मार्ग की तरफ जाने की मनाही है। इलाके के चारों ओर पुलिस का सख्त पहरा है। मृतक के परिवार के छह सदस्यों के अलावा एंबुलेंस चालक और सहायक को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने उठा लिया। इन सभी को बस्ती मेडिकल कालेज के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कर दिया गया है। सभी के नाक और गले से सेंपल लेकर उसे जांच के लिए केजीएमयू में भेजा गया है।

गांधीनगर क्षेत्र को पूरी तरह सील कर दिया गया

दरअसल हसनैन को रविवार को बस्ती से गोरखपुर मेडिकल कालेज ले जाया गया। रात में ही उसकी इलाज के दौरान वहां मौत हो गई थी। मौत के तीसरे दिन बीआरडी मेडिकल कालेज में कोरोना पाजिटिव होने की चर्चा आम हुई तो मंगलवार को बस्ती में जिला प्रशासन अलर्ट हो गया। आनन-फानन में गांधीनगर क्षेत्र को पूरी तरह सील कर दिया गया। आला अफसरों की गाड़ियां अचानक उस ओर दौड़ने लगी। कुछ ही देर में गांधीनगर और तुरकहिया में आला अफसर, स्वास्थ्य विभाग, नगर पालिका और पुलिस की टीमें पहुंच गईं।

सीएमओ की मौजूदगी में स्वास्थ्य टीम ने मृतक के परिवार के छह सदस्यों के साथ ही दो अन्य गोरखपुर एंबुलेंस से ले जाने वाले चालक और सहायक को वशिष्ठ मेडिकल कालेज के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती करा दिया गया। एंबुलेंस भी खड़ी करा दी गई है। परिवार में पिता अकबर अली, साबिर अली, हसन अली, नूर फातिमा, आबिश अली, सैयद जहां को तत्काल प्रभाव से आइसोलेट कर दिया गया है। तुरकहिया वार्ड को किया गया सैनिटाइज

जनाजे में शामिल लोगों की तलाश शुरू

कोरोना मरीज मिलने की सूचना पर नगर पालिका टीम भी सक्रिय हो गई। यहां पालिका का निरोधक दस्ता घर-घर सैनिटाइज करने में जुट गया। पूरे मोहल्ले में कीटनाशक दवाओं का छिड़काव हुआ। हसनैन की मौत के बाद परिजन शव लेकर 30 मार्च को अपने आवास तुरकहिया आ गए थे। यहीं से कुछ दूर स्थित कब्रिस्तान में उनको मिट्टी इसी दिन दे दी गई। जनाजे में जामा मस्जिद के पेश इमाम समेत 18-20 लोग शामिल हुए थे। यह सभी संदिग्ध मान लिए गए थे। प्रशासन ने जनाजे में शामिल लोगों की तलाश शुरू कर दी है।

आगरा में मिला एक और कोरोना पॉजिटिव, संख्या हुई 12

उत्तर प्रदेश के आगरा में बुधवार को एक और मरीज मिला है। अब यूपी में संक्रमितों की संख्या 104 हो गई है। आपको बता दें कि आगरा में एक और कोरोना पॉजिटिव केस सामने आया है। आगरा में एक नर्सिंग होम के डॉक्टर को कोरोना पॉजिटिव निकला है। अब आगरा में संक्रमितों की संख्या 12 पहुंच गई है। डॉक्टर के बेटे को पहले ही कोरोना पॉजिटिव की रिपोर्ट आ चुकी है। बेटे के बाद जांच में डॉक्टर पिता भी कोरोना पॉजिटिव मिला है। डॉक्टर का बेटा यूके से लौटा था। जब बेटे को कोरोना होने की जानकारी हुई तो डॉक्टर पिता उसे घर में ही आइसोलेट करने लगे। इस दौरान वह भी कोरोना के शिकार हो गए। प्रशासन ने पहले ही दोनों पिता पुत्र को एसएन मेडिकल कॉलेज में आइसोलेशन में रखा है। ले से सेंपल लेकर उसे जांच के लिए केजीएमयू में भेजा गया है।

Corona virus Corona Virus Precautions
Show More
Neeraj Patel
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned