सीडीआरआई की पांच दवाएं जिनके असर से रोग हो जाते हैं खत्म

सीडीआरआई की पांच दवाएं जिनके असर से रोग हो जाते हैं खत्म

Mahendra Pratap | Publish: Mar, 14 2018 01:24:47 PM (IST) Lucknow, Uttar Pradesh, India

चाहे ऑस्टियो आर्थरािटिस की परेशानी हो या टूटी हड्डी का समस्या, सीडीआरआई द्वारा बनाई गयी इन दवाओं से हर बीमारी का इलाज संभव है

लखनऊ. समय बदल रहा है और आधुनिक जीवनशैली में लोग अपनी सेहत पर कम ध्यान दे रहे हैं। बिजी लाइफस्टाइल , गलत खानपान और व्यायाम की कमी के चलते ज्यादातर लोग अपनी सेहत का ध्यान सही तरीके से नहीं रख पाते। नतीजा ये कि उन्हें तरह-तरह की शारीरिक परेशानियों का सामना करना पड़ता है। इन परेशानियों में जोड़ों के दर्द की परेशानी आम है।

इन्होंने मिलकर बनाई

जोड़ों में दर्द और जकड़न पैदा करने वाली इस परेशानी का कोई इलाज अब तक संभव नहीं था लेकिन अब इसका उपचार किया जा सकता है। डॉ. रितु त्रिवेदी, डॉ. प्रभात रंजन मित्रा, डॉ. राकेश मौर्य, डॉ. एसके रथ, डॉ. ब्रिजेश कुमार और डॉ. पी,के शुक्ला ने ऑस्टियो आर्थराइटिस की दवा तैयार की है। ये दवा बाजार में 'जॉइंट फ्रेश' के नाम से मिलेगी।

ऑनलाइन भी बिकेगी

ऑस्टियो आर्थरािटिस के लिए तैयार की ये दवा मार्किट में जॉइंट फ्रेश के नाम से बिकेगी। फारमान्जा हर्बल प्राइवेट लिमिटेड को दवा का फॉर्मूला सौंपा गया है। मेडिकल स्टोर पर खरीदने के अलावा इसे www.longlivelives.com से भी खरीदा जा सकता है।

सीडीआरआई (Central Drug Research Institute) के निदेशक आलोक धावन के मुताबिक ऑस्टियो आर्थराइटिस ऐसी बीमारी है जो जो़ड़ों के मूवमेंट को प्रभावित करती है। इसमें जोड़ों का मूवमेंट काफी हद तक प्रभावित होता है। जोड़ों की उपरी स्तह क्षतिग्रस्त होती है, जिससे कार्टिलेज की उपस्थिती बनती है। यही वजह है कि इसमें भारी सामान उठाने को मना किया जाता है क्योंकि इसमें मुख्य रूप से वजन सहने वाले जोड़े प्रभावित होते हैं। ये परेशानी किसी को भी किसी भी उम्र में हो सकती है। वर्तमान में बाजार में ऐसी दवाएं नहीं हैं जो इसका परेशानी का इलाज कर सकें।

ऑस्टियो आर्थराइटिस परेशानी से ग्रस्त लोगों को मुक्ति दिलाने के लिए बाजार में देसी पालक से बनी जॉइंट फ्रेश नाम की दवा उपलब्ध कराई जा रही है। सीडीआरआई द्वारा तैयार की गयी इस दवा की ही तरह पहले भी कई ऐसी दवाएं हैं जिनसे जटिल से जटिल बीमारियों का इलाज किया गया है।

चार कमपाउंड से मिल कर तैयार की गयी है दवा

हड्डियों को क्षतिग्रस्त होने से बचाने और उन्हें मजबूत बनाने के लिए सीडीआरआई ने अचूक दवा तैयार की। ये दवा औषधिक पत्तों से बनी है। इसे मौसमी पत्तों से बनाया गया है। एसे पौधे जो मई से अक्टूबर के दौरान उगते हैं। इसमें चार कंपाउंड मिले हुए हैं, जो हड्डियों के लिए काफी उपयोगी है। यह कमपाउंड हड्ड्यों में पाए जाने वाले ऑस्टियो ब्लास्ट को मजबूत बनाता है।

महिलाओं के लिए छाया

सीडीआरआई ने हर्बल गर्भ निरोधक दवा छाया बनाई है। महिलाओं के लिए बनाई गयी दवा उन्हें निशुल्क बांटी गयी है।

टूटी हड्डी को जोड़ना हुआ आसान

जिस हड्डी को जुड़ने में अभी तक आठ हफ्ते से भी ज्यादा समय लगता था उसे जुड़ने में अब चार हफ्ते लगेंगे। टूटी हड्डी को जोड़ने का काम सीडीआरआई द्वारा किया गया है जिसे फारमान्जा हर्बल प्राइवेट लिमिटेड ने पेटेंट किया है।

याददाश्त बढ़ाने की दवा हुई इजाद

सीडीारआई ने याददाश्त बढ़ाने वाली या फिर यूं कहें कि याददाश्त तेज करने की दवा भी बनाई है जिसके मुरीद बड़े से बड़े नेता हो चुके हैं। अमरीका के काग्नीटिव न्यूरो साइंसेज ब्रेन रिसर्च इंस्टिट्यूट ने भी इसे सुपरड्रग करार दिया है।

Ad Block is Banned