scriptFood License will be Mandatory for Liquor Shops in Uttar Pradesh | शराब को लेकर योगी सरकार के नए नियम, अब ऐसे नहीं बिकेगी मदिरा | Patrika News

शराब को लेकर योगी सरकार के नए नियम, अब ऐसे नहीं बिकेगी मदिरा

उत्तर प्रदेश में शराब की दुकानों को भी फूड सेफ्टी एक्ट के अंतर्गत शामिल किया जाएगा। इससे पहले योगी सरकार ने ऐलान किया था कि शराब की दुकानों को भी खाद्य सुरक्षा औषधि विभाग से लाइसेंस लेना होगा। इस नियम पर धरातल पर काम करना भी शुरू गया है। यू

लखनऊ

Updated: April 29, 2022 12:28:05 pm

उत्तर प्रदेश में शराब की दुकानों को भी फूड सेफ्टी एक्ट के अंतर्गत शामिल किया जाएगा। इससे पहले योगी सरकार ने ऐलान किया था कि शराब की दुकानों को भी खाद्य सुरक्षा औषधि विभाग से लाइसेंस लेना होगा। इस नियम पर धरातल पर काम करना भी शुरू गया है। यूपी सरकार ने अधिकारियों को निर्देश जारी किया है कि अब शराब की दुकानों को खाद्य सुरक्षा कौशिक विभाग से लाइसेंस लेना होगा। दुकानदारों को बिक्री के अनुसार ही टैक्स भी देना होगा। लाइसेंस न लेने वाले दुकानदार मदिरा नहीं बेच सकेंगे। उधर, शराब विक्रेताओं ने इस नए नियम का विरोध किया है।
Food License will be Mandatory for Liquor Shops in Uttar Pradesh
Liquor File Photo
लखनऊ में है 600 से अधिक शराब की दुकानें

राजधानी लखनऊ में अंग्रेजी, देसी व मॉडल की दुकानों के संचालकों को आय के हिसाब से पंजीयन का शुल्क जमा करना होगा। साथ ही इसका नवीनीकरण कराना होगा। लखनऊ में 600 से अधिक मदिरा की दुकानें हैं। सरकार ने सभी संचालकों को निर्देश दिया है कि वह खाद्य औषधि विभाग से लाइसेंस जारी करा लें। विभाग ने आबकारी विभाग से जिले के लाइसेंसी शराब की दुकानों की सूची मांगी है।
यह भी पढ़ें

काशी में पीएम मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट नमो घाट बन कर तैयार, पहली बार पर्यटकों को मिलेगी अंतरराष्ट्रीय स्तर की सुविधाएं

बिक्री अनुसार होगी लाइसेंस फीस

शराब की दुकान चलाने वालों के लिए लाइसेंस फीस बिक्री के अनुसार होगी। यह बिक्री का लगभग 0.01 प्रतिशत होगा। इस नए नियम से शराब विक्रेताओं को परेशानी हो सकती है। उन्हें लिखापढ़ी की परेशानी हो सकती है। शराब विक्रेताओं का कहना है कि रिकॉर्ड अनुसार टैक्स बहुत कम है पर लिखापढ़ी काफी बढ़ जाएगी।
यह भी पढ़ें

सपा नेता पर गरीब के मकान पर अवैध रूप से बुलडोजर चलवाने का आरोप, जांच के आदेश

गौरतलब है कि बीते वर्ष यूपी सरकार ने शराब को लेकर होम लाइसेंस के नियम जारी किए थे। इसके मुताबिक घर में बार खोलने वालों के लिए एक तय लिमिट तक शराब की बोतलें रखने के नियम बनाए गए थे। नई आबकारी नीति के मुताबिक, घर में शराब रखने के लिए लाइसेंस फीस का प्रावधान किया गया है। घर में एक तय मात्रा से ज्यादा शराब रखने के लिए आबकारी विभाग से लाइसेंस लेना होगा। घर में शराब रखने की लिमित 6 लीटर तक है। घर में तय लिमिट से ज्यादा शराब रखने पर आपको 12,000 रुपये सालाना फीस देकर आबकारी विभाग से लाइसेंस लेना होगा। इसके अलावा सिक्योरिटी मनी में आपको 51,000 रुपये देने होंगे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: शिवसेना के सारे MLA-Minister हुए बागी, उद्धव के साथ बचे सिर्फ MLC-Minister और बेटा आदित्य ठाकरेMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में क्या बन रहे हैं नए सियासी समीकरण? बागी एकनाथ शिंदे ने राज ठाकरे से की फोन पर बातचीतPunjab Budget LIVE Updates: वित्तमंत्री हरपाल चीमा ने कहा- टैक्स चोरी रोकने के लिए इंटेलिजेंस यूनिट बनाएगी सरकारRajasthan Invest Summit : कांग्रेस शासित राजस्थान में 1.68 लाख करोड़ के निवेश की तैयारी में Rahul Gandhi के 'Double A'जम्मू कश्मीर: अमरनाथ यात्रा से पहले डोडा में पुलिस पर हमले की साजिश रच रहा लश्कर का आतंकी गिरफ्तार, चीनी पिस्तौल बरामदRam Nath Kovind Vrindavan Visit : राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद वृंदावन पहुंचे, सीएम योगी ने किया स्वागत, जानें पूरा कार्यक्रमExclusive Interview: राष्ट्रपति उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को किस आधार पर जीत की उम्मीद और क्या बोले आदिवासी महिला के खिलाफ उम्मीदवारी परकभी सीएम नीतीश कुमार के खास माने जाने वाले RCP सिंह ने क्यों कहा- 'मैं किसी का हनुमान नहीं'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.