भाजपा झूठ बोलने और समाज में नफरत फैलाने वाली पार्टी है : अखिलेश यादव

सरसों का समर्थन मूल्य किसानों को नहीं मिलता है। विदेशी लूट जारी है। यही भाजपा की सरकार की देन है!

By: Ritesh Singh

Published: 19 Jan 2021, 09:05 PM IST

लखनऊ , समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा झूठ बोलने और समाज में नफरत फैलाने वाली पार्टी है, भाजपा से किसान, नौजवान सभी दुःखी है। भाजपा ने रंग बदलने और नाम बदलने के अलावा कोई काम नहीं किया है। भाजपा सरकार के कार्यकाल में उत्तर प्रदेश अपराध, भ्रष्टाचार, साम्प्रदायिकता, बेरोजगारी, खराब शिक्षा, चौपट स्वास्थ्य व्यवस्था, किसानों की फसलों की लूट, नाबालिग बच्चियों और महिलाओं से बलात्कार, हत्या, फर्जी एनकाउण्टर आदि में नम्बर एक पर है। भाजपा प्रदेश को जाने किस दिशा में ले जा रही है। अखिलेश यादव आज बड़ी संख्या में राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त नौजवानों तथा प्रबुद्ध समाज के लोगों के समाजवादी पार्टी में शामिल होने के बाद पत्रकार वार्ता को सम्बोधित कर रहे थे।

पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि गन्ने का बकाया भुगतान नहीं हुआ। समाजवादी पार्टी की सरकार में 2012 से 2017 के बीच भाजपा द्वारा चीनी मिल बिकने का आरोप बेबुनियाद है। उन्होंने कहा केन्द्र सरकार के पास अच्छा मौका है जब 26 जनवरी को वह किसान विरोधी तीनों बिल वापस ले ले और किसानों की मांगे मान ले। समाजवादी कार्यकर्ताओं के पास खेती है, सब किसान आंदोलन के साथ हैं, भाजपा का खेती से कोई रिश्ता नहीं, वे बाजार से रिश्ता रखते हैं।

अखिलेश यादव ने कहा कि आज देश में स्वस्थ राजनीति की जरूरत है। युवा निराशा की स्थिति में होगा तो राष्ट्र समाज कैसा होगा। 12 जनवरी 2021 को स्वामी विवेकानंद जी के जन्मदिन पर समाजवादी युवा घेरा कार्यक्रम में युवाओं के मसलों पर चर्चा की गई। इसमें बड़ी संख्या में नौजवान जुटे।

अखिलेश यादव ने कहा कि शिक्षा में राजनीतिक हस्तक्षेप उचित नहीं है। विश्वविद्यालयों का राजनीतिकरण हो रहा है। एक विशेष विचारधारा के संगठन को बढ़ावा दिया जा रहा है। युवाओं पर एनएसए तक लगाया जा रहा है। पढ़ाई रोज-ब-रोज मंहगी होती जा रही है। शिक्षा के निजीकरण से संकट है। गुणवत्ता परक शिक्षा कहां मिल रही है? बिना तैयारी के आनलाइन पढ़ाई शुरू कर दी गई। गरीब बच्चे पढ़ नहीं पा रहे है। अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा के स्वदेशी आंदोलन का क्या हुआ। उसने तो सब कुछ विदेशी हाथों में दे दिया है। देश में तिलहन, दलहन को प्रोत्साहन देने की जगह विदेशों से पाॅम आयल का आयात किया जा रहा है जबकि सरसों का समर्थन मूल्य किसानों को नहीं मिलता है। विदेशी लूट जारी है। यही भाजपा की सरकार की देन है!

BJP
Show More
Ritesh Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned